उमर खालिद पर हमला करने वाले व्यक्ति को टिकट

राजनीति

09 Oct 2019

हरियाणा: उमर खालिद पर हमला करने वाला शख्स लड़ेगा विधानसभा चुनाव, शिवसेना ने दिया टिकट

शिवसेना ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्र रहे उमर खालिद पर हमला करने वाले शख्स को टिकट दिया है।

नवीन दलाल नामक शख्स को बहादुरगढ़ से टिकट दिया गया है।

खुद को गोरक्षक बताने वाले नवीन छह महीने पहले ही शिवसेना से जुड़े थे और उन्हें लगता है कि राष्ट्रवाद और गोरक्षा पर उनकी और शिवसेना की विचारधारा मिलती है।

हरियाणा में 21 अक्टूबर को मतदान होना है, वहीं नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे।

हमला

दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब के बाहर किया था नवीन ने खालिद पर हमला

नवीन ने अपने साथी दरवेश शाहपुर के साथ मिलकर अगस्त 2018 में दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब के बाहर उमर खालिद पर गोली चलाई थी।

हमले के समय नवीन की बंदूक जाम हो गई थी और इस कारण खालिद बाल-बाल बच गए थे।

नवीन और शाहपुर मौके से भागने में कामयाब रहे थे और उन्होंने बाद में वीडियो जारी करते हुए कहा था कि उनका हमला देश को स्वतंत्रता का तोहफा था।

वह अभी जमानत पर बाहर हैं।

बयान

नवीन ने कहा- भाजपा और कांग्रेस का गाय और राष्ट्रवाद से कुछ लेना-देना नहीं

टिकट मिलने के बाद 'इंडियन एक्सप्रेस' से बातचीत में नवीन ने कहा, "मैं और शिवसेना राष्ट्रवाद, गोरक्षा और हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को पहचान की समान लड़ाई लड़ रहे हैं। कांग्रेस और भाजपा की सरकारों का गाय, राष्ट्रवाद, किसान और गरीब से कुछ लेना-देना नहीं है। वो केवल राजनीति करते हैं।"

खालिद पर हमले के बारे में उन्होंने कहा, "ये केवल उमर खालिद के बारे में नहीं है। इसमें और कुछ भी है। मैं किसी और दिन इस पर बोलूंगा।"

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

बातचीत

फौज में जाना चाहते थे नवीन

बातचीत में नवीन ने बताया कि उनका फौज में भर्ती होने का बहुत मन था और उन्होंने इसके लिए कई बार कोशिश भी की, लेकिन लिखित परीक्षा पास नहीं कर पाए।

नवीन को कुश्ती का भी शौक था और वह अपने गांव के मिट्टी के दंगल में हिस्सा लिया करते थे।

वह 60 किलोग्राम कैटेगरी में राज्य स्तर पर खेल भी चुके हैं। लेकिन 2010 में चोट लगने के बाद उनको कुश्ती छोड़नी पड़ी।

देश के लिए कुछ करना चाहते थे इसलिए शुरू की गोरक्षा

नवीन ने बताया कि इन सब के बावजूद वह देश के लिए कुछ करना चाहते थे और इसलिए गोरक्षा शुरू कर दी। उसका 'गोरक्षक सेना' नामक एक संगठन भी है। चुनाव प्रचार के पोस्टर्स में भी उन्होंने अपने नाम के आगे गोरक्षक लगा रखा है।

बयान

शिवसेना ने की टिकट देने की पुष्टि

वहीं नवीन की उम्मीदवारी की पुष्टि करते हुए शिवसेना के हरियाणा (दक्षिण) प्रमुख विक्रम यादव ने कहा, "वह गोरक्षा जैसे मुद्दों पर लड़ रहा है और जो लोग देश विरोधी नारे लगाते हैं उनके खिलाफ आवाज उठा रहा है। इसलिए हमने उसे चुना है।"

खालिद पर हमले पर नवीन को बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि हमला नवीन का देशप्रेम दिखाने का तरीका था और उसे इस बात पर गुस्सा था कि खालिद के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

नवीन पर चल रहे हैं तीन मुकदमे

चुनावी हलफनामे के अनुसार, नवीन पर खालिद पर हमले के अलावा दो अन्य मुकदमे भी चल रहे हैं। इनमें से एक दंगा करने के लिए बहादुरगढ़ में और दूसरा भाजपा कार्यालय में गाय का क्षत-विक्षत सिर लेकर पहुंचने के लिए दिल्ली में दर्ज है।

खबर शेयर करें

हरियाणा

शिवसेना

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय

कुश्ती

उमर खालिद

खबर शेयर करें

अगली खबर