पाकिस्तान के UN को लिखे पत्र में खट्टर का जिक्र

राजनीति

29 Aug 2019

UN में पाकिस्तान का पत्र: राहुल के नाम पर शोर, खट्टर के नाम पर भाजपा चुप

बुधवार को भाजपा ने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। खबरें आई थीं कि पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को लिखे पत्र में राहुल गांधी के कश्मीर पर दिए बयान का जिक्र किया था।

इसके बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि राहुल ने अपने 'गैर जिम्मेदाराना' बयान से देश का अपमान किया है।

जावड़ेकर ने राहुल पर तो जमकर निशाना साधा, लेकिन यह नहीं बताया कि पाकिस्तान के पत्र में मनोहर लाल खट्टर के बयान का भी जिक्र था।

बयान

राहुल के इस बयान पर भाजपा ने जताई थी आपत्ति

केंद्रीय मंत्री जावडेकर ने कहा, "राहुल ने कहा था कि जम्मू एवं कश्मीर में सही नहीं हो रहा है, लोगों के मरने की ख़बरें आ रही हैं। आप (राहुल) गलत हैं। जम्मू एवं कश्मीर में सब ठीक है, कोई हिंसा नहीं हो रही है।"

राहुल पर लोगों को भड़काने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, "राहुल की कश्मीर जाने की कोशिश भी लोगों को भड़काने के लिए की गई थी और उन्हें और कांग्रेस माफी मांगनी चाहिए।"

राजनीति

राहुल पर हल्ला, खट्टर और सैनी का नाम गायब

राहुल के बयान को लेकर भाजपा आक्रामक हो गई, लेकिन शायद पार्टी ने खट्टर और भाजपा विधायक विक्रम सैनी के बयान पर ध्यान नहीं दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने अपने पत्र में 'युद्ध के हथियार के तौर पर लिंग आधारित हिंसा' सेक्शन में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और सैनी के बयान का जिक्र किया है।

खट्टर और सैनी ने विशेष दर्जा समाप्त होने के बाद कश्मीरी महिलाओं को लेकर विवादित बयान दिया था।

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

बयान

पाकिस्तान ने किया खट्टर और सैनी के इन बयानों का जिक्र

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को लिखे पत्र में सैनी के बयान को लिखा है, 'मुस्लिम कार्यकर्ताओं को नई व्यवस्था के बाद खुश होना चाहिए। वो अब कश्मीर की गोरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे।'

वहीं खट्टर का जिक्र करते हुए उनका बयान लिखा है, 'कुछ लोग कहते हैं कि कश्मीर का रास्ता साफ है। अब वहां से दुल्हन लाएंगे।'

इन दोनों बयानों को लेकर देश भी खूब हंगामा हुआ था। इन नेताओं पर मामला दर्ज करने की मांग उठी थी।

राजनीति

सामने आया भाजपा का पाखंड

पाकिस्तान ने अपने पत्र में भारत के तीन नेताओं के बयानों का जिक्र किया था।

इसमें से एक राहुल गांधी कांग्रेस से हैं, जबकि खट्टर और सैनी भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हैं।

जावड़ेकर के तर्कों के आधार पर जाएं तो राहुल के जिस बयान से देश का 'अपमान' हुआ है, वैसा ही 'अपमान' खट्टर और सैनी के बयानों से हुआ है, लेकिन भाजपा को सिर्फ राहुल का बयान दिखा।

इसे भारतीय जनता पार्टी का पाखंड नहीं तो क्या कहेंगे?

पलटवार

कांग्रेस ने जावड़ेकर को बताया मिसइन्फॉरमेशन मिनिस्टर

जावड़ेकर के राहुल गांधी को घेरने के बाद कांग्रेस ने पलटवार किया। भाजपा के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस ने कहा कि भाजपा अपना राजनीतिक स्तर और कितना गिराएगी।

जावडेकर पर हमला करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वह अब 'मिस इन्फॉरमेशन मिनिस्टर' बनकर रह गए हैं, जिनका काम लोगों को गलत सूचना देना रह गया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा को ओछी राजनीति छोड़कर कांग्रेस से माफी मांगनी चाहिए।

खबर शेयर करें

भारतीय जनता पार्टी

राहुल गांधी

कांग्रेस

प्रकाश जावड़ेकर

मनोहर लाल खट्टर

विवादित बयान

खबर शेयर करें

अगली खबर