दाउद, हाफिज, लखवी नए कानून के तहत आंतकी घोषित

देश

04 Sep 2019

हाफिज सईद, दाऊद, अजहर और लखवी नए कानून के तहत आतंकी घोषित, रेड कॉर्नर नोटिस जारी

केंद्र सरकार ने नए गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून(UAPA) के तहत दाउद इब्राहिम, हाफिज सईद, जाकिर-उर-रहमान लखवी और मसूद अजहर को आतंकी घोषित किया है।

इनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है।

लगभग एक महीने पहले संसद से इस नए कानून को हरी झंडी मिली थी।

मसूद अजहर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है। इसी संगठन ने फरवरी में हुए पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली है।

वहीं लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर लखवी का मुंबई हमले में बड़ा हाथ है।

कानून

क्या है नया UAPA कानून?

राज्यसभा ने अगस्त की शुरुआत में UAPA बिल को पास किया था। इससे पहले लोकसभा इसे पारित कर चुकी थी।

इस कानून को आतंक पर लगाम लगने की कवायद माना जा रहा है। गृह मंत्री अमित शाह ने इसके समर्थन में बोलते हुए कहा था कि यह कानून जांच एजेंसियों को आतंकियों से एक कदम आगे रखेगा।

इसमें आतंकी गतिविधियों आदि से निपटने के लिए विशेष प्रावधान किए गए हैं। इस कानून को सबसे पहले इंदिरा गांधी लेकर आई थीं।

प्रावधान

ये हैं कानून के प्रावधान

यह कानून बनने के बाद केंद्र सरकार ऐसे किसी भी संगठन को आतंकी संगठन घोषित कर सकती है-

अगर उसकी किसी भी प्रकार के आतंकी मामलों में सहभागिता पाई जाती है।

अगर वह आतंकवाद के किसी कृत्य को अंजाम देता है या इसमें भाग लेता है

अगर वह आतंकवाद को बढ़ावा देता हैया वह किसी अन्य तरीके से आतंकी गतिविधियों में संलिप्त पाया जाता है।

इसके अलावा सरकार किसी को व्यक्तिगत तौर पर भी आतंकवादी घोषित कर सकती है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

1993 मुंबई ब्लास्ट के पीछे दाउद का हाथ

अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम साल 1993 में मुंबई में हुए बम धमाकों का साजिशकर्ता है और भारत के मोस्ट वांटेड अपराधियों की सूची में शीर्ष पर है। वह फिलहाल पाकिस्तान में रह रहा है।

हाफिज सईद

वैश्विक आतंकी हाफिज सईद ने करवाया था 26/11 हमला

हाफिज सईद मुंबई आतंकी हमले का मुख्य आरोपी है। इस हमले के बाद दिसंबर 2008 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित करते हुए उस पर प्रतिबंध लगाया था।

उसके आतंकी संगठन के आतंकियों ने ही मुंबई पर हमला किया था, जिसमें 166 लोग मारे गए थे।

उसका संगठन लश्कर-ए-तैयबा भी आतंकी संगठनों की सूची में आता है, इसलिए उसने अपने तमाम आर्थिक और राजनीतिक काम चलाने के लिए अन्य संगठन बना रखे हैं।

मसूद अजहर

संसद भवन और पुलवामा हमले के पीछे है मसूद अजहर

संसद हमला और पुलवामा हमले का मुख्य आरोपी अजहर फिलहाल पाकिस्तान में है।

भारत की जेल में बंद अजहर की रिहाई यात्री विमान आईसी-814 के बदले हुई थी।

अजहर का आंतकी संगठन जैश भारत में कई बड़े आतंकी हमले करवा चुका है।

जम्मू-कश्मीर विधानसभा, उरी और पठानकोट में सेना के कैंप पर हुए हमलों में भी जैश का हाथ था।

भारत के कड़े प्रयासों के बाद मई में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने उसे वैश्विक आंतकी घोषित किया था।

मुंबई में हमला करने वाले आतंकियों का हैंडलर था लखवी

जाकिर-उर-रहमान लखवी खूंखार आतंकी हाफिज सईद का करीबी है। मुंबई हमलों के वक्त वह आतंकियों को निर्देश दे रहा था। आतंकी कसाब से पूछताछ में उसका नाम सामने आया था। मुंबई लोकल में 2006 में हुए हमलों के पीछे भी लखवी का हाथ है।

नोटिस

क्या होता है रेड कॉर्नर नोटिस

यह नोटिस इंटरपोल जारी करती है। यह नोटिस ऐसे व्यक्ति को ढूंढने या अस्थायी रूप से गिरफ्तार करने का अनुरोध है जिसे आपराधिक मामले में दोषी ठहराया गया है।

इसका मुख्य उद्देश्य इंटरपोल के सदस्य देशों की पुलिस को सतर्क करना होता है ताकि संदिग्ध अपराधियों को पकड़ा जा सके।

जिस व्यक्ति के खिलाफ यह नोटिस जारी किया जाता है वह इंटरपोल के सभी सदस्य देशों के हवाई अड्डों, रेलवे, जल सीमा इत्यादि पर पुलिस की नजर में रहता है।

खबर शेयर करें

पाकिस्तान

मुंबई

पुलवामा

लोकसभा

लश्कर-ए-तैयबा

दाऊद इब्राहिम

बम विस्फोट

अमित शाह

आतंकी संगठन

संसद

राज्यसभा

जैश-ए-मोहम्मद

मसूद अजहर

केंद्र सरकार

खबर शेयर करें

अगली खबर