9/11 हमला

11 सितंबर, 2011 को आतंकवादियों ने दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश को अपना निशाना बनाया था। इस दिन अल-कायदा के आतंकियों ने यात्री विमानों का अपहरण कर आत्मघाती हमले किये थे। आतंकियों ने दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और ट्विन टॉवर्स से टकरा दिया था। वहीं तीसरे विमान को वर्जीनिया में पेंटागन से टकरा दिया था। इस हमले में अमेरिका समेत कई देशों के लगभग 3,000 नागरिक मारे गए। सबसे बड़ी आतंकी हमले ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था। तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने इस घटना को अमेरिकी इतिहास का सबसे काला दिन करार दिया था। इस हमले के पीछे ओसामा बिन लादेन का प्रमुख हाथ था। अमेरिका ने 2 मई, 2011 को पाकिस्तान में छिपे लादेन को मार गिराया।

खबरें
9/11 आतंकी हमले की बरसी पर अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास में विस्फोट

11 Sep 2019

9/11 आतंकी हमले की बरसी पर अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास में विस्फोट

9/11 आतंकी हमले की बरसी पर अफगानिस्तान के काबुल में अमेरिकी दूतावास में एक रॉकेट के फटने से जोरदार धमाका हुआ है।

इमरान खान ने माना, पाकिस्तान में सक्रिय थे 40 आतंकी संगठन, पिछली सरकारों ने छुपाया सच

24 Jul 2019

इमरान खान ने माना, पाकिस्तान में सक्रिय थे 40 आतंकी संगठन, पिछली सरकारों ने छुपाया सच

अमेरीकी दौरे पर गए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने माना है कि उनके देश में 40 आतंकवादी संगठन सक्रिय थे और पाकिस्तान की पिछली सरकारों ने ये बात अमेरिका से छिपा कर रखी थी।

9/11 आतंकी हमले में बचा, लेकिन कीनिया में हुए आतंकी हमले में मारा गया अमेरिकी नागरिक

17 Jan 2019

9/11 आतंकी हमले में बचा, लेकिन कीनिया में हुए आतंकी हमले में मारा गया अमेरिकी नागरिक

कीनिया की राजधानी नैरोबी के एक होटल में हुए आतंकी हमले में अब तक 21 लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है।