इमरान खान का भाजपा के चुनाव जीतने पर बयान

दुनिया

10 Apr 2019

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का बयान, भाजपा चुनाव जीती तो शांति की बेहतर संभावनाएं

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी भाजपा की सरकार आई तो दोनों देशों में शांति की बेहतर संभावनाएं होंगी।

उनका विचार है कि कांग्रेस के नेतृत्व में आने वाली सरकार दक्षिणपंथी ताकतों के दवाब में पाकिस्तान के साथ कोई भी समझौता करने से डरेगी।

इमरान ने यह बात विदेशी पत्रकारों के साथ एक इंटरव्यू में कही।

उन्होंने भारत के बारे में और क्या-क्या कहा, आइए जानते हैं।

बयान

'भाजपा जीती तो कश्मीर पर हो सकता है समझौता'

'नया पाकिस्तान' का नारा देकर सरकार में आए इमरान ने इंटव्यू में कहा, "अगर दक्षिणपंथी पार्टी भाजपा जीतती है तो कश्मीर पर कुछ समझौता हो सकता है।"

इस दौरान वह मोदी राज में पूरे भारत और कश्मीर में मुस्लिमों को आ रही समस्याओं पर बात करने से भी नहीं चूके।

उन्होंने कहा, "मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं वो देखूंगा जो अभी भारत में हो रहा है। मुस्लिम-वाद पर हमला किया जा रहा है।"

इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू से मोदी की तुलना

इमरान ने कहा कि इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की तरह मोदी की चुनावी रणनीति भी डर और राष्ट्रवाद की भावना पर आधारित है। धारा 370 हटाने के भाजपा के वादे पर उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह चुनावी हथकंडा भी हो सकता है।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

आतंकवाद पर दोहरापन

आतंकवाद पर कार्रवाई की बात फिर दोहराई

इस बीच इमरान ने कहा कि उनकी सरकार पाकिस्तान में पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसे सेना की ओर से पूरा समर्थन हासिल है।

वह यह बात पुलवामा आतंकी हमले के बाद से कहते आ रहे हैं, हालांकि उन्होंने अभी तक ऐसा कोई भी सबूत नहीं दिया है जिससे उनकी प्रतिबद्धता को गंभीर माना जाए।

बल्कि पाकिस्तान पुलवामा हमले में जैश-ए-मोहम्मद के शामिल न होने की बात कहकर अपना पुराना राग दोहरा रहा है।

पुलवामा आतंकी हमला

पुलवामा हमले के बाद बिगड़े थे दोनों देशों के रिश्ते

बता दें कि कश्मीर के ऊपर 2 और कुल तीन युद्ध लड़ चुके भारत और पाकिस्तान के रिश्ते 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए आंतकी हमले के बाद काफी बिगड़ गए थे।

भारत ने हमले में पाकिस्तान से ऑपरेट करने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ होने की बात कही थी, जबकि पाकिस्तान ने अपनी जमीन का भारत के खिलाफ इस्तेमाल होने के आरोपों को नकारा था।

बालाकोट एयर स्ट्राइक

खुद कार्रवाई करते हुए भारत ने की एयर स्ट्राइक

पाकिस्तान के इसी रवैये से तंग आकर भारत ने खुद आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की और 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश के आंतकी कैंप पर एयर स्ट्राइक की।

इसके जवाब में पाकिस्तान ने भी अगले दिन भारत में एयर स्ट्राइक करने की कोशिश की, जिसे भारत ने नाकाम कर दिया।

इसके बाद दोनों देशों के बीच बिल्कुल युद्ध जैसे हालात बन गए थे।

इमरान अभी भी भारत के हमला करने की आशंका जताते रहते हैं।

खबर शेयर करें

पाकिस्तान

कश्मीर

इमरान खान

नरेंद्र मोदी

पुलवामा

कांग्रेस

जैश-ए-मोहम्मद

खबर शेयर करें

अगली खबर