गूगल देगी लोकेशन और वेब हिस्ट्री ऑटो-डिलीट करने का ऑप्शन

टेक्नोलॉजी

04 May 2019

लोकेशन और वेब हिस्ट्री अपने आप हो जाएगी डिलीट, गूगल ला रही नया फीचर

यूजर प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए गूगल ने एक बड़ा कदम उठाया है। कंपनी ने घोषणा की है अब उसके यूजर्स अपनी लोकेशन हिस्ट्री और वेब-ब्राउजिंग डाटा ऑटो डिलीट कर सकेंगे।

गूगल ने अपने ब्लॉग में इसके बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वो ऑटो-डिलीट कंट्रोल की घोषणा कर रही है जिससे अपना डाटा मैनेज करना पहले से आसान हो जाएगा।

आइये, जानते हैं कि गूगल का यह फीचर क्या है और इससे क्या फायदा होगा।

कंपनियों के प्राइवेसी बड़ा मुद्दा

गूगल, ट्विटर और फेसबुक जैसी कंपनियों के लिए यूजर प्राइवेसी हमेशा से एक बड़ा मुद्दा रही है। कई बार इस मामले में असफल होने के कारण इन कंपनियों को भारी आलोचना और कानूनी कार्रवाईयों का सामना करना पड़ा है।

कंट्रोल

ऐसे डिलीट होगा यूजर एक्टिविटी डाटा

अपने यूजर्स को उनके डाटा पर पहले से ज्यादा कंट्रोल देते हुए गूगल यह नया फीचर ला रही है।

इसमें यूजर्स के पास यह विकल्प होगा कि वो गूगल पर अपना कितना डाटा रखना चाहते हैं। इसमें यूजर को 3 महीने से लेकर 18 महीने के बीच का एक समय चुनना होगा।

अगर यूजर इसमें 3-6 महीने का समय चुनते हैं तो उसके बाद का पूरा यूजर एक्टिविटी डाटा अपने आप डिलीट कर दिया जाएगा।

टेक्नोलॉजी की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

फीचर

लोकेशन हिस्ट्री और वेब एक्टिविटी पर आएगा फीचर

लोकेशन हिस्ट्री और वेब एक्टिविटी पर आएगा फीचर

गूगल ने अपने बयान में कहा कि यूजर जितने समय का अपना एक्टिविटी डाटा स्टोर रखना चाहते हैं उस हिसाब से समय चुन सकते हैं।

अगर कोई 3-18 महीने का समय चुनते हैं तो इसके बाद का डाटा डिलीट हो जाएगा।

यह फीचर सबसे पहले लोकेशन हिस्ट्री, वेब और ऐप एक्टिविटी पर आएगा। अभी तक यह फीचर यूजर्स के लिए उपलब्ध नहीं हुआ है।

माना जा रहा है कि अगले कुछ महीनों में यह फीचर सबके लिए उपलब्ध होगा।

इसलिए यूजर एक्टिविटी डाटा स्टोर करती है गूगल

गूगल अपने यूजर का डाटा इसलिए स्टोर करती है ताकि उन्हें बेहतर सर्विस दी जा सके। जब कोई यूजर लोकेशन हिस्ट्री ऑन करता है तो गूगल उसे उस एरिया में रेस्टोरेंट, शॉपिंग सेंटर आदि की जानकारी देती है जो उसके लिए फायदेमंद हो सकती है।

फेसबुक

फेसबुक भी कर रही यूजर प्राइवेसी पर काम

गूगल के साथ-साथ सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक भी यूजर प्राइवेसी पर काम कर रही है। फेसबुक डेवलपर्स की बैठक में कंपनी के CEO मार्क जकरबर्ग ने कहा था कि भविष्य में प्राइवेसी बहुत अहम होने जा रही है।

इसे देखते हुए कंपनी अपने आप को नए सिरे से डिजाइन करने जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्राइवेसी के मामले में फेसबुक अपनी सर्वश्रेष्ठ स्थिति में नहीं है और उसे बेहतर करने की जरूरत है।

खबर शेयर करें

ट्विटर

फेसबुक

गूगल

सोशल मीडिया

खबर शेयर करें

अगली खबर