गूगल असिस्टेंट इस्तेमाल करते हैं तो हो जाइये सावधान

टेक्नोलॉजी

12 Jul 2019

गूगल असिस्टेंट इस्तेमाल करते हो तो सावधान, कंपनी सुन रही है आपकी हर बात

अगर आप गूगल का आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) वॉइस असिस्टेंट गूगल असिस्टेंट इस्तेमाल करते हैं तो संभल जाइये।

हो सकता है कि गूगल आपकी हर बात सुन रही हो। दरअसल, गूगन ने यह बात मानी है कि वह अपने यूजर्स की वॉइस रिकॉर्डिंग को सुनती है।

गूगल की यह स्पष्टीकरण उस घटना के बाद आया है, जिसमें बेल्जियम के पब्लिक ब्रॉडकास्टर VRT ने गूगल असिस्टेंट की रिकॉर्डिंग को लीक किया था।

आइये, इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

दावा

बिना रिकॉर्डिंग वाली बात को भी सुनती है गूगल

VRT ने दावा किया था कि लीक हुई रिकॉर्डिंग्स में से कुछ को रिकॉर्ड किया गया था, लेकिन गूगल उन बातों को भी सुनती है जो कभी रिकॉर्ड नहीं की जाती।

इनमें कुछ संवेदनशील सूचनाएं भी हो सकती हैं। यह घटना सामने आने के बाद गूगल के प्रोडक्ट मैनेजर डेविड मोनसीस ने एक ब्लॉग में इस बात को स्वीकार किया कि कंपनी के लैंग्वेज एक्सपर्ट इन रिकॉर्डिंग को सुनते हैं ताकि गूगल बेहतर तरीके से किसी भाषा को समझ पाए।

स्वीकरण

गूगल ने बचाव में कही यह बात

डेविस ने लिखा कि ये एक्सपर्ट गूगल को भाषा की बेहतर समझ कराने के लिए उन रिकॉर्डिंग का रिव्यू करते हैं।

यह स्पीच टेक्नोलॉजी को बेहतर बनाने की एक प्रक्रिया है और यह गूगल असिस्टेंट जैसे प्रोडक्ट बनाने के लिए जरूरी है।

हालांकि, गूगल ने कहा कि वह सभी ऑडियो रिकॉर्डिंग का 0.2 फीसदी हिस्सा ही सुनती है।

कंपनी ने कहा कि इन रिकॉर्डिंग से किसी यूजर की निजी जानकारियों का पता नहीं चलता।

टेक्नोलॉजी की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

लीक हुई यूजर्स की पर्सनल जानकारियां

VRT ने रिपोर्ट में दावा किया कि असिस्टेंट से ली गई 1000 रिकॉर्डिंग्स में से 153 रिकॉर्डिंग्स में यूजर्स की निजी जानकारियां लीक हुई हैं। कई रिकॉर्डिंग में यूजर के घर के पता और एक रिकॉर्डिंग में यूजर के पोते का नाम जाहिर हुआ है।

गूगल असिस्टेंट

बिना परमिशन के भी रिकॉर्ड कर लेता है असिस्टेंट

जानकारी के लिए बता दें कि गूगल असिस्टेंट को एक्टिवेट करने के लिए यूजर्स को 'ओके गूगल' कहना पड़ता है या डिवाइस पर लगी असिस्टेंट बटन को प्रेस करना पड़ता है, जिसके बाद रिकॉर्डिंग शुरू होती है।

हालांकि, गूगल ने माना है कि कई बार असिस्टेंट किसी अन्य बात को 'ओके गूगल' सुनकर भी रिकॉर्डिंग शुरू कर देता है।

ऐसा तब होता है जब पीछे बहुत शोर हो रहा होता है।

अमेजन इको

इको की रिकॉर्डिंग सुनती है अमेजन

पिछले साल अमेजन ने भी यह बात स्वीकार की थी वह एलेक्सा में रिकॉर्ड हुई वॉइस के बहुत छोटे सैंपल को सुनती है।

कंपनी ने कहा कि वह उसके प्रोडक्ट इको (Echo) में रिकॉर्ड हुई वॉइस को स्पीच रिकगनेशन और सिस्टम को सिखाने के लिए सुनती है।

कंपनी का यह बयान तब सामने आया था जब एक रिपोर्ट में दावा किया गया कि इको में रिकॉर्ड हुई वॉइस को कंपनी के हजारों कर्मचारी सुन सकते हैं।

खबर शेयर करें

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

गूगल

डाटा सुरक्षा

डाटा लीक

खबर शेयर करें

अगली खबर