अमेरिका में एक दिन के अंदर गोलीबारी की दूसरी घटना

दुनिया

04 Aug 2019

अमेरिका: 24 घंटे के अंदर गोलीबारी की दूसरी घटना, ओहियो में 9 लोगों की मौत

अमेरिका में एक दिन के अंदर सार्वजनिक गोलीबारी की दूसरी घटना सामने आई है।

टेक्सास के बाद अब ओहियो राज्य के डेटन के ओरेगन जिले में हुई गोलीबारी में 9 लोगों की मौत हुई है, जबकि 16 लोग घायल हुए हैं।

मामले में बंदूकधारी हमलावार को भी मार गिराया गया है।

इससे पहले एक बंदूकधारी हमलावर ने टेक्सास के एल पासो के वॉलमार्ट स्टोर में घुसकर गोलीबारी की थी, जिसमें 20 लोग मारे गए थे।

रविवार सुबह 1 बजे हुई घटना

डेटन पुलिस के अनुसार, ओरेगन जिले की ईस्ट 5th गली के सामने ये घटना रविवार सुबह 1 बजे के आसपास हुई। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हमलावार को मार गिराया। अभी तक हमलावर की पहचान नहीं हो सकी है।

टेक्सास के बाद ओहियो में गोलीबारी

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

कारण

हमले का मकसद अभी स्पष्ट नहीं

डेटन के ACP लेफ्टिनेंट कर्नल मैट कार्पर ने मीडिया को बताया कि हमलावर ने कई राउंड वाली लंबी बंदूक के साथ हमला किया। मामले में किसी भी पुलिसकर्मी को नुकसान नहीं पहुंचा।

पुलिस का मानना है कि हमलावर अकेला था और अब समुदाय को कोई खतरा नहीं है।

कार्पर ने बताया कि FBI भी मामले की जांच में जुड़ गई है।

बंदूकधारी हमलावर ने इस हमले को क्यों अंजाम दिया, इसका कारण अभी साफ नहीं है।

टेक्सास गोलीबारी

शनिवार सुबह टेक्सास में हुई थी गोलीबारी

इससे पहले शनिवार सुबह टेक्सास के एल पासो स्थित वॉलमार्ट स्टोर में राइफल लेकर घुसे एक व्यक्ति ने अंधाधुंध गोली बरसाना शुरू कर दिया।

इससे वहां सामान खरीदने में व्यस्त लोगों में अफरातफरी मच गई।

गोलीबारी में 20 लोग मारे गए, जबकि 26 लोग घायल हुए।

हमलावर ने इसके बाद मौके पर ही पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।

आरोपी की पहचान डलास के ऐलेन उपनगर के रहने वाले 21 वर्षीय श्वेत युवक के तौर पर की गई है।

कारण

नस्लभेद से प्रभावित थी टेक्सास गोलीबारी

पुलिस को हमलावर का एक घोषणापत्र मिला है जिसमें इस घटना के एक 'हेट क्राइम' होने की बात सामने आती है।

इस घोषणापत्र में वॉलमार्ट हमले को "टेक्सास पर हिस्पैनिक आक्रमण का जवाब" बताया गया है।

हिस्पैनिक का मतलब उन देशों के लोगों से हैं जहां स्पैनिश भाषा बोली जाती है। इनमें ज्यादातर लैटिन अमेरिका के देश आते हैं।

इसमें न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 2 मस्जिदों पर हमला करने वाले बंदूकधारी की तारीफ की गई थी।

टेक्सास गोलीबारी

अमेरिका की आठवीं सबसे घातक गोलीबारी की घटना

बता दें कि अमेरिका में लोगों को हथियार मिलने में होने वाली आसानी के कारण वहां भीड़ पर गोलीबारी की घटनाएं होती रहती हैं।

6 दिन पहले ही उत्तरी कैलिफोर्निया के एक फूड फेस्टिवल में एक किशोर बंदूकधारी ने गोलीबारी करके 3 लोगों की जान ले ली थी।

ये घटनाएं कई बार नस्लभेद पर आधारित होती हैं।

टेक्सास में हुई घटना अमेरिका के इतिहास की आठवीं सबसे घातक सार्वजनिक गोलीबारी की घटना है।

खबर शेयर करें

टेक्सास

ओहियो

गोलीबारी

खबर शेयर करें

अगली खबर