पीएँ ये पाँच हर्बल चाय, दूर होगी गले की खराश

लाइफस्टाइल

19 Feb 2019

सर्दी-ज़ुकाम और गले की खराश से परेशान हैं तो पीएँ ये पाँच हर्बल चाय, बढ़ेगी इम्यूनिटी

सर्दियों के मौसम में अगर एक कप गरमा-गरम चाय मिल जाए तो फिर कहना ही क्या। चाय की ख़ुशबू सुबह की आलस दूर भगाने के लिए काफ़ी होती है।

सर्दियों में हर्बल चाय किसी अमृत से कम नहीं है। यह स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी फ़ायदेमंद होती है।

आज हम आपको जड़ी-बूटियों से बनी चाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जो सर्दियों में आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ सर्दी-ज़ुकाम से भी छुटकारा दिलाती है।

चाय 1

गले की खराश दूर करती है अदरक की चाय

अदरक की ख़ूबियों के बारे में बताने की ज़रूरत नहीं है। अदरक में कई गुण पाए जाते हैं, इसके बाद भी इसे ज़्यादा क्रेडिट नहीं मिलता है।

यह खाने और चाय का स्वाद बढ़ाने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद है। अदरक की चाय पीने से गले की खराश दूर होती है, साथ ही इम्यूनिटी भी बढ़ती है।

अदरक की चाय बढ़े हुए मेटाबॉलिज्म के कारण जमा होने वाले वसा को कम करने में मदद करती है।

चाय 2

सिंड्रोम के इलाज में सहायक होती है मुलेठी की चाय

सिंड्रोम के इलाज में सहायक होती है मुलेठी की चाय

मुलेठी कई तरह की औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसे प्राकृतिक मिठास के कारण स्वाद बढ़ाने वाले मसाले के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

इसमें पाए जाने वाले एंटी डायबिटिक और एंटीऑक्सिडेंट गुण मेटाबोलिक सिंड्रोम के इलाज में सहायक होते हैं।

जिन लोगों को ज़्यादा मीठा खाने की इच्छा हो उन्हें समिति मात्रा में मुलेठी अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। इसके सेवन से शरीर गरम रहता है और वजन भी कम होता है।

लाइफस्टाइल की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

सर्दियों के दौरान वायरस से लड़ने में मदद करती है ग्रीन टी

ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट और पोषक तत्वों से भरपूर होती है। यह कैंसर के ख़तरे को कम करके मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को तेज़ करती है। सर्दियों में यह वायरस से लड़ने में भी मदद करती है।

चाय 4

एंटी कैंसर एजेंट के रूप में कार्य करती है हल्दी की चाय

सर्दियों में हल्दी की चाय अपनी डाइट में शामिल करना बहुत ज़रूरी है। यह कई तरह की शारीरिक समस्याओं को दूर करने का काम करती है।

ज़्यादा फ़ायदा पाने की लिए आप इसमें काली मिर्च पाउडर या दो साबूत काली मिर्च डाल सकते हैं।

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सिडेंट गुण पाए जाते हैं, जिसमें बायोएक्टिव कंपाउंड करक्यूमिन शामिल है।

यह इम्यूनिटी बढ़ाने की साथ-साथ शरीर को गर्मी देती है। यह एक एंटी कैंसर एजेंट के रूप में भी कार्य करती है।

चाय 5

हज़ारों सालों से इस्तेमाल हो रही है दालचीनी की चाय

हज़ारों सालों से इस्तेमाल हो रही है दालचीनी की चाय

भारत अपने उच्च गुणवत्ता वाले मसालों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। भारत में कई तरह के मसाले पाए जाते हैं, उन्ही में से एक है दालचीनी।

दालचीनी का इस्तेमाल खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ काली चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

हालाँकि आजकल इसका इस्तेमाल ग्रीन और ऊलोंग टी में भी किया जाने लगा है। दालचीनी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है और एंटी बायोटिक इफ़ेक्ट देती है।

खबर शेयर करें

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य देखभाल

स्वास्थ्य बाइट्स

खबर शेयर करें

अगली खबर