फ्रांस: नोट्र डाम में लगी आग पर काबू पाया गया

दुनिया

16 Apr 2019

फ्रांस: नॉट्र डाम में लगी आग पर काबू पाया गया, राष्ट्रपति ने की पुनर्निमाण की घोषणा

पेरिस के मशूहर नॉट्र डाम कैथेड्रल में आग लगने से इसका शिखर और छत ढह गई है। फिलहाल इस आग पर काबू पा लिया गया है।

लगभग 850 साल पुराने इस गिरजाघर में सोमवार शाम को आग लगी और देखते ही देखते पूरा आसमान धुएं के गुब्बार से भर गया।

अभी तक आग लगने की वजह सामने नहीं आई है, लेकिन माना जा रहा है कि गिरजाघर में चल रहे नवीनीकरण की वजह से इमारत में आग लगी है।

आग पर काबू पाने में लगे 9 घंटे

आग पर काबू पाने के लिए 400 दमकल कर्मियों को लगभग 9 घंटे का समय लगा। पेरिस के दमकल विभाग के प्रमुख ने बताया कि नॉट्र डाम का प्रमुख ढांचा और दो दूसरे टॉवरों को सुरक्षित बचा लिया गया है।

कैथेड्रल से निकलती आग की लपटें

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

नॉट्र डाम

क्यों मशहूर है नॉट्र ड्राम

क्यों मशहूर है नॉट्र ड्राम

इस इमारत को फ्रांस की पहचान के तौर पर जाना जाता है। दुनिया के सबसे प्राचीन कैथेड्रल में एक नॉट्र डाम में हर साला लाखों लोग घूमने और प्रार्थना करने आते हैं।

दो विश्वयुद्ध देख चुकी इस इमारत को फ्रांसीसी क्रांति के समय काफी नुकसान हुआ था। कहा जाता है कि अगर पेरिस में आईफल टॉवर को कोई इमारत टक्कर दे सकती है तो वह यही इमारत है।

इतिहासकरों ने इमारत में आग की घटना पर अफसोस व्यक्त किया है।

आग से प्रभावित हिस्सा

घोषणा

दोबारा बनाया जाएगा कैथेड्रल- राष्ट्रपति

कैथेड्रल में आग लगने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने पहले से निर्धारित राष्ट्र के नाम संबोधन के कार्यक्रम को रद्द कर दिया।

उन्होंने मौके पर पहुंच कर कहा कि कैथेड्रेल को दोबारा बनाया जाएगा। मैक्रों ने कहा, "हम नॉट्र डाम को दोबारा बनाएंगे और यहीं फ्रांस के लोग चाहते हैं।"

राष्ट्रपति के इस ऐलान के बाद फ्रांस के अरबपति फ्रांसीस-हेनरी पिनॉट ने इस काम के लिए 100 मिलियन यूरो की मदद की घोषणा की है।

तकनीकी खामी

नॉट्र डाम में आग की घटना को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की आग बताती रही यूट्यूब

झूठी सूचनाओं को रोकने के लिए यूट्यूब द्वारा लॉन्च किए गया एक टूल सोमवार को फेल हो गया। यह टूल नॉट्र डाम में लगी आग के फुटेज को अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के फुटेज बताता रहा।

आग लगने से कैथेड्रल का शिखर ढह गया था। इस फुटेज को कई न्यूज चैनल से दिखाया। जब यूट्यूब पर इसे अपलोड किया तो कंपनी का 'इन्फोर्मेशन पैनल' टूल इन फुटेज को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की बताता रहा।

यूट्यूब ने मानी गलती

यह खबर सामने आने के बाद यूट्यूब ने अपनी गलती मानी है। यूट्यूब ने कहा कि नॉट्र डाम की घटना के बाद गलत नतीजे दिखाए हैं। इसलिए कंपनी इस घटना की लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान इस टूल को बंद कर रही है।

खबर शेयर करें

खबर शेयर करें

अगली खबर