बालाकोट का सच देखने आ सकता है भारतीय मीडिया- पाकिस्तान

दुनिया

30 Apr 2019

पाकिस्तानी सेना ने दिया भारतीय मीडिया को बालाकोट आने का ऑफर

पाकिस्तानी सेना ने सोमवार को फिर दोहराया कि बालाकोट में भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक से किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ था।

रावलपिंडी में पत्रकारों से बात करते हुए पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल असिफ गफूर ने कहा कि पिछले दो महीने से भारत लगातार झूठ बोल रहा है और एक जिम्मेदार देश होने के नाते पाकिस्तान झूठ का जवाब नहीं देता है।

आइये, जानते हैं कि उन्होंने और क्या-क्या कहा।

पेशकश

'सच देखने' पाकिस्तान आ सकता है भारतीय मीडिया

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बारे में बात करते हुए मेजर जनरल गफूर ने कहा कि अगर भारतीय पत्रकार बालाकोट में आकर 'सच देखना' चाहते हैं तो वो यहां आ सकते हैं।

बता दें, भारत ने कहा था कि बालाकोट में वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर बम बरसाए थे।

यह एयर स्ट्राइक पुलवामा में CRPF काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद की गई थी। इस हमले को जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया था।

बालाकोट दौरा

एयर स्ट्राइक के 43 दिन बाद हुआ था मीडिया का दौरा

भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के लगभग डेढ़ महीने बाद पाकिस्तानी सेना ने पत्रकारों और विदेशी राजनयिकों को बालाकोट मदरसे का दौरा कराया था।

दौरा करने वाले पत्रकारों में शामिल बीबीसी के पत्रकार ने लिखा कि पाकिस्तानी सेना की देखरेख में पत्रकारों और राजनयिकों के दल को उस मदरसे तक ले जाया गया, जहां एयर स्ट्राइक हुई थी।

बीबीसी ने लिखा था कि मदरसे में ऐसे कोई निशान नहीं मिले, जिनसे लगे कि यहां कोई नुकसान हुआ हो।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

एयर स्ट्राइक

भारत ने 26 फरवरी को थी एयर स्ट्राइक

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर जैश आतंकी के फिदायीन हमले में 40 जवान शहीद हुए थे।

इस हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े कैंप पर बम बरसाए थे।

भारतीय वायुसेना ने स्ट्राइक के दौरान 6 लक्ष्यों पर निशाना साधा था, जिसमें से 5 लक्ष्य तबाह कर दिए गए।

इस काम को भारतीय वायुसेना (IAF) के लड़ाकू विमान मिराज 2000 ने अंजाम दिया।

पुलवामा

पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ नहीं- मेजर जनरल गफूर

गफूर ने कहा कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का कोई हाथ नहीं है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने जांच की बात और बातचीत शुरू करने की पेशकश की थी।

साथ ही उन्होंने दावा कि 27 फरवरी को पाकिस्तानी सेना ने दो भारतीय लड़ाकू विमानों को मार गिराया था। हालांकि इसे लेकर पाकिस्तान की तरफ से कोई सबूत नहीं दिया गया।

इसके अलावा उन्होंने भारत द्वारा F-16 को मार गिराने के दावे को भी झूठ बताया।

आतंकी ठिकाने

गफूर बोले- आतंकी संगठनों को नष्ट किया

गफूर ने बताया कि पाकिस्तान ने आतंकियों और उनके ठिकानों को खत्म करने के लिए सघन अभियान चलाया है।

उन्होंने कहा कि आज पाकिस्तान में किसी तरह के आतंकी संगठन मौजूद नहीं है। मदरसों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने 30,000 मदरसों को नियंत्रण अपने हाथ में लिया है और उन्हें मेनस्ट्रीम में शामिल किया जाएगा। ये मदरसे अब शिक्षा मंत्रालय के अधीन काम करेंगे।

खबर शेयर करें

भारती एयरटेल

पाकिस्तान

पुलवामा

खबर शेयर करें

अगली खबर