Articles about तालिबान | पेज 3

तालिबान का पश्तो भाषा में मतलब छात्र होता है। तालिबान ने 1990 के दशक की शुरुआत में अपने पैर जमाने शुरू किए थे, जब सोवियत संघ अफगानिस्तान से अपने सैनिक वापस बुला रहा था। यह मदरसों में शुरू हुआ और सऊदी अरब ने इसे आर्थिक सहायता दी। इसके बाद यह अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच फैले पश्तून इलाके में शांति और सुरक्षा की स्थापना के साथ-साथ शरिया कानून को बढ़ावा देने लगा। 1996 में तालिबान ने पहली बार अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा किया था और 1998 तक देश के लगभग 90 प्रतिशत भाग पर इसका कब्जा हो गया था। 2021 में अमेरिकी सेना की वापसी के बाद तालिबान ने दोबारा अफगानिस्तान में अपनी सरकार का गठन किया।

नागपुर में अवैध रूप से 10 साल रहा अफगानी युवक तालिबान में हुआ शामिल- पुलिस

महाराष्ट्र के नागपुर में 10 साल तक अवैध रूप से रहा 30 वर्षीय अफगानी युवक के पुलिस द्वारा वापस अफगानिस्तान भेजे जाने के बाद तालिबान में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

अफगानिस्तान संकट का भारत पर पड़ा बड़ा असर, 25 प्रतिशत तक बढ़े ड्राई फ्रूट्स के दाम

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है और वह नई सरकार तैयारी में जुटा है।

कुछ समय के लिए हावी हो सकती हैं आतंकी ताकतें, लेकिन अस्तित्व स्थायी नहीं- प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि तोड़ने वाली और आतंकी ताकतें कुछ समय के लिए भले ही हावी हो जाएं, लेकिन अस्तित्व स्थायी नहीं होता है।

अफगानिस्तान: अमेरिका की मदद करने वालों को घर-घर जाकर निशाना बना रहा तालिबान

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान जहां एक ओर दुनिया के सामने महिलाओं को अधिकार देने की बात कहकर अपनी बदली हुई छवि सामने रख रहा है, वहीं दूसरी और अपने शासन की मजबूती के लिए पिछले शासन में अमेरिका की मदद करने वालों को घर-घर जाकर अपना निशाना बना रहा है।

तालिबान ने हजारा समुदाय पर किया अत्याचार, कइयों को तड़पा-तड़पा कर मारा- एमनेस्टी इंटरनेशनल

बदलने और उदार होने का दावा कर रहे तालिबान का असली चेहरा सामने आ गया है और वह अभी भी पहले वाला तालिबान है जो अल्पसंख्यकों पर अत्याचार करता है।

ताले तोड़कर भारतीय वाणिज्य दूतावासों की तलाशी ले रहा तालिबान, कारें चुराईं

खुद को पहले से अधिक उदार दिखाने की कोशिश कर रहे तालिबान की कथनी और करनी में अंतर हर दिन के साथ साफ होता जा रहा है और बुधवार को उसके लड़ाकों ने कंधार और हेरात में स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावासों की ताले तोड़कर तलाशी ली।

महंगाई के सवाल पर बोले भाजपा नेता- अफगानिस्तान चले जाओ, वहां पेट्रोल भरवाने वाला कोई नहीं

मध्य प्रदेश भाजपा के एक नेता से जब महंगाई और पेट्रोल-डीजल की महंगी कीमतों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने पत्रकार को अफगानिस्तान जाने की सलाह दे दी।

UNSC में भारत ने कहा- बिना किसी डर के काम कर रहे हैं लश्कर और जैश

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरूवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की एक महत्वपूर्ण बैठक को संबोधित करते हुए आतंकवाद पर भारत की चिंताएं जाहिर कीं और पाकिस्तान और चीन पर जमकर निशाना साधा।

तालिबान को सत्ता से हटाने आई अमेरिकी सेना अफगानिस्तान क्यों छोड़ रही?

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद वहां के लोगों पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है। इतना ही नहीं, वह नई सरकार बनाने की तैयारी में भी जुट गया है।

अफगानिस्तान: राष्ट्रीय झंडे के साथ रैली निकाल रहे लोगों पर तालिबान की फायरिंग, कई की मौत

अफगानिस्तान की असदाबाद शहर में आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रीय झंडे के साथ रैली निकाल रहे सैकड़ों लोगों पर तालिबान के लड़ाकों ने फायरिंग कर दी। इस घटना में कई लोग मारे गए हैं। अभी तक ये साफ नहीं है कि ये लोग फायरिंग से मरे या इसके बाद हुई भगदड़ से।

अफगानिस्तान छोड़ने वाले लोगों के लिए किस देश ने खोले दरवाजे और किसने खड़ी की दीवार?

तालिबान के कब्जे के बाद बड़ी संख्या में लोग अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं, जिससे मानवीय संकट खड़ा होने का डर बढ़ गया है।

कौन है मुल्ला अब्दुल गनी बरादर जो बन सकता है अफगानिस्तान का अगला राष्ट्रपति?

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद अब तालिबान यहां सरकार बनाने की कोशिश में लगा हुआ है। 1991-2001 के अपने पहले शासन की तरह इस बार भी तालिबान एक परिषद के जरिए देश की सरकार चला सकता है।

अफगानिस्तान में नहीं होगा लोकतंत्र, परिषद के जरिए शासन कर सकता है तालिबान

तालिबान ने कहा है कि उसके राज में अफगानिस्तान में कोई भी लोकतांत्रिक व्यवस्था नहीं होगी और उसकी एक परिषद देश की सरकार चलाएगी। तालिबान का सर्वोच्च नेता हैबतुल्ला अखुंदजादा इस पूरी व्यवस्था का संरक्षक हो सकता है, वहीं उसका एक डिप्टी राष्ट्रपति का पद संभालेगा।

तालिबान ने भारत के साथ कारोबार रोका, पाकिस्तान के रास्ते होने वाला आयात-निर्यात बंद

तालिबान ने कब्जे के बाद अफगानिस्तान और भारत के बीच होने वाला व्यापार बंद कर दिया है।

अफगानिस्तान छोड़कर भागे पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा- देश वापसी के लिए बातचीत जारी

राजधानी काबुल में तालिबान के दाखिल होने के बाद अफगानिस्तान को छोड़कर भागे पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी ने बुधवार को देश वापसी की संभावना जाहिर की। देश छोड़ने के बाद अपने पहले वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि देश वापसी को लेकर उनकी बातचीत चल रही है।

अमेरिका ने तालिबान के खिलाफ उठाया कड़ा कदम, फ्रीज की 705 अरब रुपये की संपत्ति

तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा किए जाने के पीछे कूटनितिज्ञ अमेरिका के अपने सैनिकों को वापस बुलने के फैसले को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने इस फैसले का बचाव किया है।

अफगानिस्तान: जलालाबाद में तालिबान के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई फायरिंग, तीन लोगों की मौत

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जे के बाद तालिबान सरकार बनाने की तैयारियों में जुटा है। वह इस बार पहले से अधिक उदार होने तथा महिलाओं को अधिकार देने के दावे कर रहा है।

क्या है तालिबान का शरिया कानून जिसे लेकर दहशत में है अफगानी महिलाएं?

तालिबान ने दो दशक बाद फिर से अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है।

तालिबान के खिलाफ बिना लड़े ही क्यों पस्त हुई अफगान सेना?

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद अब तालिबान सरकार बनाने की कोशिश में जुट गया है। जिस गति से तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया है, उसने अमेरिका समेत कई देशों और विशेषज्ञों को भी चौंका दिया है।

पाकिस्तान ने जेल से रिहा किया तालिबान का नेता रहा मुल्ला मोहम्मद रसूल

अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी के बाद पाकिस्तान ने अपनी जेल में बंद तालिबान के एक पूर्व नेता मुल्ला मोहम्मद रसूल को रिहा कर दिया है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, वो पांच साल से पाकिस्तान की जेल में बंद था।

हिन्दुत्व और तालिबान की तुलना कर फंसीं स्वरा भास्कर, ट्विटर पर उठी गिरफ्तारी की मांग

स्वरा भास्कर बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में शुमार हैं, जो धड़ल्ले से अपने विचार सबके सामने रखती हैं। वह अपनी बेबाक बयानबाजी के लिए मशहूर हैं।

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य ने की तालिबान की तारीफ, कहा- सलाम करता हूं

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना सज्जाद नोमानी ने तालिबान पर एक विवादित बयान दिया है। अफगानिस्तान पर कब्जा करने के लिए तालिबान को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया ने देखा कि कैसे एक निहत्थी कौम ने दुनिया की सबसे मजबूत फौजों का मुकाबला किया और काबुल के महल में दाखिल हुए।

तालिबान ने शांति के वादे के बीच बुर्का नहीं पहनने पर की महिला की हत्या

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा जमा लिया और जल्द ही नई शासन व्यवस्था की जानकारी देने को कहा है।

तालिबान पर दिए बयान के बाद सपा सांसद के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

तालिबान को लेकर दिए गए बयान के बाद उत्तर प्रदेश के संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क मुश्किलों में फंस गए हैं।

अमेरिका को कितनी महंगी पड़ी है अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ लड़ाई?

करीब दो दशक बाद एक बार फिर अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हो गया है और काबुल में उसकी सरकार बनने जा रही है।

तालिबान ने की अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- महिलाओं को शरिया कानून के मुताबिक अधिकार देंगे

तालिबान ने मंगलवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जे के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में तालिबान ने अपना एक उदार चेहरा दिखाने की कोशिश की और महिलाओं को शरिया कानून के हिसाब से काम करने का अधिकार देने की बात कही।

अफगानिस्तान संकट पर प्रधानमंत्री मोदी ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक, मौजूदा हालातों पर की चर्चा

तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा किए जाने के बाद उपजे संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम को अपने निवास पर सुरक्षा पर केंद्रीय समिति (CCS) की उच्च स्तरीय बैठक बुलाई।

अफगानिस्तान संकट से निपटने में भारत की होगी अहम भूमिका- ब्रिटेन

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद अब तालिबान वहां अंतरिक सरकार के गठन की तैयारी कर रहा है।

अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले तालिबान के पाकिस्तान से कैसे संबंध रहे हैं?

तालिबान ने रविवार रात को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा कर लिया। इसके बाद अफगानिस्तान की सेना ने मोर्चा छोड़ दिया और राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर चले गए।

अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति सालेह का बड़ा बयान, कहा- तालिबान के आगे कभी नहीं झुकूंगा

तालिबान ने अफगानिस्तान के अधिकतर इलाकों पर कब्जा कर लिया है और वहां अब सत्ता हस्तांतरण पर चर्चा चल रही है।

तालिबान की सरकारी कर्मचारियों से काम पर लौटने, महिलाओं से सरकार में शामिल होने की अपील

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान ने सभी सरकारी अधिकारियों के लिए 'आम माफी' जारी कर दी है और उनसे काम पर लौटने का आग्रह किया है। अपने बयान में तालिबान ने कहा है, "सरकार के किसी भी हिस्से या विभाग में काम कर रहे लोगों को पूर्ण भरोसे के साथ अपनी ड्यूटी शुरू कर देनी चाहिए और बिना डर के अपना काम करते रहना चाहिए।"

हिंदू पुजारी ने किया काबुल छोड़ने से इनकार, कहा- तालिबानियों से मिली मौत को सेवा समझूंगा

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा जमा लिया है। हजारों की संख्या में लोग अपनी जान बचाने के लिए देश छोड़कर भाग रहे हैं।

क्रिकेट को पसंद और सपोर्ट करता है तालिबान, उनसे नहीं होगा कोई खतरा- अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड

बीते कुछ दिनों में अफगानिस्तान में एक बड़ा बदलाव आया है। तालिबान ने देश पर कब्जा कर लिया है और अब सरकार बनाने की कोशिश में लगा है। देश में आए इस बदलाव से अफरा-तफरी का माहौल बन चुका है। लोग देश छोड़कर भाग रहे हैं।

अफगानिस्तान में तालिबान के आने का भारत पर क्या असर पड़ेगा?

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है और जिन देशों पर इस बदलाव का सबसे ज्यादा असर पड़ना है, उनमें भारत भी शामिल है।

अफगानिस्तान: अभी भी दूतावास में फंसे हुए हैं विदेश मंत्रालय के कर्मचारियों समेत 200 भारतीय- रिपोर्ट

विदेश मंत्रालय के कर्मचारियों समेत 200 से अधिक भारतीय अभी भी अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में फंसे हुए हैं। NDTV ने सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी है।

अफगानिस्तान पर चीन का बड़ा बयान, कहा- तालिबान के साथ दोस्ताना संबंध स्थापित करने को तैयार

तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद चीन ने बयान जारी कर कहा है कि वह तालिबान के साथ दोस्ताना संबंध स्थापित करने को तैयार है। चीन के विदेश मंत्रालय ने ये भी उम्मीद जताई कि तालिबान बातचीत के माध्यम से एक समावेशी इस्लामिक सरकार बनाने और अफगानी नागरिकों की सुरक्षा का अपना वादा पूरा करेगा।

विमान के पहियों पर बैठकर काबुल छोड़ रहे दो लोगों की गिरने से मौत

काबुल छोड़कर जाने वाले एक विमान से गिरने के कारण अफगानिस्तान के दो लोगों की मौत हो गई है।

ताजिकिस्तान में लैंडिंग की इजाजत न मिलने के बाद ओमान पहुंचे अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी

ताजिकिस्तान के शरण देने से इनकार करने के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ओमान पहुंच गए हैं। उनके यहां से अमेरिका जाने की संभावना जताई जा रही है।

अफगानिस्तान का एयर स्पेस बंद, काबुल जाने वाली एयर इंडिया की उड़ान हुई रद्द

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान का एयर स्पेस बंद कर दिया गया है। इसका मतलब यह है कि अब कोई भी विमान अफगानिस्तान के ऊपर से उड़ान नहीं भर सकेगा।

तालिबान को दोबारा सत्ता की दहलीज पर लाने वाले बड़े चेहरे कौन से हैं?

करीब 20 साल पहले सत्ता से हटाए जाने के बाद एक बार फिर तालिबान काबुल पर काबिज होने जा रहा है।