EPFO

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की स्थापना 15 नवंबर, 1951 में की गयी थी | इसकी स्थापना का मुख्य उद्देश्य कारखानों और दूसरे संस्थानों में काम करने वाले संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के हितों की रक्षा करना है। ऐसे सभी संगठन, जहां कर्मचारियों की संख्या 20 से ज्यादा है, उन्हें खुद को EPFO के पास रजिस्टर कराना होता है। साथ ही अगर किसी कर्मचारी की तनख्वाह 15,000 रुपये प्रति महीने से कम है तो उसे EPFO में योगदान करना पड़ता है। इससे अधिक तनख्वाह वाले कर्मचारी इसमें योगदान करने से मना कर सकते हैं। जब कोई व्यक्ति किसी कंपनी में काम करना शुरू करता है तो उसकी बेसिक सैलरी का 12 प्रतिशत उसकी सैलरी और इतना ही योगदान कंपनी की तरफ से EPFO में जाता है।

खबरें
घर बैठे-बैठे ऑनलाइन माध्यम से निकालें PF, करें इस ऐप का इस्तेमाल

30 Aug 2020

घर बैठे-बैठे ऑनलाइन माध्यम से निकालें PF, करें इस ऐप का इस्तेमाल

सभी सरकारी और ज्यादातर प्राइवेट कंपनियों के कर्मचारियों को प्रोविडेंट फंड (PF) दिया जाता है।

इन दो तरीकों से चेक कर सकते हैं अपना PF अकाउंट बैलेंस, फॉलो करें ये स्टेप्स

30 Jul 2020

इन दो तरीकों से चेक कर सकते हैं अपना PF अकाउंट बैलेंस, फॉलो करें ये स्टेप्स

सभी सरकारी और ज्यादातर निजी कंपनियों में काम करने वालों को प्रोविडेंट फंड यानी PF मिलता है।

भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो उड़ जाएँगे PF खाते से पैसे

28 Oct 2019

भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो उड़ जाएँगे PF खाते से पैसे

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने छह करोड़ से ज़्यादा खाताधारकों को चेतावनी दी है।

EPFO के 6 करोड़ खाताधारकों को 2018-19 की जमा राशि पर मिलेगा 8.65 प्रतिशत ब्याज

17 Sep 2019

EPFO के 6 करोड़ खाताधारकों को 2018-19 की जमा राशि पर मिलेगा 8.65 प्रतिशत ब्याज

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के छह करोड़ से अधिक खाताधारकों को 2018-19 की अपनी जमा राशि पर 8.65 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा।

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) खाता: ऑनलाइन कैसे जोड़ें नॉमिनी की जानकारी, जानें पूरी प्रक्रिया

23 Apr 2019

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) खाता: ऑनलाइन कैसे जोड़ें नॉमिनी की जानकारी, जानें पूरी प्रक्रिया

जैसा कि सभी को पता है कि कर्मचारियों के वेतन से कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) एक अनिवार्य योगदान है।