इंटरनेट एक्सप्लोरर की मदद से हैक हो सकता है डाटा

टेक्नोलॉजी

15 Apr 2019

अगर आपके लैपटॉप में है इंटरनेट एक्सप्लोरर तो तुरंत करें अनइंस्टॉल, हो सकता है यह खतरा

क्या आपके लैपटॉप या कंप्यूटर में इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer) ब्राउजर है? अगर आपका जवाब हां है, तो इसे तुरंत अनइंस्टॉल कर दें।

हालांकि, बहुत लोग इसका इस्तेमाल नहीं करते हैं, लेकिन फिर भी अगर आपके पास यह ब्राउजर हैं तो इसे हटा दें।

जॉन पेज नामक एक सिक्योरिटी रिसर्चर ने पाया है कि आपके कंप्यूटर में इंस्टॉल इंटरनेट एक्सप्लोरर की मदद से हैकर आपका डाटा चुरा सकते हैं।

आइये, इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

खामी

ऐसे होता है डाटा सुरक्षा से समझौता

जॉन ने अपनी रिसर्च में पाया कि यह ब्राउजर जब .MHT फाइल्स (वेब आर्काइव के लिए ब्राउजर का फॉर्मेट) को प्रोसेस करता है तो हैकर्स को हैक करने का मौका मिल जाता है।

आजकल ब्राउजर में .MHT फॉर्मेट इस्तेमाल नहीं होता, इसलिए ऐसी फाइल खोलने के लिए विंडो डिफॉल्ट के तौर पर इंटरनेट एक्सप्लोरर की मदद से उस फाइल को खोल देता है।

यानी अगर आपके पास कोई अटैचमेंट आती है तो भी आपका डाटा हैक किया जा सकता है।

बिना इस्तेमाल किये भी चुराया जा सकता है डाटा

अगर आपके पास यह ब्राउजर है और आप इसे कभी ओपन नहीं करते तब भी यह खतरे से खाली नहीं है। इसका मतलब है कि अगर आपके सिस्टम में इंटरनेट एक्सप्लोरर इंस्टॉल है तो आपका डाटा चुराया जा सकता है।

टेक्नोलॉजी की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

प्रतिक्रिया

यह था माइक्रोसॉफ्ट का जवाब

जॉन ने यह टेस्ट ब्राउजर के लास्ट वर्जन पर किया है। इससे विंडो 7, विडो 10 और विंडो 2012 R2 इस्तेमाल करने वाले यूजर्स प्रभावित होंगे।

उन्होंने इस खामी को सार्वजनिक करने से पहले मार्च में माइक्रोसॉफ्ट से संपर्क किया था।

कंपनी ने इस पर खास ध्यान नहीं देते हुए कहा कि अगली अपडेट में इस खामी को दूर कर लिया जाएगा। माइक्रोसॉफ्ट के इस जवाब ने जॉन को चकित कर दिया।

यूजर्स के लिए चिंता की बात

हालांकि, कुल इंटरनेट यूजर्स का केवल 10 प्रतिशत हिस्सा ही फिलहाल इंटरनेट एक्सप्लोरर का इस्तेमाल कर रहा है, लेकिन इन यूजर्स की सुरक्षा के प्रति कंपनी की लापरवाही चिंता का विषय है।

खबर शेयर करें

माइक्रोसॉफ्ट

डाटा सुरक्षा

डाटा लीक

लैपटॉप

खबर शेयर करें

अगली खबर