भारत की सलाह, सामान्य पड़ोसी की तरह पेश आए पाकिस्तान

देश

29 Aug 2019

भारत का सख्त संदेश, कहा- सामान्य पड़ोसी की तरह व्यवहार करे पाकिस्तान, बंद करे आतंकी भेजना

कश्मीर पर पाकिस्तान के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने कहा कि वह झूठ और धोखे के अलावा और कुछ नहीं है।

भारत ने कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और मामले पर पाकिस्तान के बयान बेहद गैर-जिम्मेदाराना हैं।

भारत ने पाकिस्तान को सख्त संदेश देते हुए कहा कि उसे एक सामान्य पड़ोसी की तरह पेश आते हुए भारत में आतंकी भेजना बंद करना चाहिए।

भारत ने और क्या-क्या कहा, आइए आपको बताते हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, "भारत के आंतरिक मामलों पर पाकिस्तानी नेतृत्व के हालिया बयानों की हम कड़ी निंदा करते हैं। ये बहुत गैर-जिम्मेदाराना बयान हैं।"

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर के हालात की एक चिंताजनक तस्वीर पेश करने की कोशिश कर रहा है जो कि जमीनी हकीकत से बहुत दूर है और दुनिया ने उसकी इस चाल को समझ लिया है।

भड़काऊ बयानबाजी

पाकिस्तान की ओर से आए हैं बेहद भड़काऊ बयान

बता दें कि अनुच्छेद 370 और जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे पर भारत सरकार के फैसले के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा समेत कई शीर्ष अधिकारी भड़काऊ बयान दे चुके हैं।

इन बयानों में कश्मीर की गलत स्थिति पेश करने से लेकर वहां जिहाद फैलाने तक के बयान शामिल हैं।

बाजवा ने कहा था कि कश्मीर के लिए पाकिस्तानी सेना किसी भी हद तक जाने को तैयार है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

हमला

"आतंकवाद को राज्य नीति की तरह प्रयोग करता है पाकिस्तान"

आतंकवाद पर पाकिस्तान को घेरते हुए रवीश ने कहा, "हम पता है कि पाकिस्तान आतंकवाद को एक राज्य नीति के तौर पर प्रयोग करता है और हम हर बार उन्हें अपनी चिंताओं के बारे में सूचित करते हैं।"

रवीश ने कहा, "हमें जानकारी मिली है कि पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है। हम पाकिस्तान से मांग करते हैं कि वह अपनी जमीन पर पल रहे आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करे।"

सलाह

पाकिस्तान को सामान्य पड़ोसी की तरह पेश आने की सलाह

भारत ने इस बीच पाकिस्तान को सामान्य पड़ोसी की तरह पेश आने की सलाह भी दी।

रवीश कुमार ने कहा, "पाकिस्तान के लिए अब ये जरूरी है कि वह सामान्य पड़ोसी की तरह व्यवहार करना शुरू करे। सामान्य पड़ोसी क्या करते हैं? वह पड़ोसी देश में आतंकी नहीं भेजते। वह सामान्य बातचीत करते हैं, व्यापार करते हैं। ये ऐसी चीजें हैं जो पाकिस्तान की ओर से नहीं हो रही हैं।"

हालात की जानकारी

रवीश बोले, जम्मू-कश्मीर में सब ठीक

जम्मू और कश्मीर के हालात पर रवीश ने कहा, "एक भी घटना में किसी भी अस्पताल ने दवा या किसी भी डिस्पोजेबल आइटम की कमी की सूचना नहीं दी है। एक भी जान नहीं गई, एक भी गोली नहीं चलाई गई। जमीन पर स्थिति में धीरे-धीरे, लेकिन सकारात्मक सुधार हुआ है।"

संयुक्त राष्ट्र (UN) के पास भेजे गए पत्र पर प्रतिक्रिया देने से इनकार करते हुए रवीश ने कहा कि वह इस पर प्रतिक्रिया देकर विश्वसनीयता प्रदान नहीं करना चाहते।

खबर शेयर करें

भारत

पाकिस्तान

कश्मीर

इमरान खान

विदेश मंत्रालय

संयुक्त राष्ट्र (UN)

अनुच्छेद 370

खबर शेयर करें

अगली खबर