खाने में बाल मिलने पर पत्नी को किया गंजा

दुनिया

08 Oct 2019

खाने में मिला बाल तो पति को आया गुस्सा, ब्लेड लेकर पत्नी को जबरदस्ती किया गंजा

पति-पत्नी के बीच झगड़े में कई ऐसी बातें होती हैं जो केवल गुस्से में कही जाती हैं, उन्हें किया नहीं जाता।

लेकिन बांग्लादेश के एक व्यक्ति ने गुस्से में कही जाने वाली ऐसी ही एक बात को अंजाम दे दिया।

इस व्यक्ति ने खाने में बाल मिलने पर जबरदस्ती अपनी पत्नी को गंजा कर दिया।

व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ये घटना ऐसे समय पर हुई है जब बांग्लादेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं।

घटना

चावल और दूध के ब्रेकफास्ट में मिला बाल

घटना बांग्लादेश के उत्तर-पश्चिमी जिले जयपुरहट के एक गांव की है।

यहां 35 वर्षीय बबलू मंडल चावल और दूध का ब्रेकफास्ट कर रहे थे जो उनकी पत्नी ने उसके लिए तैयार किया था।

तभी उसे ब्रेकफास्ट में एक बाल मिला और वह अपनी पत्नी पर गुस्सा होने लगा।

गुस्से में उसने एक ब्लेड निकाला और जबरदस्ती अपनी पत्नी के सिर के सारे बालों को काट दिया और उसे गंजी कर दिया।

कार्रवाई

पुलिस ने गांव पर छापा मार किया बबलू को गिरफ्तार

ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी जिसके बाद पुलिस ने गांव में छापा मारा और बबलू को गिरफ्तार कर लिया।

स्थानीय पुलिस प्रमुख शाहरियार खान ने अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी AFP को बताया कि बबलू पर जानबूझ कर गंभीर चोट पहुंचाने का मुकदमा दर्ज किया गया है जिसमें अधिकतम 14 साल तक की सजा हो सकती है।

इसके अलावा उस पर अपनी 23 वर्षीय पत्नी का अपमान करने के लिए भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

महिलाओं के खिलाफ हिंसा

बांग्लादेश में बढ़ रहा है महिलाओं का दमन

इस बीच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि ये घटना कानून होने के बावजदू बांग्लादेश में बढ़ते महिलाओं के दमन को दर्शाती है।

एक स्थानीय मानवाधिकार संगठन के अनुसार, साल के पहले छह महीनों में बांग्लादेश में हर दिन तीन रेप हुए।

जनवरी से जून के बीच जिन 630 महिलाओं का रेप किया गया, उनमें से 37 को रेप के बाद मार दिया गया, जबकि सात ने खुद ही अपनी जान ले ली।

अप्रैल में छात्रा को जिंदा जलाए जाने पर हुए थे बड़े विरोध प्रदर्शन

इस बीच रेप की कोशिश के 105 मामले भी सामने आए। अप्रैल में एक 19 वर्षीय छात्रा को उसके प्रधानाचार्य के आदेश पर जिंदा जला दिया गया था। उसने प्रधानाचार्य पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। घटना के विरोध में बड़ा प्रदर्शन हुआ था।

खबर शेयर करें

मानवाधिकार

बांग्लादेश

महिलाओं के खिलाफ अपराध

विरोध

खबर शेयर करें

अगली खबर