बालाकोट मदरसे में पत्रकार और राजनयिकों को दौरा

दुनिया

11 Apr 2019

बालाकोट एयरस्ट्राइक: पाकिस्तान ने 43 दिन बाद कराया पत्रकारों का दौरा, घटनास्थल पर दिखे ये निशान

भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के लगभग डेढ़ महीने बाद पाकिस्तानी सेना ने पत्रकारों और विदेशी राजनयिकों को बालाकोट मदरसे का दौरा कराया।

भारतीय वायुसेना ने इसी जगह बम गिराकर आतंकी कैंपों को नष्ट किया था। हालांकि, पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा और कहा कि भारत ने खाली जगह पर बम गिराए थे।

पाकिस्तान द्वारा पत्रकारों और राजनयिकों को इतने समय बाद घटनास्थल का दौरा कराना भी कई सवाल खड़े कर रहा है।

दौरा

पाकिस्तानी सेना की देखरेख में हुआ दौरा

पाकिस्तानी सेना की देखरेख में हुआ दौरा

इस मदरसे का दौरा करने वालों में बीबीसी के एक पत्रकार भी शामिल थे।

उन्होंने लिखा कि 10 अप्रैल यानी एयर स्ट्राइक के 43 दिन बाद पाकिस्तान सरकार ने पत्रकारों को यहां जाने की इजाजत दी।

पाकिस्तानी सेना की देखरेख में पत्रकारों और राजनयिकों के दल को एक हेलिकॉप्टर से इस्लामाबाद से मानसेरा ले जाया गया।

वहां से लगभग डेढ़ घंटे तक पैदल सफर करने के बाद यह दल उस मदरसे पर पहुंचा, जहां भारतीय वायुसेना ने हमला किया था।

हालात

आबादी वाले इलाके से दूर हुए गड्ढे

बीबीसी ने लिखा कि इस दल को तीन अलग-अलग जगहों पर ले जाया गया, जहां कुछ गड्ढे थे और पेड़ गिरे हुए थे।

अधिकारियों ने बताया कि इन जगहों पर भारतीय वायुसेना ने पेलोड गिराए थे।

ये गड्ढे आबादी वाले इलाके से काफी दूर थे। पत्रकारों को बताया गया कि यहां एक आदमी जख्मी हुआ था। बाकी जगहें पेड़ों के बीच थी जहां गिरे हुए पेड़ मौजूद थे।

इसके बाद पत्रकारों को चोटी पर मौजूद मदरसे में ले जाया गया।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

इमारत की हालत

इमारत में नुकसान के कोई निशान नहीं

बीबीसी के पत्रकार ने लिखा कि मदरसे में ऐसे कोई निशान नहीं मिले, जिनसे लगे कि यहां कोई नुकसान हुआ हो या कुछ नया बनाया गया है। पुराने स्ट्रक्चर वाली यह इमारत अपनी हालत में खड़ी थी।

मदरसे में लगभग 150-200 बच्चे पढ़ रहे थे। इमारत के सामने एक बड़ा मैदान था।

पत्रकारों ने जब यहां लोगों से बात करने की कोशिश की तो उन्हें कहा गया कि वे जल्दी-जल्दी बात खत्म करें और बहुत देर तक बात न करें।

दौरा कराने में देरी पर उठे सवाल

पत्रकारों ने जब अधिकारियों से पूछा कि यह दौरा इतनी देरी से क्यों करवाया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि पहले यहां हालत सही नहीं थे और लोगों को यहां लाना काफी मुश्किल था।

एयर स्ट्राइक

पुलवामा हमले के बाद भारत ने की थी एयरस्ट्राइक

भारत ने पुलावामा हमले के बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर बम बरसाए थे।

इस काम को भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 विमानों ने अंजाम दिया था।

अभी तक एयर स्ट्राइक में हुए नुकसान का सटीक आकलन नहीं हो पाया है।

इस घटना के बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम सीमा तक पहुंच गया था और दोनों देश युद्ध की स्थिति की तरफ बढ़ चुके थे।

खबर शेयर करें

भारत

पाकिस्तान

पुलवामा

BBC

आतंकी विरोधी ऑपरेशंस

आतंकी संगठन

खबर शेयर करें

अगली खबर