प्रधानमंत्री मोदी के 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में शामिल होंगे ट्रम्प

दुनिया

16 Sep 2019

प्रधानमंत्री मोदी के साथ 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम को संबोधित करेंगे ट्रम्प, पहली बार होगा ऐसा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टेक्सास के ह्यूस्टन में 22 सितंबर को होने जा रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम 'हाउडी मोदी' में आने के लिए हामी भर दी है।

ट्रम्प न केवल इस कार्यक्रम में आएंगे, बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ इसे संबोधित भी करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रम्प के फैसले का स्वागत करते हुए इसे भारत और अमेरिका की खास दोस्ती का प्रतीक बताया है।

अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने इसे अभूतपूर्व बताया है।

हाउडी मोदी कार्यक्रम

कार्यक्रम में शामिल होंगे 50,000 भारतीय-अमेरिकी

ह्यूस्टन के एक फुटबॉल स्टेडियम में होने वाले इस कार्यक्रम में 50,000 भारतीय-अमेरिकी शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए खुद ट्रम्प को न्यौता दिया था।

इस बात की संभावनाएं पहले से ही जताई जा रही थीं कि ट्रम्प इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं, लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी।

रविवार रात को ट्रम्प के व्हाइट हाउस ऑफिस ने इसकी आधिकारिक पुष्टि करके सारे संशय को खत्म कर दिया।

व्हाइस हाउस ने कहा, दोनों देशों के रिश्तों को मजबूत करने का मौका

ट्रम्प के कार्यक्रम में शामिल होने की पुष्टि करते हुए व्हाइट हाउस ने अपने बयान में कहा, "ये दोनों देशों के लोगों के मजबूत संबंध, सामरिक भागीदारी और ऊर्जा और व्यापार संबंध को मजबूत करने के लिए चर्चा पर जोर देने का शानदार मौका है।"

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

प्रतिक्रिया

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ट्रम्प के स्वागत के लिए तैयार

प्रधानमंत्री मोदी ने दो ट्वीट करते हुए ट्रम्प के इस फैसले का स्वागत किया और कहा कि ये भारत और अमेरिका की खास दोस्ती का प्रतीक है।

उन्होंने कहा कि वह भारतीय मूल के लोगों के साथ ट्रम्प का स्वागत करने को तैयार हैं।

अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, "ट्रम्प का ह्यूटन में आना रिश्तों की मजबूती और अमेरिकी समाज और अर्थव्यवस्था में भारतीय समुदाय के योगदान को दर्शाता है।"

अभूतपूर्व

पहली बार होगा ऐसा

अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन ने कहा कि दोनों नेताओं का एक साथ 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम को संबोधित करना एक साहसिक मिसाल पेश करेगा जो अपरंपरागत और अद्वितीय है।

उन्होंने कहा, "ये ऐतिहासिक है और भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती और सहयोग के घनिष्ठ संबंध को दर्शाता है।"

बता दें कि ये पहली बार है जब अमेरिका का कोई राष्ट्रपति भारतीय प्रधानमंत्री के साथ हजारों भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करेगा।

पाकिस्तान

ट्रम्प का कार्यक्रम में शामिल होना पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका

ट्रम्प का कार्यक्रम में शामिल होना पाकिस्तान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

ट्रम्प के शामिल होने से उनके और मोदी के बीच दोस्ती और मोदी को उनके निजी समर्थन का संदेश जाएगा।

कश्मीर के मुद्दे पर ट्रम्प की मदद की आस लगाए बैठे पाकिस्तान के लिए ये स्थिति अनुकूल नहीं कही जा सकती।

इससे अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए ट्रम्प के पास भी भारतीय-अमेरिकी समुदाय को लुभाने का खास मौका है।

कार्यक्रम

तीसरी बार भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे मोदी

2014 में पहली बार प्रधानमंत्री बनने के बाद से मोदी का अमेरिका में इस तरीके का ये तीसरा बड़ा कार्यक्रम है।

इससे पहले उन्होंने 2014 में मैडिसन स्क्वायर और 2016 में सिलिकन वैली में भारतीय समुदाय को संबोधित किया था।

लेकिन टेक्सास के ह्यूस्टन के एक बड़े फुटबॉल स्टेडियम में होने वाला ये 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम इन दोनों कार्यक्रमों से भी भव्य होगा और इसमें अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गबार्ड समेत 60 से अधिक अमेरिकी सांसद शिरकत करेंगे।

अमेरिकी दौरा कार्यक्रम

27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे मोदी

22 सितंबर से 28 सितंबर के अपने अमेरिकी दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) को भी संबोधित करेंगे।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भी मोदी के थोड़ी देर बाद UNGA में अपना भाषण देंगे।

कश्मीर पर तनाव के बीच दोनों नेताओं के संबोधन पर सबकी नजरें रहेंगी।

इसके अलावा 24 सितंबर को स्वच्छ भारत अभियान के लिए प्रधानमंत्री मोदी को बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की ओर से 'ग्लोबल पीसकीपर अवार्ड' से सम्मानित किया जाएगा।

खबर शेयर करें

भारत

पाकिस्तान

कश्मीर

इमरान खान

नरेंद्र मोदी

डोनाल्ड ट्रम्प

टेक्सास

ह्यूस्टन

स्वच्छ भारत अभियान

प्रधानमंत्री मोदी

खबर शेयर करें

अगली खबर