नागालैंड फायरिंग: खबरें

नागालैंड के मोन जिले में 4 दिसंबर को एक उग्रवाद-रोधी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने तिरू-ओटिंग रोड के पास काम से लौट रहे ग्रामीणों को गलती से उग्रवादी समझ कर उनके वाहन पर फायरिंग कर दी थी। घटना की जानकारी मिलने पर गुस्साए लोगों ने जवानों पर हमला कर दिया था और अपनी आत्मरक्षा में जवानों को एक बार फिर से फायरिंग करनी पड़ी थी। इस घटना में कुल 14 ग्रामीण मारे गए थे, वहीं एक जवान की भी मौत हुई।

नागालैंड से AFSPA हटाने के लिए समिति गठित करेगा केंद्र, 45 दिन में सौंपनी होगी रिपोर्ट

नागालैंड के मोन जिले में सुरक्षाबलों की फायरिंग में 14 लोगों की मौत के बाद वहां के लोगों द्वारा राज्य से सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम (AFSPA) हटाने की पुरजोर मांग की जा रही है।

11 Dec 2021

लोकसभा

नागालैंड फायरिंग: AFSPA और अमित शाह के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन, दोषियों पर कार्रवाई की मांग

नागालैंड के मोन जिले में सुरक्षाबलों की फायरिंग में 14 लोगों की मौत का मामला गरमाता जा रहा है। शनिवार को मोन जिले में बड़ा विरोध प्रदर्शन निकाला गया।

नागालैंड फायरिंग: उग्रवादी संगठन ने कहा- मासूम लोगों के खून का बदला लिया जाएगा

नागालैंड के एक उग्रवादी संगठन ने मोन जिले में सुरक्षाबलों की फायरिंग में मारे गए लोगों की मौत का बदला लेने का ऐलान किया है।

नागालैंड फायरिंग: नागा जनजाति की 5 मांगें, दोषियों के खिलाफ तत्पर और AFSPA हटाने को कहा

नागालैंड के मोन जिले में सुरक्षाबलों की फायरिंग में 14 लोगों की मौत के मामले में नागा जनजाति 'कोनयाक' ने सरकार के सामने पांच मांगें रखी हैं। घटना में मारे गए ज्यादातर लोग इसी जनजाति से आते थे।