शीघ्रपतन स्वाभाविक रूप से देर करने के पाँच उपाय

लाइफस्टाइल

01 Jul 2019

सेक्स के दौरान शीघ्रपतन की समस्या से परेशान हैं, तो अपनाएँ ये उपाय

पुरुषों में एक सामान्य यौन रोग शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) है, जिससे उम्र के हिसाब से लगभग 30% से ज़्यादा लोग पीड़ित हैं।

हालाँकि, यह कोई ऐसी बीमारी नहीं है, जिसका इलाज संभव न हो। सही दिशा में लगातार प्रयास के बाद इस समस्या से निजात पाया जा सकता है। इसके लिए आपको महँगी दवाओं का इस्तेमाल भी नहीं करना होगा।

यहाँ हम आपको शीघ्रपतन से निपटने के पाँच प्राकृतिक उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।

जानकारी

पहले जानें क्या है शीघ्रपतन?

जैसा कि नाम से ही पता चलता है शीघ्रपतन (जिसे शीघ्र स्खलन भी कहा जाता है) एक ऐसी स्थिति है, जिसमें व्यक्ति यौन उत्तेजना के बाद तेज़ी से स्खलन (स्पर्म डिस्चार्ज) करता है। जिससे उसका पार्टनर असंतुष्ट रह जाता है। इस वजह से उसकी सेक्स लाइफ़ पर बुरा असर पड़ता है।

शीघ्रपतन के लिए कई भावनात्मक और शारीरिक कारक ज़िम्मेदार हो सकते हैं, जिनमें सेक्स के दौरान प्रदर्शन की चिंता, तनाव, अवसाद और रिश्ते के मुद्दे शामिल हैं।

आदर्श रूप से कितने समय बाद होना चाहिए स्खलन

1,500 पुरुषों से संबंधित एक अध्ययन द जर्नल ऑफ सेक्सुअल मेडिसिन ने सेक्स और स्खलन के बीच औसत समय की रिपोर्ट की, जिसमें शीघ्रपतन से पीड़ित पुरुषों का समय 1.8 मिनट था, जबकि अन्य के लिए यह समय 7.3 मिनट था।

लाइफस्टाइल की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

#1

पेल्विक फ़्लोर मसल ट्रेनिंग

पेल्विक फ़्लोर मसल ट्रेनिंग

पेल्विक फ़्लोर मसल ट्रेनिंग समय से पहले स्खलन से निपटने के सबसे प्रभावशाली तरीकों में से एक है।

पेल्विक मसल लिंग को सहारा देने और नियंत्रण करने में मदद करती हैं। जब इनमें कमज़ोरी आती है, तब शीघ्रपतन की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा ज़्यादातर पुरुषों में पेल्विक मसल उम्र के साथ कमज़ोर हो जाती हैं।

इसलिए पेल्विक मसल को मज़बूत करने के लिए पेल्विक मसल ट्रेनिंग (एक्सरसाइज) करना ज़रूरी है, इससे शीघ्रपतन से राहत मिलेगी।

#2, 3

धीरे-धीरे सेक्स करें, 'स्टॉप-स्टार्ट' विधि के साथ प्रयोग करें

धीरे-धीरे सेक्स: इसके अंतर्गत व्यक्ति को पेल्विक थ्रस्टिंग की गति को धीमा करने की आवश्यकता होती है और स्खलन बिंदु से ठीक पहले पेनिट्रेशन का कोण (एंगल) और गहराई बदलती है।

स्टॉप-स्टार्ट विधि: जैसा नाम से ही स्पष्ट हो रहा है कि इस विधि के अंतर्गत व्यक्ति को थ्रस्टिंग करते समय कुछ देर के लिए बिलकुल रुक जाना चाहिए और थोड़ी देर बाद फिर से शुरू करना चाहिए। इससे स्खलन देर से होता है।

#4, 5

निचोड़ (Squeeze) विधि, डॉक्टर की सलाह लें

निचोड़ (Squeeze) विधि, डॉक्टर की सलाह लें

निचोड़ विधि: निचोड़ विधि करने के लिए स्खलन बिंदु से ठीक पहले लिंग को वजाइना से बाहर निकालें फिर लिंग के अगले हिस्से को तब तक निचोड़ें, जब तक स्खलन की अनुभूति ख़त्म न हो जाए। एक बार यह अनुभूति ख़त्म होने के बाद फिर से सेक्स शुरू कर सकते हैं। यह विधि प्रभावी है, लेकिन बहुत बोझिल भी है।

डॉक्टर की सलाह: उपर्युक्त उपायों को अपनाने के बाद भी बात न बने तो अंत में डॉक्टर की सलाह लें।

खबर शेयर करें

स्वास्थ्य

बीमारी

स्वास्थ्य देखभाल

सेक्स

स्वास्थ्य बाइट्स

खबर शेयर करें

अगली खबर