आंध्र प्रदेश विधानसभा के स्पीकर ने फांसी लगाकर आत्महत्या की

देश

16 Sep 2019

आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व स्पीकर ने की आत्महत्या, लगा था फर्नीचर चोरी का आऱोप

आंध्र प्रदेश विधानसभा के पूर्व स्पीकर और तेलुगू देशम पार्टी के वरिष्ठ नेता कोडेला शिवा प्रसाद राव ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आज सुबह अपने घर में नाश्ता करने के बाद उन्होंने अपने कमरे में जाकर पंखे से फांसी लगा ली थी।

उनके परिजन उन्हें अस्पताल लेकर आए, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। छह बार के विधायक शिवा प्रसाद राव 2014-2019 तक आंध्र प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष थे।

मामला

इस वजह से परेशान थे शिवा प्रसाद राव

बताया जा रहा है कि शिवा प्रसाद राव YSR कांग्रेस सरकार द्वारा अपने परिवार के खिलाफ दर्ज किए गए मामलों से परेशान थे।

हालांकि, इन मामलों में उनके परिवार के लोगों को जमानत मिल गई थी, लेकिन वो इस सदमे से बाहर नहीं आ पाए।

लगभग 36 साल तक राजनीति में रहने वाले शिवा प्रसाद राव एनटी रामा राव और चंद्रबाबू नायडू सरकार में मंत्री पद पर रहे थे।

राज्य के मुख्यमंत्री ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है।

1983 में रखा था राजनीति में कदम

डॉक्टर की पढ़ाई करने के बाद शिवा प्रसाद राव ने साल 1983 में राजनीति में कदम रखा था। वो राज्य के गृह मंत्री और पंचायती राज मंत्री भी रहे। वो अपने पीछे अपनी पत्नी, एक बेटा और बेटी को छोड़कर गए हैं।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

करियर

इस बार चुनावों में नहीं मिली जीत

पेशे से डॉक्टर 72 वर्षीय शिवा प्रसाद राव पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामा राव के करीबी थे। वो पांच बार गुंटूर जिले की नसराओेपेट विधानसभा से विधायक चुने गए।

साल 2014 में वो सेत्तनपल्ली से विधायक बने। पिछले लोकसभा चुनावों में वो YSR कांग्रेस के उम्मीदवार अंबाती रामबाबू से हार गए थे।

शिवा प्रसाद राव पर YSR कांग्रेस की सरकार ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। उन पर एक आरोप विधानसभा से फर्नीचर चुराने का भी था।

मामला

कोर्ट में लंबित है फर्नीचर चोरी का मामला

कुछ समय पहले गुंटूर पुलिस ने लगभग एक करोड़ की कीमत वाला फर्नीचर विधानसभा से चुराकर अपने कैंप ऑफिस और घर ले जाने के आरोप में मामला दर्ज किया था।

वो इसके खिलाफ कोर्ट में गए थे और कहा था कि उन्होंने सरकार को फर्नीचर वापस ले जाने या उसकी वसूलने के लिए पत्र लिखा है।

यह मामला अभी कोर्ट में लंबित है। सरकार बदलने के बाद उनके बेटे और बेटी के खिलाफ भी मामले दर्ज हुए थे।

खबर शेयर करें

आंध्र प्रदेश

चंद्रबाबू नायडू

विधानसभा

खबर शेयर करें

अगली खबर