व्हाट्सऐप में बग खोजने पर मणिपुर के इंजीनियर को ईनाम

टेक्नोलॉजी

11 Jun 2019

मणिपुर के इंजीनियर को फेसबुक ने किया सम्मानित, कंपनी के लिए किया था यह बड़ा काम

फेसुबक ने मणिपुर के एक सिविल इंजीनियर को सम्मानित किया है। दरअसल, यहां के रहने वाले 22 वर्षीय सिविल इंजीनियर जोनेल सौगाईजाम ने फेसबुक के मालिकाना हक वाली व्हाट्सऐप में एक बग (खामी) का पता लगाया था।

इसके लिए फेसबुक ने जोनेल को 5,000 अमेरिका डॉलर (लगभग 3.5 लाख रुपये) का ईनाम और उनका नाम फेसबुक हाल ऑफ फेम 2019 में शामिल किया है।

आइये, जानते हैं कि जोनेल ने व्हाट्सऐप में क्या खामी तलाशी थी।

बग

जोनेल ने खोजा था यह बग

जोनेल ने बताया कि इस बग के कारण व्हाट्सऐप पर वॉइस कॉल के दौरान कॉलर बिना अगले यूजर को पता लगे वीडियो कॉल स्विच कर सकता था।

इस वजह से कॉलर यह देख पाता था कि अगला यूजर क्या कर रहा है। इस वजह से कॉल रिसीवर की निजता का हनन हो रहा था।

जोनेल ने कहा कि उन्होंने मार्च में इस बग को रिपोर्ट किया था और अगले ही दिन कंपनी ने इसका संज्ञान ले लिया था।

सम्मान

जोनेल का नाम हाल ऑफ फेम में शामिल

बग के रिपोर्ट होने के 15-20 दिन बाद फेसबुक की टेक्निकल टीम ने उस बग को दूर कर दिया।

जोनेल को भेजे ईमेल में फेसबुक ने कहा कि मामले को देखने के बाद कंपनी ने उन्हें 5,000 डॉलर का ईनाम देने का फैसला किया है।

जोनेल का नाम फेसबुक हाल ऑफ फेम 2019 में शामिल 94 लोगोें में 16वें नंबर पर शामिल है।

बता दें, फेसबुक ने 2014 में व्हाट्सऐप को खरीद लिया था।

टेक्नोलॉजी की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

ईनाम

केरल के छात्र को भी मिल चुका है ईनाम

केरल के एक 19 वर्षीय छात्र को भी हाल ही में यह सम्मान मिल चुका है। अलपुझा के रहने वाले अनंतकृष्णा माउंट जियान इंजिनियरिंग कॉलेज में पढ़ते हैं।

लगभग दो महीने पहले उन्होंने व्हाट्सऐप की खामी की तरफ फेसबुक का ध्यान दिलाया था, जिसे दूर किया गया। इसके बाद फेसबुक ने उन्हें सम्मानित किया था।

उनका नाम कंपनी की इस साल की थैंक्स लिस्ट में शामिल किया गया है।

अनंतकृष्णा ने लगया था इस बग का पता

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अनंतकृष्णा ने पाया कि व्हाट्सऐप में एक बग है जिसकी वजह से एक यूजर दूसरे यूजर की व्हाट्सऐप पर मौजूद सारी फाइल्स हटा सकता है और उसको इस बात का पता भी नहीं चलेगा।

पढ़ाई

एथिकल हैकिंग में रिसर्च कर रहे हैं अनंत

फेसबुक ने अनंतकृष्णा को लगभग 3.5 लाख रुपये का नकद ईनाम दिया और कंपनी के हाल ऑफ फेम में जगह देने का वादा किया है।

कंपनी यह सम्मान उसकी ऐप में गंभीर खामी की ओर ध्यान दिलाने वाले लोगों को देती है। बता दें, पिछले कुछ समय से फेसबुक और व्हाट्सऐप में कई बड़े बग आए हैं, जिन्होंने दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है।

अनंतकृष्णा एथिकल हैकिंग में रिसर्च करने के साथ-साथ केरल पुलिस के लिए भी काम करते हैं।

खबर शेयर करें

फेसबुक

व्हाट्सऐप

सोशल मीडिया

खबर शेयर करें

अगली खबर