कोहली ने बताया धोनी को सात नंबर पर क्यों भेजा

खेलकूद

11 Jul 2019

कोहली ने बताया धोनी को सात नंबर पर भेजने का कारण, दिग्गज खिलाड़ियों ने उठाए सवाल

2019 क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद हर कोई यह जानना चाहता है कि कप्तान कोहली ने बेहद अहम इस मैच में अनुभवी बल्लेबाज़ एम एस धोनी को सात नंबर पर क्यों भेजा।

सिर्फ तीन रनों पर तीन विकेट गिर जाने के बाद हर कोई धोनी का इंतज़ार कर रहा था, लेकिन कोहली ने धोनी से पहले कार्तिक और पंड्या को बल्लेबाज़ी के लिए भेजा।

हालांकि, इसका जवबा कोहली ने खदु दिया है।

प्रेस काफ्रेंस

धोनी को निचले क्रम में भेजना गेम प्लान था- कोहली

न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 रनों से हारने के बाद कप्तान कोहली ने प्रेस काफ्रेंस में कहा, "शुरुआती मैचों के बाद धोनी को निचले क्रम में खेलने की भूमिका दी गई। यह गेम प्लान था।"

उन्होंने आगे कहा, "मुझे लगता है कि आज धोनी ने जडेजा के साथ अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। टीम में एक अच्छा संतुलन होना चाहिए, अगर एक खिलाड़ी गेंद को अच्छी तरह से मार रहा है, तो दूसरे खिलाड़ी को दूसरी तरफ से सेफ खेलना होगा।"

आलोचना

दिग्गज खिलाड़ियों ने कोहली के फैसले पर उठाए सवाल

धोनी जब बल्लेबाज़ी के लिए आए तो भारत के 71 रनों पर पांच विकेट गिर चुके थे। इसके बाद धोनी ने एक छोर संभाले रखा, लेकिन 92 के स्कोर पर छठा विकेट गिर गया।

इसके बाद धोनी ने जडेजा के साथ 116 रनों की साझेदारी की, लेकिन जब 10 गेंदो में जीत के लिए 23 रनों की ज़रूरत थी, तो वह रन आउट हो गए।

सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और सचिन तेंदुलकर ने इस फैसले को लेकर सवाल उठाएं हैं।

खेलकूद की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

पंड्या और कार्तिक से पहले धोनी को भेजना चाहिए था- लक्ष्मण

पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने कहा, "धोनी को निचले क्रम में भेजना सबसे बड़ी गलती थी। वे धोनी को पांच नंबर पर भेजकर दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या के विकेट बचा सकते थे। धोनी युवा पंत के साथ साझेदारी कर सकते थे।"

बातचीत

गांगुली ने भी कोहली के फैसले को बताया गलत

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि आप ऐसे मौके पर धोनी को सात नंबर पर बल्लेबाज़ी के लिए कैसे भेज सकते हैं।

गांगुली ने कहा, "धोनी जल्दी बल्लेबाज़ी करने नहीं आ सका और पूरी पारी नहीं खेल सका। अगर धोनी पहले आते, तो हमारे पास जडेजा, पंड्या और कार्तिक जैसे बल्लेबाज़ रहते। कार्तिक सिर्फ तभी संघर्ष करता है, जब उसे पारी को बिल्ड करना होता है। आखिरी चार से पांच ओवर में वह मैच फिनिश कर सकता था।"

सचिन ने भी उठाए सवाल

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भी धौनी के सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के फैसले को गलत बताया। उन्होंने कहा कि धौनी को जल्दी नहीं भेजना बहुत बड़ी गलती थी। उन्होंने कहा कि दिनेश कार्तिक को पांचवें नंबर पर भेजना उनकी समझ से परे है।

खबर शेयर करें

विराट कोहली

क्रिकेट

महेन्द्र सिंह धोनी

सौरव गांगुली

वीवीएस लक्ष्मण

क्रिकेट विश्व कप

खबर शेयर करें

अगली खबर