तांबे के बर्तन में पानी पीने से होने वाले फ़ायदे

लाइफस्टाइल

20 May 2019

तांबे के बर्तन में पानी पीने से वजन होता है कम और मिलते हैं अनेक फ़ायदे

पहले के समय में लोग तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल करते थे, लेकिन अब लोग स्टील के बर्तनों का इस्तेमाल करते हैं।

हालाँकि, आज भी कुछ लोग तांबे के बर्तनों का ही इस्तेमाल करते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार, तांबे के बर्तन में पानी पीने से शरीर के तीन दोषों वात, पित्त और कफ से छुटकारा मिलता है।

ऐसे में आइए आज हम आपको तांबे के बर्तन में पानी पीने और खाने से होने वाले फ़ायदे के बारे में बताते हैं।

#1

मोटापा घटाए और पानी के इंफ़ेक्शन को कम करे

तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल करने से वजन तेज़ी से कम किया जा सकता है। इसमें ऐसे कई तत्व पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज़्म को बढ़ा देते हैं। इस वजह से फैट आसानी से घट जाता है।

आज के समय में ज़्यादातर समस्याएँ दूषित पानी पीने की वजह से होती हैं। ख़ासतौर से पेट संबंधी समस्या दूषित पानी पीने से होती है। ऐसे में तांबे के बर्तन में पानी पीने से इंफ़ेक्शन के ख़तरे को कम किया जा सकता है।

#2

थाइराइड नियंत्रित रखे और याददाश्त बढ़ाए

थाइराइड नियंत्रित रखे और याददाश्त बढ़ाए

शरीर में थायरोक्सिन हार्मोन के असंतुलन के कारण थायराइड की समस्या होती है। थाइराइड के मरीज़ों का वजन तेज़ी से बढ़ता है। ऐसे में तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से थायरोक्सिन हार्मोन नियंत्रित रहता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने से ही नहीं बल्कि खाना खाने से भी फ़ायदा होता है। रोज़ाना तांबे के बर्तन में खाने-पीने से दिमाग तेज़ होता है। इसके अलावा बुढ़ापे में याददाश्त कमज़ोर होने जैसी समस्याओं से भी बचाव होता है।

लाइफस्टाइल की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

#3

दिल रहे स्वस्थ और कैंसर से बचाव

तांबे के बर्तन में पानी पीने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित और ख़राब कोलेस्ट्रॉल कम होता है। इससे दिल स्वस्थ रहता है और व्यक्ति हार्ट अटैक के ख़तरे से बचे रहते हैं। इससे वात, पित्त और कफ जैसी समस्याओं से भी मुक्ति मिलती है।

शोध के अनुसार, तांबे के अंदर पाए जाने वाले तत्व कैंसर की शुरुआत को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा तांबे के बर्तन में खाने-पीने से शरीर के अंदर की बेहतर तरीके से सफ़ाई होती है।

#4

पाचन क्रिया बेहतर और एनीमिया से बचाव

पाचन क्रिया बेहतर और एनीमिया से बचाव

गर्मियों में ज़्यादातर पेट संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। तांबे का पानी पचानतंत्र को मज़बूत कर बेहतर पाचन में सहायता करता है। रात के समय तांबे के बर्तन में पानी रखकर सुबह पीने से पाचन क्रिया सही रहती है।

एनीमिया की समस्या होने पर तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से काफ़ी लाभ मिलता है। यह खाने से आयरन को आसानी से सोख लेता है, जो एनीमिया की समस्या से निपटने में बेहतर होता है।

#5

मुहाँसो से छुटकारा और चमकदार त्वचा

तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से त्वचा पर किसी प्रकार की समस्या नहीं होती है। यह फोड़े-फुंसी, मुहाँसों और त्वचा संबंधी अन्य रोगों को फैलने नहीं देता है। इस वजह से त्वचा की ख़ूबसूरती बनी रहती है।

रात को तांबे के बर्तन में पानी रखकर सुबह ख़ाली पेट पीने से त्वचा को काफ़ी फ़ायदा होता है। इससे शरीर से ज़हरीले तत्व बाहर निकल जाते हैं, जिससे चेहरे पर काफ़ी चमक आ जाती है।

खबर शेयर करें

कैंसर

स्वास्थ्य

बीमारी

स्वास्थ्य देखभाल

स्वास्थ्य बाइट्स

खबर शेयर करें

अगली खबर