अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

लाइफस्टाइल
15 May 2019

शराब का सेवन इन पाँच तरीक़ों से बर्बाद कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ़

शराब का सेवन बर्बाद कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ़

शराब और सेक्स के बीच के सम्बंध को अच्छे और मिश्रित रूप में वर्णित किया जा सकता है।

कई जोड़े अक्सर अपने रोमांस की शुरुआत बेडरूम में वाइन के ग्लास या बीयर के साथ शुरू करते हैं।

हालाँकि, दीर्घकालिक यौन स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखकर कहा जा सकता है कि शराब और सेक्स का मिश्रण एक अच्छा विचार नहीं है।

आज हमने यहाँ पाँच तरीके बताए हैं, जिनसे शराब आपकी सेक्स लाइफ़ को बर्बाद कर सकती है।

प्रसंग

शराब का सेवन बर्बाद कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ़

पहले शराब के अच्छे पहलुओं के बारे में जानें

शराब को हमारे निषेध को कम करने के लिए जाना जाता है। इसका मतलब इसके सेवन से व्यक्ति का आत्मविश्वास बेहतर होता है और किसी ऐसे व्यक्ति के साथ सेक्स करना आसान हो जाता है, जिसके प्रति वह आकर्षित है।

शराब के सेवन से हो सकता है इरेक्टाइल डिस्फंक्शन

#1

शराब के सेवन से हो सकता है इरेक्टाइल डिस्फंक्शन

अत्यधिक मात्रा में शराब पीने से किसी व्यक्ति की इरेक्शन प्राप्त करने या बनाए रखने की क्षमता प्रभावित हो सकती है। इस वजह से उनकी सेक्स लाइफ़ में निराशा पैदा हो सकती है।

इसे डॉक्टरों की भाषा में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (ED) कहा जाता है।

ED सेक्स को प्रभावित करता है, क्योंकि यह सेक्स हार्मोन-टेस्टोस्टेरॉन के उत्पादन को कम करता है और केमिकल मेसेंजर के साथ गलत व्यवहार करता है, जो लिंग को रक्त की आपूर्ति का निर्देश देते हैं।

लाइफस्टाइल की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

#2, 3

ऑर्गेज्म और सेक्स की इच्छा के साथ समस्याएँ

ऑर्गेज्म विकार: मस्तिष्क और जाननांगों के बीच संकेतों के साथ हस्तक्षेप करने से शराब यौन उत्तेजना महसूस करने की हमारी क्षमता को प्रभावित करती है। इससे जल्दी या लंबे समय तक स्खलन हो सकता है, जिससे ऑर्गेज्म कम होता है।

सेक्स की इच्छा: अधिक शराब का सेवन करने से टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में कमी हो जाती है। इस वजह से किसी व्यक्ति की सेक्स करने की इच्छा कम हो जाती है। यह व्यक्ति के यौन प्रदर्शन को प्रभावित करती है।

बांझपन और असुरक्षित सेक्स

#4, 5

बांझपन और असुरक्षित सेक्स

बांझपन: ज़्यादा मात्रा में शराब पीना बांझपन का कारण है। कम टेस्टोस्टेरॉन आदमी के शुक्राणु उत्पादन को कम करता है। इस तरह उसका प्रजनन स्तर कम हो जाता है। वहीं, महिलाओं में ज़्यादा शराब पीने से ओव्यूलेशन बंद हो सकता है। इस वजह से गर्भधारण करने की उनकी क्षमता प्रभावित होती है।

असुरक्षित सेक्स: शराब के सेवन से व्यक्ति असुरक्षित सेक्स करता है, जिससे भयानक STI और अनचाहे गर्भधारण की समस्या का ख़तरा ज़्यादा होता है।

अगली खबर