DUSU चुनाव में ABVP ने जीती तीन सीटें

राजनीति

13 Sep 2019

DU छासंघ चुनाव में ABVP का परचम, अध्यक्ष सहित चार में से तीन सीट पर कब्जा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (DUSU) के चुनाव में शीर्ष चार में तीन सीट पर कब्जा किया है।

ABVP के खाते में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव का पद आया है।

वहीं कांग्रेस के छात्र संगठन नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) को मात्र सचिव के पद से संतोष करना पड़ा।

पिछले साल भी DUSU चुनावों का परिणाम ऐसा ही रहा था।

चुनाव परिणाम

किसे मिला कौन सा पद?

अध्यक्ष पद के लिए मुख्य मुकाबला ABVP के अश्वित दहिया और NSUI की चेतना त्यागी के बीच था, जिस पर अश्वित ने 19,000 मतों के बड़े अंतर से जीत दर्ज की।

उपाध्यक्ष के पद पर ABVP के प्रदीप तंवर ने 8,574 मतों और संयुक्त सचिव के पद पर ABVP की शिवांगी कारवाल ने 2,914 मतों के अंतर से कब्जा जमाया।

सचिव के पद के लिए NSUI के आशीष लांबा ने ABVP के योगी राठी को 2,053 मतों से शिकस्त दी।

मतदान

कल हुआ था मतदान

DUSU की इन चार पदों पर कल (गुरुवार) को मतदान हुआ था, जिसमें 39.90 प्रतिशत छात्रों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

पिछले साल 44.46 प्रतिशत के मुकाबले इस बार मतदान प्रतिशत में चार प्रतिशत की कमी आई।

मतगणना आज सुबह 8:30 बजे शुरू होनी थी, लेकिन उम्मीदवारों के देरी से आने के कारण ये दो घंटे बाद शुरू हुई।

सुबह से ही रुझानों में ABVP आगे चल रही थी।

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

16 उम्मीदवार थे मैदान में

चुनाव में चार महिलाओं समेत कुल 16 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर थी। पूरे कैंपस में 52 मतदान केंद्रों की 144 EVM पर 1.3 लाख छात्रों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस बीच EVM में खराबी की खबरें भी आई थीं।

बयान

"कैंपस की राजनीति में दिलचस्पी नहीं ले रहे छात्र, इसलिए कम हुआ मतदान"

DU के पूर्व मुख्य चुनाव अधिकारी डीएस रावत ने मतदान प्रतिशत कम रहने के लिए बदलते राजनीतिक माहौल को जिम्मेदार बताया है।

उन्होंने कहा, "पूरे दिन छात्रों की उपस्थिति कम रही। DU का राजनीतिक माहौल बदल गया है। छात्र अब कैंपस की राजनीति में उतनी दिलचस्पी नहीं लेते जितनी वो पहले लेते थे। अगर विश्वविद्यालय ने छात्रसंघ और कॉलेज संघ के चुनाव साथ नहीं कराए होते तो मतदान प्रतिशत और कम रहता।"

खबर शेयर करें

कांग्रेस

चुनाव

ABVP

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS)

चुनाव परिणाम

NSUI

खबर शेयर करें

अगली खबर