खर्राटे से छुटकारा पाने के उपाय

लाइफस्टाइल

10 Jul 2019

आख़िर क्यों आते हैं खर्राटे और कैसे पाया जाए इससे छुटकारा

अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ लोग रात को सोते समय ज़ोर-ज़ोर से खर्राटे भरते हैं।

जो व्यक्ति खर्राटे लेता है, उसे ज़रा भी इस बात का पता नहीं चलता है, लेकिन उनकी वजह से अगल-बगल सोने वालों की नींद ख़राब हो जाती है।

हालाँकि, जिन लोगों को खर्राटे आते हैं, उन्हें भी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में आज हम आपको बताएँगे कि ख़र्राटें क्यों आते हैं और इस समस्या से कैसे निजात पाया जाए।

वजह

इस वजह से आते हैं खर्राटे

खर्राटे कई वजहों जैसे स्लीपिंग डिसऑर्डर, एलर्जी, नाक में सूजन, जीभ का मोटा होना, अधिक धूम्रपान करना, शराब या नशीले पदार्थों का सेवन करने से होती है।

इसके अलावा खर्राटे गलत तरीके से सोने की वजह से भी आते हैं। जिन लोगों को सर्दी-खाँसी की समस्या होती है, उन्हें भी खर्राटे आते हैं।

दरअसल, सर्दी-खाँसी की वजह से कफ नाक के रास्ते में फँस जाता है, जिससे साँस लेने में दिक्कत होती है और खर्राटे आते हैं।

#1, 2

सोने का तरीका बदलें और नाक को साफ़ करें

सोने का तरीका बदलें और नाक को साफ़ करें

कई बार खर्राटे की समस्या गलत पोज़ीशन में सोने की वजह से भी हो जाती है, इसलिए अपनी स्लीपिंग पोज़ीशन बदलें। पीठ के बल सोने से खर्राटे आने की संभावना ज़्यादा होती है, इसलिए साइड करवट लेकर सोएँ। इसके अलावा सिर के नीचे ऊँचा तकिया भी रखें।

नाक में सूजन या नाक साफ़ न होने की वजह से खर्राटे आने की समस्या होती है। इसलिए इस समस्या से निजात पाने के लिए अपनी नाक को साफ़ करके सोएँ।

लाइफस्टाइल की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

#3, 4

खानपान पर ध्यान और कम करें गर्दन का फैट

खर्राटे से परेशान लोग अपनी डाइट में हरी सब्ज़ियाँ, फल, नट्स, बींस और सीड्स शामिल करें। साथ ही नमकीन और मीठी चीज़ों से दूरी बनाएँ। बेसमय खाने से बचें और शराब, धूम्रपान, कोल्ड ड्रिंक, जंक फ़ूड आदि से दूर रहें।

गले के आस-पास ज़्यादा फैट जमने की वजह से गले के पास सिकुड़न हो जाती है, जिसकी वजह से खर्राटे आते हैं। ऐसे में एक्सरसाइज करके गर्दन के फैट को जल्द से जल्द कम करें।

#5

भरपूर मात्रा में पीएँ पानी

भरपूर मात्रा में पीएँ पानी

स्वस्थ रहने के लिए पानी बहुत ज़रूरी होता है, इसलिए हर व्यक्ति को दिनभर में कम से कम 8-10 गिलास पानी रोज़ाना पीना चाहिए।

पानी की कमी से न केवल स्वास्थ्य संबंधी समस्या होती है बल्कि खर्राटे भी आते हैं। दरअसल पानी की कमी से नाक के रास्ते की नमी ख़त्म हो जाती है और साँस लेने में दिक्कत के साथ खर्राटे भी आने लगते हैं। इसलिए अगर खर्राटे से बचना है, तो ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीएँ।

#6, 7

हल्दी वाला दूध और इलायची

हल्दी वाला दूध पीने से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। इसके साथ ही सोने से पहले रोज़ाना एक गिलास हल्दी वाला दूध पीने से खर्राटों से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

खर्राटों की समस्या से निजात पाने के लिए आप इलायची का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए सोने से पहले इलायची के कुछ दानों को गुनगुने पानी के साथ मिलाकर पिएँ। इससे खर्राटों से निजात मिलेगी।

#8, 9

शहद और पुदीना

शहद और पुदीना

शहद व्यक्ति को स्वस्थ रखने के साथ-साथ खर्राटों की समस्या से भी निजात दिलाता है। रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद पीएँ। शहद पीने से गले की नसों को आराम मिलता है और खर्राटों से मुक्ति मिलती है।

रात को सोने से पहले पुदीने के तेल की कुछ बूँदे मुँह में डालकर गरारे करें। ऐसा करने से नाक के छिद्रों की सूजन कम होगी और साँस अच्छे से आने लगेगी।

खबर शेयर करें

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य देखभाल

स्वास्थ्य बाइट्स

प्राकृतिक और घरेलू उपचार

खबर शेयर करें

अगली खबर