साध्वी के बयान पर मोदी की टिप्पणी

राजनीति

17 May 2019

साध्वी प्रज्ञा के बयान से नाराज प्रधानमंत्री मोदी, कहा- उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

प्रधानमंत्री मोदी ने साध्वी प्रज्ञा द्वारा गोडसे को देशभक्त बताये जाने पर नाराजगी प्रकट की है।

उन्होंने कहा कि वह इस बयान के लिए साध्वी प्रज्ञा को कभी माफ नहीं कर पाएंगे।

बता दें, प्रज्ञा ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त था, देशभक्त है और देशभक्त रहेगा।

उनके इस बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया था। भाजपा ने खुद को इस बयान से अलग करते हुए प्रज्ञा से 10 दिन में जवाब मांगा है।

नाराजगी

प्रधानमंत्री बोले- जितनी आलोचना की जाए उतना कम

प्रज्ञा के इस बयान पर पूछे गये सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "ये बयान भयानक खराब बयान है, आलोचना के लायक है। सभ्य समाज के अंदर इस तरह की भाषा नहीं चलती। ऐसा कहने वालों को आगे से 100 बार सोचना होगा। हर प्रकार से घृणा के लायक है, जितनी निंदा की जाए उतना कम है।"

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "चाहे उन्होंने माफी मांग ली हो, लेकिन मैं मन से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।"

कार्रवाई

भाजपा ने किया जवाब तलब

भारतीय जनता पार्टी ने साध्वी प्रज्ञा से उनके बयान को लेकर 10 दिन में जवाब मांगा है।

उनके अलावा पार्टी अध्यक्ष ने भाजपा सांसद नलिन कटील और केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े से भी जवाब मांंगा है।

इन दोनों नेताओं ने प्रज्ञा के बयान का समर्थन किया था।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट किया कि ये नेताओं के निजी बयान है और पार्टी से इनका कोई संबंध नहीं है।

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

बयान

साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को बताया था देशभक्त

मध्य प्रदेश में प्रज्ञा ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था।

उन्होने कहा, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबान में झांकें। इस चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।"

हालांकि, विवाद बढ़ने पर उन्होंने इस बयान के लिए माफी मांग ली। उन्होंने कहा कि वो गांधी जी की इज्जत करती हैं और उनका बयान गलत था।

समर्थन

अनंत हेगड़े ने किया था समर्थन

मोदी सरकार में मंत्री अनंत हेगड़े ने इस बयान का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, 'खुशी है कि 70 साल बाद बदले हुए वैचारिक माहौल में गोडसे पर बहस हो रही है और दोषी को सुने जाने के लिए अच्छी गुंजाइश दी जा रही है। नाथूराम गोडसे को आखिरकार इस बहस से खुशी हुई होगी।'

उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा, 'यह समय मुखर होने और बयान पर शर्मिंदा न होने का है।'

ट्वीट किया डिलीट

अनंत कुमार हेगड़े ने ट्वीट किया, 'मेरा ट्विटर अकाउंट कल हैक हो गया था। गांधी जी की हत्यारे के लिए कोई सहानुभूति नहीं हो सकती। उनके राष्ट्र के लिए योगदान का हम सभी का पूरा सम्मान है।'

समर्थन

भाजपा सांसद कटील ने की यह टिप्पणी

दो बार के सांसद और दक्षिण कन्नड़ से भाजपा प्रत्याशी नलिन कटील साध्वी के बयान का समर्थन करते-करते हुए राजीव गांधी के बारे में विवादास्पद बयान दे बैठे।

उन्होंने गोडसे, कसाब और राजीव गांधी तुलना कर दी। नलिन ने गुरुवार को कहा, "गोडसे ने एक को मारा, कसाब ने 72 को मारा, राजीव गांधी ने 17 हजार को मारा। अब आप खुद तय कर लो कि कौन ज्यादा क्रूर है।"

खबर शेयर करें

भोपाल

साध्वी प्रज्ञा

अमित शाह

महात्मा गांधी

लोकसभा चुनाव

प्रधानमंत्री मोदी

खबर शेयर करें

अगली खबर