सबसे ज़्यादा सैलरी देने वाली टीम है इंग्लैंड

खेलकूद

12 Jun 2019

विश्व कप खेल रही सभी 10 टीमों के खिलाड़ियों को कितनी सैलरी मिलती है? जानें

दुनियाभर के सभी क्रिकेट बोर्ड हर साल खूब कमाई करते हैं और फिर उसी में से अपने खिलाड़ियों को सैलरी देते हैं।

बोर्ड अपने खिलाड़ियों को सालाना कॉन्ट्रैक्ट देते है और खिलाड़ियों को अलग-अलग कैटेगिरी में रखते है।

जो खिलाड़ी टीम के लिए हर फॉर्मेट खेलते हैं और लगातार टीम के साथ रहते हैं, उनको सबसे ज़्यादा सैलरी वाली कैटेगिरी में रखा जाता है।

जानें, विश्व कप में हिस्सा ले रही सभी टीमों की कुल सैलरी कितनी है।

#1

सबसे ज़्यादा सैलरी देता है इंग्लैंड

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने सितंबर 2018 में 10 टेस्ट कॉन्ट्रैक्ट और 13 छोटे फॉर्मेट के कॉन्ट्रैक्ट दिए थे।

टेस्ट क्रिकेट को ज़्यादा मान्यता देने वाले इंग्लैंड के कॉन्ट्रैक्ट में टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ियों की सैलरी सबसे ज़्यादा होती है।

विश्व कप खेल रही टीम के 15 में से 12 खिलाड़ियों के पास सालाना कॉन्ट्रैक्ट है और टीम की कुल सैलरी 99,50,000 यूरो (लगभग 78 करोड़ रुपये) है।

इंग्लैंड का एक खिलाड़ी लगभग 1 से 13 करोड़ रुपये तक कमाता है।

#2

दूसरी सबसे ज़्यादा सैलरी वाली टीम है भारत

BCCI दुनिया का सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड है। 2019-20 सीजन के लिए कुल 25 खिलाडि़यों चार कैटेगिरी में बांट कर सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है।

ग्रेड-A+ के खिलाड़ी को सात करोड़ रुपये तो वहीं ग्रेड-A के खिलाड़ी को पांच करोड़ रुपये की सालाना सैलरी दी जाती है।

विश्व कप में हिस्सा ले रहे 15 खिलाड़ियों में से विजय शंकर को छोड़ कर 14 खिलाड़ियों के पास सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट है। भारतीय खिलाड़ी कुल मिलाकर 62 करोड़ रुपये कमाते हैं।

खेलकूद की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

#3

25 करोड़ रुपये से ज़्यादा सैलरी देता है दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट ने 2019-20 सीजन के लिए 16 खिलाड़ियों को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट दिया है।

तीनों फॉर्मेट में खेलने वाले खिलाड़ी को 5 लाख डॉलर (लगभग 3 करोड़ 47 लाख रुपये) की सैलरी दी जाती है जो सबसे ज़्यादा है।

डेल स्टेन के बाहर हो जाने के बाद अफ्रीका की वर्तमान विश्व कप टीम के नौ खिलाड़ियों के पास सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट है।

सभी खिलाड़ियों की सैलरी मिलाकर अफ्रीका 25.32 करोड़ रुपये सैलरी के रूप में देता है।

#4

20 करोड़ से ज़्यादा है कंगारुओं की बेस सैलरी

पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को रेवेन्यू का 26 प्रतिशत हिस्सा दिया जाता था, लेकिन अब उन्हें 30 प्रतिशत हिस्सा दिया जा रहा है।

इस एग्रीमेंट के पहले साल में पुरुष क्रिकेटर की बेस सैलरी 2 लाख 78 हजार ऑस्ट्रेलियन डॉलर (लगभग 1 करोड़ 34 लाख रुपये) है।

पांच साल की इस डील की कुल कीमत 500 मिलियन ऑस्ट्रेलियन डॉलर है।

खिलाड़ियों की बेस सैलरी ही 41,71,500 ऑस्ट्रेलियन डॉलर (लगभग 20 करोड़ 15 लाख रुपये) है।

#5

लगभग 18.72 करोड़ है न्यूजीलैंड की संयुक्त सैलरी

न्यूजीलैंड क्रिकेट ने कुछ हफ्तों पहले ही सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में 20 खिलाड़ियों को शामिल किया था।

खिलाड़ियों को 1-20 के क्रम में रखा गया है और उन्हें उसी के हिसाब से सैलरी भी दी जाती है।

एक खिलाड़ी की औसत सैलरी 1,80,000 डॉलर (लगभग 1 करोड़ 25 लाख रुपये) है।

विश्व कप में हिस्सा ले रहे सभी 15 खिलाड़ी सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल हैं तो टीम की कुल सैलरी लगभग 27,00,000 डॉलर (लगभग 18 करोड़ 72 लाख रुपये) है।

#6

17 करोड़ से ज़्यादा है श्रीलंका टीम की सैलरी

श्रीलंका ने मई 2018 में आखिरी बार अपने सालाना सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की घोषणा की थी और इस सीजन के लिए उन्होंने अब तक कोई बदलाव नहीं किया है।

पिछले साल श्रीलंका ने 33 खिलाड़ियों को A,B,C,D और प्रीमियर कैटेगिरी में बांटा था।

रिपोर्ट्स की मानें तो विश्व कप खेल रहे 15 में से 11 खिलाड़ियों के पास सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट है।

टीम की कुल सैलरी 25,02,280 डॉलर (लगभग 17 करोड़ 36 लाख रुपये) है।

#7

लगभग 13 करोड़ रुपये है विंडीज टीम की सैलरी

वेस्टइंडीज क्रिकेट ने अक्टूबर 2018 में कुल 18 खिलाड़ियों को सालाना कॉन्ट्रैक्ट दिया था जो इस साल 30 जून, 2019 तक चलेगा।

फॉर्मेट के हिसाब से खिलाड़ियों को कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है और जो खिलाड़ी सभी फॉर्मेट में खेलते हैं उन्हें 3,00,000 डॉलर (लगभग 2 करोड़ 8 लाख रुपये) की सैलरी दी जाती है।

विश्व कप खेल रही विंडीज टीम में केवल 7 खिलाड़ियों को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट हासिल है। जिसकी कुल सैलरी लगभग 13 करोड़ रुपये है।

#8

लगभग चार करोड़ रुपये है पाकिस्तान की सैलरी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अगस्त 2018 में सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की घोषणा की थी। कुल 33 खिलाड़ियों को कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था और उन्हें पांच कैटेगिरी में बांटा गया था।

समा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान A कैटेगिरी के खिलाड़ियों को लगभग 3.8 लाख रुपये सैलरी के रूप में देता है।

मोहम्मद हसनैन को छोड़कर विश्व कप खेल रहे पाकिस्तान के सभी खिलाड़ी सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में हैं। कुल मिलाकर वे सालाना लगभग 3 करोड़ 91 लाख रुपये कमा रहे हैं।

#9

तीन करोड़ से ज़्यादा है बांग्लादेशी खिलाड़ियों की सैलरी

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने इस साल 12 खिलाड़ियों को सालाना सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट दिया है।

खिलाड़ियों को चार ग्रेड में बांटा गया है और हर ग्रेड की सैलरी अलग-अलग है।

विश्व कप में हिस्सा ले रहे 15 में से 11 खिलाड़ियों के पास ही सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट है।

यदि इन 11 खिलाड़ियों की सालाना सैलरी की बात करें तो यह 4,55,000 लाख डॉलर (लगभग 3 करोड़ 16 लाख रुपये) है।

#10

72 लाख तक कमा लेती है अफगानिस्तान की टीम

अफगानिस्तान क्रिकेट अपने खिलाड़ियों को मासिक वेतन के रूप में भुगतान करती है। खिलाड़ियों की औसत सैलरी 550 डॉलर (लगभग 38,000 रुपये) है।

बोनस और अन्य चीजों को मिला लें तो एक खिलाड़ी साल में लगभग 7,000 डॉलर की कमाई कर लेता है।

कप्तान की सैलरी अन्य खिलाड़ियों से ज़्यादा होती है तो उन सबको मिलाकर अफगानिस्तान की टीम की सालाना सैलरी लगभग 1,05,000 डॉलर (लगभग 72 लाख रुपये) है।

खबर शेयर करें

पाकिस्तान क्रिकेट टीम

बांग्लादेश क्रिकेट टीम

भारतीय क्रिकेट टीम

ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट टीम

क्रिकेट विश्व कप

खबर शेयर करें

अगली खबर