पाकिस्तान में पॉपकॉर्न बेचने वाले ने बनाया जहाज

दुनिया

06 May 2019

पॉपकॉर्न बेचने वाले ने बनाया विमान, सोशल मीडिया पर बना हीरो

"मंजिलें उन्ही को मिलती हैं जिनके सपनों में जान होती है पंखो से कुछ नहीं होता हौसलों से उडान होती है"

बहुत लोग इन लाइनों को पढ़कर भूल जाते हैं, लेकिन पाकिस्तान में एक शख्स ने यह साबित करके दिखा दिया।

यहां पॉपकॉर्न बेचने वाले एक व्यक्ति ने जुगाड़ से अपना हवाई जहाज बना लिया। उसने न सिर्फ यह जहाज उड़ाया बल्कि पाकिस्तान एयरफोर्स से उसके लिए प्रशंसा भी पाई।

आइये, जानते हैं पूरी कहानी क्या है।

चर्चा

लोगों की चर्चा का विषय बना विमान

यह पाकिस्तान के रहने वाले मोहम्मद फय्याज की कहानी है। वो बचपन से ही एयरफोर्स में जाना चाहते थे, लेकिन पढ़ाई के दौरान उनके पिता की मौत हो गई।

इस वजह से वह अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए और पॉपकॉर्न बेचने लगे। आज वो लोगों की चर्चा का विषय बने हुए हैं।

उन्होंने रोडकटर का इंजन, टाट के पंख और ऑटोरिक्शा के पहियों से मिलाकर एक जहाज बनाया है। भारी मात्रा में लोग यह जहाज देखने आ रहे हैं।

लोन

विमान के लिए लिया लोन

विमान के लिए लिया लोन

फय्याज ने बताया कि उनके पिता के निधन के कारण उन्हें पढ़ाई बीच में छोड़नी पड़ी। बड़ा होने पर उन्होंने अपने सपने का पीछा करना नहीं छोड़ा और खुद का हवाई जहाज बनाने का विचार किया।

इसके लिए उन्होंने दिन में पॉपकॉर्न बेचे और रात को सिक्योरिटी गार्ड का काम किया।

इतना ही नहीं, उन्होंने इस जहाज को बनाने के लिए 50,000 रुपये का लोन लिया, जिसे वह अभी भी चुका रहे हैं।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

ट्रेनिंग

यहां से सीखा विमान बनाना

जहाज बनाने के लिए उन्हें पैसे के अलावा ज्ञान की जरूरत थी। इसके लिए उन्होंने नेशनल जियोग्राफिक चैनल के एयर क्रैश इन्वेस्टिगेशन प्रोग्राम को देखना शुरू किया।

यहां से उन्होंने एयर प्रैशर, टॉर्क, प्रोपल्शन आदि की जानकारी ली। इसके अलावा उन्होंने इंटरनेट की मदद से जहाज का खाका बनाना सीखा।

सबसे पहले उन्होंने पंख बनाने के लिए टाट के टुकड़े को खरीदा। जहाज बनाने के दौरान कई गलतियां हुईं और उन्हें कई पुर्जों को बदलना पड़ा।

पहली उड़ान

फरवरी में भरी पहली उड़ान

फरवरी में भरी पहली उड़ान

इस साल फरवरी तक फय्याज का छोटा जहाज बनकर तैयार हो गया था। फय्याज ने बताया कि उनकी पहली उड़ान के लिए सड़क को रनवे के तौर पर इस्तेमाल किया था।

इस उड़ान के चश्मदीद ने बताया वह दो से ढाई फीट जमीन के ऊपर था और जमीन पर उतरने से पहले विमान दो किलोमीटर की दूरी तक उड़ान भरता रहा।

इस दौरान विमान की गति 120kmph थी। हालांकि, इस दावे की पुष्टि नहीं हुई है।

गिरफ्तारी

दूसरी उड़ान से पहले पुलिस ने पकड़ा

पहली उड़ान के बाद फय्याज ने गांव वालों के सामने इस विमान को उड़ाने की योजना बनाई। इसके पहले कि वो उड़ान भरते पुलिस मौके पर पहुंच गई और उन्हें गिरफ्तार करने के साथ उनका विमान भी जब्त कर लिया।

कोर्ट ने उन्हें 3 हजार रुपये का जुर्मान लगा कर रिहा किया।

पुलिस का कहना है कि उन्हें इसलिए गिरफ्तार किया गया क्योंकि उनका विमान सुरक्षा के लिए खतरा है। हालांकि, बाद में पुलिस ने उन्हें उनका विमान लौटा दिया।

सोशल मीडिया पर हीरो बने फय्याज

फय्याज की इस कोशिश ने उन्हें स्थानीय सोशल मीडिया पर हीरो बना दिया है। पाकिस्तानी एयरफोर्स के अधिकारी भी दो बार उनका विमान देखने आ चुके हैं। एयरफोर्स के एक बेस कमांडर ने उन्हें प्रशंसा-पत्र भी दिया है।

खबर शेयर करें

पाकिस्तान

खबर शेयर करें

अगली खबर