गूगल ने प्ले स्टोर से हटाई 46 ऐप्स

टेक्नोलॉजी

29 Apr 2019

गूगल ने प्ले स्टोर से हटाई एक ही कंपनी की 46 ऐप्स, जानिये वजह

मालवेयर, साइबर हमले और डाटा लीक की आशंका को देखते हुए गूगल ने प्ले स्टोर से 46 ऐप्स को हटा दिया है।

ये ऐप्स DO ग्लोबल ने डेवलप की थी। इस कंपनी में चीन की जानी-मानी कंपनी बायडू (Baidu) की हिस्सेदारी है।

प्ले स्टोर से हटाई गई ऐप्स यूजर्स के साथ धोेखे से यूजर्स से मालिकाना हक की जानकारी छिपा रही थी। साथ ही गूगल ने DO ग्लोबल पर अपनी एडमोब (AdMob) सर्विस इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है।

एक्शन

गूगल की सबसे बड़ी कार्रवाईयों में से एक

प्ले स्टोर पर इस कंपनी की लगभग 100 अलग-अलग ऐप्स मौजूद थी, जिसमें से 46 को हटा दिया गया है। इन ऐप्स के 60 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड थे।

बजफीड के मुताबिक, गूगल इस डेवलपर की बाकी ऐप्स को भी अपने प्लेटफॉर्म से हटाने जा रही है।

यूजर्स के साथ धोखाधड़ी करने वाली ऐप्स के खिलाफ यह गूगल की सबसे बड़ी कार्रवाईयों में से एक है, जिसके तहत एक साथ 46 ऐप्स को प्ले स्टोर से हटाया गया है।

नियम

प्ले स्टोर के नियमों का हो रहा था उल्लंघन

इससे पहले बजफीड ने यह खुलासा किया था कि DO ग्लोबल की छह ऐप्स में ऐसा कोड है जिससे यूजर्स द्वारा इस्तेमाल किए बगैर ऐड पर लगातार क्लिक होते रहते हैं।

इन ऐप्स को अलग-अलग डेवलपर्स के नाम से प्ले स्टोर पर लिस्ट किया गया था, जिससे यह पता नहीं चलता था कि ये ऐप्स DO ग्लोबल की हैं।

यूजर्स से डेवलपर की जानकारी छिपाना और ऐड फ्रॉड प्ले स्टोर के नियमों के खिलाफ है।

टेक्नोलॉजी की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

गुमराह

यूजर्स को किया जा रहा था गुमराह

बजफीड की रिपोर्ट के बाद गूगल ने उन छह ऐप्स को हटा दिया था। गूगल ने बताया कि उसके सिस्टम ने इस डेवलपर्स की अधिकतर ऐप्स हटाने को कहा है।

इसके बाद बीते हफ्ते गूगल ने 40 और ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया। प्ले स्टोर पर इन ऐप्स के साथ अलग-अलग एड्रेस और कॉन्टेक्ट इंफोर्मेशन दी हुई थी, जिससे साधारण यूजर्स के लिए इनकी धोखाधड़ी को पकड़ पाना काफी मुश्किल था।

एक्शन

पहले भी प्ले स्टोर से हटाई गई हैं ऐप्स

यह पहली बार नहीं है जब गूगल प्ले स्टोर से ऐसी ऐप्स को हटा रही है। इससे पहले कई बार कंपनी ने ऐसा किया है।

कुछ दिन पहले कंपनी ने ऐप स्टोर से ऐसी ऐप्स को हटाने का फैसला किया था, जो बिना जरूरत यूजर्स से निजी जानकारी इस्तेमाल करने की परमिशन मांगती थी।

इसलिए गूगल ने अपनी पॉलिसी बदलते हुए ऐसी ऐप्स निर्धारित कर दी हैं जिन्हें SMS और कॉल लॉग की परमिशन चाहिए होती है।

नियम

ऐसी ऐप्स पर एक्शन लेगी कंपनी

गूगल ने पिछले साल अक्तूबर में इस कदम का ऐलान किया था।

इसके लिए गूगल ने ऐसे सभी ऐप डेवलपर्स से परमिशन डिक्लेरेशन फॉर्म मांगा था, जिनकी ऐप्स में कॉल लॉग और SMS परमिशन मांगी जाती थी।

ऐसे डेवलपर्स से ये फॉर्म जमा करने या परमिशन हटाने की बात कही गई थी।

अब इसकी समयसीमा बीत जाने के बाद गूगल उन डेवलपर्स की ऐप हटा रही है जिन्होंने यह फॉर्म जमा नहीं किया है।

खबर शेयर करें

मालवेयर

गूगल

मोबाइल ऐप्स

डाटा लीक

गूगल प्ले स्टोर

खबर शेयर करें

अगली खबर