अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

दुनिया
14 Feb 2019

अमेरिका में 6 पुलिस अधिकारियों ने कार में सो रहे अश्वेत युवक पर चलाई गोलियां, मौत

अमेरिकी पुलिस ने रैपर पर चलाई गोलियां

अमेरिका के कैलिफोर्निया में पुलिस अधिकारियों द्वारा एक 20 वर्षीय रैपर को गोली मारने का मामला सामने आया है।

घटना उस समय हुई जब विली मैककॉय नामक रैपर यहां के एक टाको बेल रेस्टोरेंट के बाहर अपनी कार में सो रहा था।

विली के अश्वेत होने के कारण पुलिस पर नस्लवादी कार्रवाई का आरोप लग रहा है।

उसके परिवार ने आरोपी अधिकारियों पर अपराधिक कार्रवाई की मांग की है, ताकि फिर दोबारा किसी के साथ ऐसा न हो।

प्रसंग

अमेरिकी पुलिस ने रैपर पर चलाई गोलियां

अमेरिकी पुलिस

पुलिस ने कहा, विली के पास थी बंदूक

वैलेजो इलाके में शनिवार रात हुई घटना में 6 पुलिस अधिकारियों ने विली पर कई गोलियां चलाईं।

पुलिस के अनुसार, विली के पास एक छोटी बंदूक थी, जिसे देख अधिकारी डर गए और अपनी सुरक्षा के लिए गोली चला दीं।

वहीं, विली के परिवार का कहना है कि पुलिस ने एक अश्वेत होेने के कारण उस पर गोली चलाई।

उन्होंने कहा कि किसी सोते हुए व्यक्ति पर घातक बल का प्रयोग किसी भी हालत में सही नहीं ठहराया जा सकता।

पुलिस की सफाई

'कोई जबाव नहीं दे रहा था विली'

पुलिस के वर्जन के अनुसार, शनिवार रात 10:30 बजे के करीब टाको बेल के एक कर्मचारी ने 911 नंबर पर फोन करके जानकारी दी कि एक व्यक्ति कार चलाते वक्त अचानक बेसुध हो गया है।

पुलिस जब वहां पहुंची तो विली कोई जबाव नहीं दे रहा था और उसके गोदी में एक छोटी बंदूक रखी हुई थी। कार चालू थी और उसके दरवाजे बंद थे।

जैसे ही पुलिसकर्मियों ने बैकअप की मांग की, विली ने अचानक से हलचल की।

दुनिया की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

घटना

4 सेकंड के अंदर 6 पुलिसकर्मियों ने चलाईं गोलियां

पुलिस के अनुसार, जब अधिकारियों ने विली को अपने हाथ ऊपर करने के लिए कहा तो उसने ऐसा करने की बजाय अपने हाथ तेजी से नीचे बंदूक की तरफ कर लिए।

इसके बाद अपनी सुरक्षा के लिए 6 पुलिस अधिकारियों ने 4 सेकंड के अंदर विली पर गोलियां चला दीं। पुलिस ने गोलियों की संख्या के बारे में कुछ नहीं बताया।

विली की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने अभी तक उसकी पहचान की पुष्टि नहीं की है।

'कार में सोते व्यक्ति को गोली मारना समझ से बाहर'

परिवार का आरोप

'कार में सोते व्यक्ति को गोली मारना समझ से बाहर'

विली के बड़े भाई मार्क मैककॉय ने आरोप लगाया कि पुलिस ने मामले को शांति से निपटाने की कोशिश ही नहीं की।

उन्होंने कहा, "पुलिस का काम कानून तोड़ रहे लोगों को गिरफ्तार करना है, ना कि कानून को अपने हाथ में लेना। आप जज या जल्लाद नहीं हैं।"

उन्होंने कहा, "हम सोच भी नहीं सकते कि उन्होंने उस पर गोली क्यों चलाई। अपनी कार में सोते हुए व्यक्ति को गोली मारना समझ से बाहर का काम है।"

अश्वेत

'अश्वेत लोगों का सम्मान नहीं करती पुलिस'

मार्क ने बताया कि विली का बचपन मुसीबतों से भरा रहा और कम उम्र में ही उसने अपने माता-पिता को खो दिया।

वह संगीत को लेकर बहुत महत्वाकांक्षी और उत्साही था।

विली FBG नामक रैप ग्रुप का हिस्सा था। वैलेजो कई मशहूर रैपर्स और संगीतकारों का घर है।

मार्क ने कहा कि पुलिस अश्वेत लोगों का सम्मान नहीं करती।

विली के चचेरे भाई डेविड हैरिसन ने कहा कि वैलेजो में पुलिस अश्वेत युवाओं को निशाना बनाने का अभियान चलाती है।

अमेरिका

पहले भी सामने आई हैं ऐसी घटना

बता दें कि इससे पहले भी सोते हुए व्यक्ति पर पुलिस के गोली चलाने के दो बड़े मामले सामने आ चुके हैं।

पिछले साल ऑकलैंड में 2 अधिकारियों ने एक हथियारबंद बेघर को उस समय गोली मार दी जब वह 2 घरों के बीच सो रहा था।

दूसरे मामले में 2015 में ऑकलैंड पुलिस ने कार में सोते हुए एक व्यक्ति को गोली मार दी थी। बाद में उसके परिवार और पुलिस में 12 लाख डॉलर का समझौता हुआ था।

अगली खबर