चिन्मयानंद केस: छात्रा ने SIT को सौंपा वीडियो सबूत

देश

11 Sep 2019

चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा के पास है वीडियो सबूत, SIT को सौंपा

भारतीय जनता पार्टी के नेता चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा के पास अपने आरोपों को साबित करने के लिए "विस्फोटक वीडियो सबूत" है।

उसके दोस्त ने इस सबूत को एक पेन ड्राइव में डालकर मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित विशेष जांच दल (SIT) को सौंप दिया है।

खबरों के अनुसार, छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद का ये वीडियो अपने चश्मे में लगाए गए जासूसी कैमरे की मदद से बनाया था।

शिकायत

छात्रा ने दिल्ली में दर्ज कराई थी पुलिस शिकायत

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा ने पिछले हफ्ते चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाते हुए दिल्ली में पुलिस शिकायत दर्ज कराई थी।

चिन्मयानंद इस कॉलेज के चेयरमैन हैं।

अपनी शिकायत में छात्रा ने बताया था, "मैं लॉ कॉलेज में दाखिले के लिए पिछले साल चिन्मयानंद के पास गई थी। चिन्मयानंद ने मुझे कॉलेज में दाखिल कर लिया और कॉलेज लाइब्रेरी में नौकरी दी। इसके बाद उसने मुझे हॉस्टल में रहने की सलाह दी।"

आरोप

छात्रा का आरोप, नहाते समय का वीडियो बनाकर चिन्मयानंद ने किया ब्लैकमेल

छात्रा की पुलिस शिकायत के अनुसार, एक दिन चिन्मयानंद ने उसे अपने पास बुलाया और उसका नहाते समय का एक वीडियो दिखाया।

छात्रा का आरोप है कि इस वीडियो के जरिए चिन्मयानंद ने उसे ब्लैकमेल किया और उसका रेप किया।

उसने बताया कि उसने इस साल की शुरूआत में चिन्मयानंद का वीडियो बनाने का फैसला किया और इसके लिए उसने अपने चश्मे में एक कैमरा लगवाया, जिसकी मदद से ये वीडियो बनाया गया है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

प्रतिक्रिया

चिन्मयानंद के वकील ने आरोपों को बताया नया नाटक

मामले पर चिन्मयानंद का कहना है कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

वहीं उनके वकील ओम सिंह ने छात्रा के आरोपों को एक नया नाटक बताया है।

सिंह ने मंगलवार को कहा, "24 अगस्त को उसने पहला वीडियो बनाया... तब उसने नहीं कहा कि उसके साथ कुछ गलत हुआ है। उसने आरोप लगाया कि चिन्मयानंद ने कई लड़कियों का जीवन बर्बाद किया है। जब वह अपनी साजिश में कामयाब नहीं रही तो अब ये नया नाटक कर रही है।"

पहला वीडियो

फेसबुक वीडियो में छात्रा ने बिना नाम लिए लगाए थे चिन्मयानंद पर आरोप

बता दें कि 23 वर्षीय छात्रा ने 24 अगस्त को फेसबुक पर वीडियो पोस्ट करते हुए बिना नाम लिए चिन्मयानंद पर आरोप लगाए थे।

अपने वीडियो में उसने कहा था, "संत समाज का एक बड़ा नेता, जिसने कई लड़कियों की जिंदगी खराब की है। वो मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा है। मेरे पास उसके खिलाफ सबूत हैं।"

छात्रा ने वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगाई थी।

घटनाक्रम

वीडियो डालने के बाद गायब हुई छात्रा, सात दिन बाद दोस्त के पास मिली

वीडियो डालने के बाद छात्रा गायब हो गई थी।

उसके पिता ने चिन्मयानंद पर उनकी बेटी को परेशान करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ अपहरण और धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया था।

एक हफ्ते बाद छात्रा राजस्थान के जयपुर में मिली, जहां वो अपने एक मित्र के साथ रह रही थी।

इस बीच मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा और बंद कोर्ट में छात्रा का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट में मामले में SIT का गठन किया।

परिचय

कौन हैं चिन्मयानंद?

भाजपा नेता और मुमुक्षु आश्रम के अधिष्ठाता स्वामी चिन्मयानंद तीन बार लोकसभा सांसद रह चुके हैं।

चिन्मयानंद पहली बार भाजपा के टिकट पर उत्तर प्रदेश की बदायूं लोकसभा सीट सेसाल से 1991 में सांसद चुने गए थे।

इसके बाद चिन्मयानंद 1998 में उत्तर प्रदेश के मछलीशहर और 1999 में जौनपुर लोकसभा सीट से चुने गए थे।

उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में राज्यमंत्री भी बनाया गया था।

खबर शेयर करें

जयपुर

भारतीय जनता पार्टी

फेसबुक

राजस्थान

उत्तर प्रदेश

शाहजहांपुर

विशेष जांच दल

स्वामी चिन्मयानंद

खबर शेयर करें

अगली खबर