जायकोव-डी

जायकोव-डी प्लास्मिड DNA प्लेटफॉर्म पर बनी दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन है, जिसे इस्तेमाल की मंजूरी मिली थी। इसे गुजरात स्थित फार्मा कंपनी जायडस कैडिला ने भारत सरकार के बायोटेक्नोलॉजी विभाग के साथ मिलकर तैयार किया है और यह तीसरे चरण के ट्रायल में 66.66 प्रतिशत प्रभावी पाई गई थी। भारत में 18 साल से कम आयुवर्ग पर इस्तेमाल के लिए मंजूरी पाने वाली यह पहली वैक्सीन है। इसे लगाने के लिए सुई वाले इंजेक्शन की जरूरत नहीं होगी। यह इंट्राडर्मल इंजेक्शन है, जिसे लगाना आसान होता है।

जायडस कैडिला ने सरकार को शुरू की अपनी कोरोना वैक्सीन 'ZyCoV-D' की आपूर्ति

02 Feb 2022

देश
जायडस कैडिला ने सरकार को शुरू की अपनी कोरोना वैक्सीन 'ZyCoV-D' की आपूर्ति

गुजरात स्थित फार्मा कंपनी जायडस-कैडिला ने कोरोना वायरस के खिलाफ तैयार की अपनी तीन खुराक वाली वैक्सीन जायकोव-डी (ZyCoV-D) की सरकार को आपूर्ति करना शुरू कर दी है। कंपनी ने बुधवार को इस संबंध में जानकारी दी है।

सरकार ने जायकोव-डी वैक्सीन की एक करोड़ खुराकों का ऑर्डर दिया, इसी महीने मिलने की उम्मीद

08 Nov 2021

देश
सरकार ने जायकोव-डी वैक्सीन की एक करोड़ खुराकों का ऑर्डर दिया, इसी महीने मिलने की उम्मीद

भारत के वैक्सीनेशन अभियान में इस महीने एक और वैक्सीन शामिल होने जा रही है।