लखनऊ में डॉक्टरों ने जीवित शख्स को बताया मुर्दा

अजब-गजब

03 Jul 2019

उत्तर प्रदेशः डॉक्टरों ने बता दिया था मुर्दा, दफनाने से पहले शख्स को आया होश

उत्तर प्रदेश में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक प्राइवेट अस्पताल ने जिंदा शख्स को मुर्दा घोषित कर दिया।

जब उसके परिजन उसे दफनाने की तैयारी करने लगे तब मुर्दा घोषित किए गए शख्स के शरीर में हलचल दिखाई दी।

उसके बाद उसे परिजन दूसरे अस्पताल में लेकर गए, जहां उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है।

आइये, जानते हैं कि यह पूरा मामला क्या है और इसमें कहां गड़बड़ सामने आई।

मामला

परिजन कर चुके थे दफनाने की तैयारी

यह मामला लखनऊ का है। यहां के एक प्राइवेट अस्पताल में 20 वर्षीय युवक फुरकान को एक्सीडेंट के बाद 21 जून को भर्ती कराया गया था।

अस्पताल के डॉक्टरों ने सोमवार को फुरकान को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद फुरकान के घरवाले उसे दफनाने की तैयारी करने लगे।

अस्पताल ने एंबुलेंस में फुरकान को मृत बताकर उसका शव घर भेज दिया।

इसी दौरान किसी ने फुरकान के अंगो में हलचल देखी और उसे फिर अस्पताल लेकर गए।

मामला

पैसे खत्म होने की बात कही तो डॉक्टरों ने बता दिया मृत

फुरकान के भाई मोहम्मद इरफान ने बताया कि वो फुरकान को दफनाने की तैयारी कर रहे थे, इसी दौरान किसी ने उनके अंगों में हलचल देखी। जिसके बाद वो उसे दूसरे अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने बताया कि फुरकान जिंदा है और उसे वेंटिलेटर पर रखना होगा।

इरफान ने कहा कि उन्होंने प्राइवेट अस्पताल में सात लाख रुपये खर्च किए हैं। जब उन्होंने पैसे खत्म होेने की बात कही तो डॉक्टरों ने फुरकान को मृत घोषित कर दिया।

अजब-गजब की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

जांच की बात

मामले की जांच होगी- CMO

अब फुरकान का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि मरीज की हालत गंभीर बनी हुई है, लेकिन वह जिंदा है। उसे नसें, ब्लड प्रेशर और अंग काम कर रहे हैं। उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है।

वहीं जब इस मामले को लेकर लखनऊ के चीफ मेडिकल ऑफिसर (CMO) से बात की गई तो उन्होंने जांच की बात की।

उन्होंने कहा कि मामला उनके संज्ञान में है और इसकी गहनता से जांच की जाएगी।

खबर शेयर करें

लखनऊ

उत्तर प्रदेश

डॉक्टरों

खबर शेयर करें

अगली खबर