गोवा में कांग्रेस के 10 विधायक भाजपा में शामिल

राजनीति

11 Jul 2019

गोवा में कांग्रेस को बड़ा झटका, 10 विधायकों ने थामा भाजपा का दामन

कर्नाटक में जनता दल (सेकुलर) के साथ गठबंधन सरकार बचाने में लगी कांग्रेस को गोवा में बड़ा झटका लगा है।

राज्य के 15 में से 10 कांग्रेस विधायक बुधवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

भाजपा का दामन थामने वाले विधायकों में नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर भी शामिल हैं।

कावलेकर की अगुवाई में इन विधायकों ने बुधवार शाम विधानसभा स्पीकर के ऑफिस में जाकर पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

विधानसभा का गणित

भाजपा के विधायकों की संख्या 27 पहुंची

कांग्रेस विधायकों के पार्टी में जुड़ने से गोवा में सत्तारूढ़ भाजपा के विधायकों की संख्या 27 पहुंच गई है।

वहीं विधानसभा चुनावों में 17 सीट जीतने वाली कांग्रेस के मात्र पांच विधायक बचे हैं। दो विधायक पहले ही भाजपा का दामन थाम चुके हैं।

माना जा रहा है कि गोवा सरकार जल्द मंत्रीमंडल में फेरबदल कर पार्टी में शामिल हुए नए विधायकों को मंत्री पद दे सकती है।

इसके लिए भाजपा अपने सहयोगियों को बाहर का रास्ता दिखा सकती है।

सभी विधायकों के कांग्रेस से इस्तीफे स्वीकार

कांग्रेस विधायकों के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर मुहर लगाते हुए गोवा विधानसभा स्पीकर राजेश पटनेकर ने कहा कि विधायक इस्तीफा देने आए और उन्होंने स्वीकार कर लिया। उन्होंने कहा कि विधानसभा का मानसूत्र 15 जुलाई से शुरू होगा।

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

अमित शाह और जेपी नड्डा से मिलने दिल्ली पहुंचे भाजपा से जुड़े विधायक

फेरबदल

ये विधायक हुए भाजपा में शामिल

कांग्रेस के चंद्रकांत कावलेकर, एटानेसियो मोन्सेरात, जेनिफर मोन्सेरात, फिलीप नेरी रोड्रीगस, नीलकंठ हरलांकर, फ्रांसिस्को सिल्वेरा, क्लेफेसियो डायस, ईसीदोर फर्नांडीज, विल्फ्रेड डीसा और टोनी फर्नांडीज भाजपा में शामिल हुए हैं।

राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने पार्टी में इनका स्वागत करते हुए कहा कि ये विधायक राज्य और अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए भाजपा में शामिल हुए हैं। इन विधायकों ने बिना किसी शर्त भाजपा ज्वॉइन की है।

बता दें, गोवा में 40 विधानसभा सीटें हैं।

बयान

विधायक बोले- विकास की खातिर हुए भाजपा में शामिल

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, दो महीने पहले हुए उपचुनाव में मनोहर पर्रिकर की सीट रही पणजी से विधायक चुने गए एटानेसियो मोन्सेरात ने इस घटनाक्रम के पीछे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

हालांकि, उन्होंने इस बात से इनकार करते हुए कहा यह फैसला कल ही हुआ है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने लोगों से वादे किए हैं जिन्हें पूरा करना है। विकास करने का यही सबसे बेहतर तरीका है। उन्होंने कहा कि उन्हें मंत्रालय की कोई चाहत नहीं है।

कांग्रेस

कांग्रेस विधायकों ने उठाए नेतृत्व पर सवाल

गोवा प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख गिरीश चोडणकर ने कहा कि भाजपा ने कांग्रेस विधायकों को शामिल कर सरकार में अपने सहयोगियों को लेकर असुरक्षा जाहिर की है।

बहुमत होने के बाद भी गोवा के मुख्यमंत्री का ऐसे अनैतिक कार्य करना यह दिखाता है कि वो मानसून सत्र में विपक्ष की एकजुटता से डर गए हैं।

वहीं कांग्रेस के पांच बाकी बचे विधायकों ने इसे लेकर नेतृत्व पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि पार्टी में एकता की कमी है।

खबर शेयर करें

कर्नाटक

भारतीय जनता पार्टी

गोवा

मनोहर पर्रिकर

कांग्रेस

अमित शाह

जेपी नड्डा

जनता दल (सेक्युलर)

खबर शेयर करें

अगली खबर