शुक्रवार को मोदी और जिनपिंग का अनौपचारिक शिखर सम्मेलन

देश

09 Oct 2019

भारत आएंगे चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग, 11 अक्टूबर को चेन्नई में प्रधानमंत्री मोदी से मिलेंगे

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे की तारीखों का आधिकारिक ऐलान हो गया है। जिनपिंग शुक्रवार को चेन्नई में अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे।

दोनों नेताओं के बीच ये दूसरा अनौपचारिक शिखर सम्मेलन होगा।

इससे पहले पिछले साल 27-28 अप्रैल को चीन के वुहान में दोनों नेताओं के बीच पहला अनौपचारिक शिखर सम्मेलन हुआ था।

जिनपिंग लगभग 24 घंटे चेन्नई में रहेंगे और इसके बाद अपने देश वापस चले जाएंगे।

कार्यक्रम

समुद्र किनारे बने रिसॉर्ट में रहेंगे मोदी और जिनपिंग

अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के दौरान मोदी और जिनपिंग चार अलग-अलग बैठकें करेंगे, जो करीब पांच घंटे चलेंगी।

इसके अलावा दोनों नेता महाबलिपुरम के तीन प्रसिद्ध स्मारकों और एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे और वहां एक घंटा बिताएंगे।

भारत बैठक की तैयारियों में लगा हुआ है।

खबरों के अनुसार, मोदी और जिनपिंग समुद्र किनारे बने एक रिसॉर्ट में रहेंगे। इस रिसॉर्ट से बंगाल की खाड़ी का नजारा साफ दिखता है।

भारत को था जिनपिंग के दौरे के आधिकारिक ऐलान का इंतजार

भारत पिछले कई दिनों से चीन की ओर से जिनपिंग के भारत दौरे की तारीखों के ऐलान का इंतजार कर रहा था। चीन की इस देरी का कारण अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा के पास भारतीय सेना के युद्धाभ्यास को माना जा रहा था।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

बयान

भारत और चीन ने जताई संबंध गहरे होने की उम्मीद

अब जिनपिंग के भारत आगमन की आधिकारिक घोषणा करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा, "चेन्नई में होने जा रहा अनौपचारिक शिखर सम्मेलन दोनों नेताओं को द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के मुद्दों पर चर्चा जारी रखने और भारत-चीन के बीच गहरे होती विकास की साझेदारी पर विचार करने का मौका देगा।"

वहीं भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मुलाकात से भारत-चीन के संबंध गहरे होने की उम्मीद जताई है।

कश्मीर विवाद

कश्मीर पर चीन के रुख में आई नरमी

बता दें कि इस शिखर सम्मेलन से पहले कश्मीर पर चीन के रुख में भी नरमी आई है।

पहले कश्मीर विवाद को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों की मदद से सुलझाने पर जोर देने वाले चीन ने अब ये शर्तें छोड़ दी हैं।

अपने हालिया बयान में चीन ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान को द्विपक्षीय बातचीत के जरिए कश्मीर मुद्दे को सुलझाना चाहिए।

इमरान खान

चीन के दौरे पर हैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

मोदी और जिनपिंग के बीच अनौपचारिक शिखर सम्मेलन की तारीखों का ऐलान ऐसे समय पर हुआ है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान चीन के दौरे पर हैं।

आर्थिक संकट से जूझ रहे और कश्मीर पर अलग-थलग पड़े पाकिस्तान को सबसे ज्यादा मदद की उम्मीद अपने दोस्त चीन से है और इसलिए इस दौरे को अहम माना जा रहा है।

इस दौरान जिनपिंग भी इमरान से मुलाकात करेंगे और इसके बाद मोदी से मिलने चेन्नई आएंगे।

खबर शेयर करें

चीन

भारत

इमरान खान

नरेंद्र मोदी

चेन्नई

बंगाल की खाड़ी

खबर शेयर करें

अगली खबर