वेंडर ने बांटे थे आतिशी के खिलाफ 300 आपत्तिजनक पर्चे

राजनीति

11 May 2019

आतिशी के खिलाफ आपत्तिजनक पर्चे विवादः वेंडर ने कहा- बांटने के लिए मिले थे 300 पर्चे

आम आदमी पार्टी (AAP) की उम्मीदवार आतिशी सिंह के खिलाफ बंटे आपत्तिजनक पर्चे मामले में नई जानकारी सामने आई है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, एक न्यूजपेपर वेंडर ने बताया कि उसे पूर्वी दिल्ली में ऐसे 300 पर्चे बांटने के लिए पैसे मिले थे।

AAP ने इन पर्चों के पीछे भाजपा उम्मीदवार गौतम गंभीर का हाथ होने का आरोप लगाया था। इसके जवाब में गंभीर ने कहा था कि अगर यह साबित होता है तो खुद को फांसी लगा लेंगे।

घटना

वेंडर को मिले थे 300 पर्चे

अपना नाम जाहिर न करने की शर्त पर इस वेंडर ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, "मुझे गुरुवार सुबह एक वेंडर से ऐसे 300 पर्चे मिले, जिसे मैंने समाचार पत्रों में डाल दिया। उसके बाद मेरे कर्मचारियों ने योजना विहार के A और C ब्लॉक और सविता विहार में समाचार पत्र बांट दिए।"

उन्होंने बताया, "इसके लिए मुझे 100 पर्चों के पीछे 15 रुपये मिले। ये पर्चे विवेक विहार के B ब्लॉक में वेंडर्स को भी दिए गए थे।"

मामला

इलाके के निवासियों को भी मिले आपत्तिजनक पर्चे

जब न्यूजपेपर वेंडर एसोसिएशन के महासचिव रमाकांत से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस बात से इनकार किया।

उन्होंने कहा कि उनके कर्मचारियों ने ये पर्चे नहीं बांटे हैं। ये किसी दूसरे व्यक्ति का काम हो सकता है।

उन्होंने बताया कि वे पिछले आठ दिनों से AAP के पर्चे समाचार पत्रों के साथ बांट रहे हैं, जिसमें आतिशी की उपलब्धियों का जिक्र है। आईपी एक्सटेंशन में रहने वाले निवासियों ने भी ये पर्चे मिलने की बात कही है।

राजनीति की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

शिकायत

पुलिस को FIR दर्ज करने का आदेश

इस बीच पूर्वी दिल्ली के निर्वाचन अधिकारी ने पुलिस को इस मामले में FIR दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

पूर्वी दिल्ली के DCP ने कहा कि उन्हें शिकायत मिली है और वो इस मामले में कानूनी सहायता ले रहे हैं।

वहीं AAP ने आपत्तिजनक पर्चों को लेकर शुक्रवार को गौतम गंभीर और भाजपा को मानहानि का नोटिस भेजा है।

इससे पहले गंभीर AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और आतिशी सिंह के खिलाफ मानहानि का केस कर चुके हैं।

आरोप

गंभीर ने कहा- आरोप साबित हुए तो फांसी लगा लूंगा

आम आदमी पार्टी (AAP) उम्मीदवार आतिशी के खिलाफ आपत्तिजनक पर्चे बांटने के आरोपों पर गौतम गंभीर ने कहा है कि अगर यह साबित हुआ तो वह खुलेआम खुद को फांसी लगा लेंगे।

इससे पहले भी वह अरविंद केजरीवाल और आतिशी को पर्चों से उनका संबंध साबित करने की चुनौती दे चुके हैं।

बता दें कि गंभीर पूर्वी दिल्ली सीट से भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर आतिशी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

चुनौती

गंभीर की केजरीवाल को आरोप सिद्ध करने की चुनौती

शुक्रवार को मामले पर ट्वीट करते हुए गंभीर ने केजरीवाल को फिर से चुनौती दी।

उन्होंने लिखा, "केजरीवाल और AAP को मेरी तीसरी चुनौती। अगर वो यह साबित कर दें कि मेरा इस पर्चे की गंदगी से कुछ लेना-देना है, तो मैं जनता के बीच खुद को फांसी लगा लूंगा। अन्यथा केजरीवाल को राजनीति छोड़नी होगी। स्वीकार है?"

गंभीर ने कल आरोप लगने के तुरंत बाद भी केजरीवाल को ऐसी ही चुनौती दी थी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस

प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही रोने लगी थीं आतिशी

बता दें कि कल आतिशी ने मनीष सिसोदिया के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए गंभीर पर खुद के खिलाफ आपत्तिजनक पर्चे बांटने का आरोप लगाया था।

इस दौरान वह खुद पर काबू नहीं रख पाईं और रोने लगीं।

उन्होंने पर्चे को मीडिया के सामने पढ़कर भी सुनाया।

वहीं, सिसोदिया ने विवादित पर्चे को ट्वीट करते हुए लिखा था कि इन पर्चों के जरिए गंभीर ने अपने चरित्र का परिचय दे दिया है।

आपत्तिजनक पर्चे

क्या लिखा है पर्चों में?

विवादित पर्चों में आतिशी के चरित्र हनन करते हुए बेहद आपत्तिजनक बातें कही गई हैं।

'आतिशी मार्लेना- अपनी उम्मीदवार को जानें' शीर्षक के साथ जारी इन पर्चों में उनको 'मिक्सड ब्रीड' का उदाहरण बताया गया है।

पर्चे में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ भी जातिसूचक और अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है।

वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 'कुत्ता' कहा गया है।

इन पर्चों को पूर्वी दिल्ली सीट के इलाकों में अखबारों के साथ बांटा गया।

खबर शेयर करें

दिल्ली

अरविंद केजरीवाल

गौतम गंभीर

मनीष सिसोदिया

लोकसभा चुनाव

आतिशी मार्लेना

खबर शेयर करें

अगली खबर