शुक्रवार को चिदंबरम की याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

देश

21 Aug 2019

INX मीडिया केस: सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को होगी सुनवाई, आखिर कहां छिपे है चिदंबरम?

INX मीडिया केस में कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।

सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत की उनकी याचिका को दो दिन बाद शुक्रवार की सुनवाई सूची में रखा गया है।

चिदंबरम के वकीलों की टीम आज पूरे दिन मामले में तत्काल सुनवाई करवाने की कोशिश करती रही, लेकिन उसके हाथ निराशा लगी।

अब 2 दिन तक चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी रहेगी।

याचिका खारिज

कल हाई कोर्ट ने खारिज की थी चिदंबरम की याचिका

बता दें कि कल दिल्ली हाई कोर्ट ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत की अर्जी को ये कहते हुए खारिज कर दिया था कि वह पूरे INX मीडिया केस के केंद्र बिंदु हैं और उन्होंने जांच में सहयोग नहीं किया है।

इसके बाद चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी।

न्यायाधीश पीवी रमन्ना ने इस अपील को तत्काल सुनवाई के लिए मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के पास भेज दिया, जो दिन भर अयोध्या मामले की सुनवाई करते रहे।

सुनवाई

सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, देश छोड़कर भाग नहीं रहे चिदंबरम

इस बीच प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है और जांच एजेंसियों को आशंका है कि वह देश छोड़कर भाग सकते हैं।

हालांकि सुप्रीम कोर्ट में चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने भरोसा दिया कि चिदंबरम देश छोड़कर भागने नहीं जा रहे हैं और वह इसका शपथ पत्र भी देने को तैयार हैं।

लेकिन इस सारे भरोसे के बावजूद कोर्ट ने उनकी अपील पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

चिदंबरम गायब

कहां छिपे हैं चिदंबरम?

वहीं, दिल्ली हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज होने के बाद चिदंबरम गायब हो गए हैं।

केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) तीन बार उनके घर जा चुकी है, लेकिन वो वहां नहीं मिले।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने के बाद चिदंबरम ने अपने क्लर्क और ड्राइवर को बीच रास्ते में गाड़ी से उतार दिया।

उन्होंने अपना फोन भी बंद कर लिया जो अभी तक बंद है।

INX मीडिया केस

क्या है INX मीडिया केस?

INX मीडिया केस में चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम पर पीटर और इंद्राणी मुखर्जी की कंपनी INX मीडिया प्राइवेट लिमिटेड से रिश्वत लेने का आरोप है।

आरोपों के अनुसार, 305 करोड़ रुपये का विदेशी फंड लेने की अनुमति दिलाने के लिए उन्होंने 2007 में कंपनी से ये रिश्वत ली थी।

तब चिदंबरम UPA सरकार में वित्त मंत्री थे और उन पर आरोप है कि कंपनी को नियमों के विपरीत सरकारी अनुमति दिलाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी।

20 बार जमानत हासिल कर चुके हैं चिदंबरम और कार्ति

INX मीडिया केस और एयरसेल-मैक्सिस डील में चिदंबरम और कार्ति लगभग 20 बार अंतरिम या अग्रिम जमानत हासिल करने में कामयाब रहे हैं। हालांकि कार्ति को INX मीडिया केस में फरवरी 2018 में गिरफ्तार किया गया था और वह 23 दिन न्यायिक हिरासत में रहे।

समर्थन

चिदंबरम के समर्थन में उतरे राहुल और प्रियंका

पूरे मामले में कांग्रेस नेतृत्व ने चिदंबरम का समर्थन किया है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, "मोदी सरकार ED, CBI और रीढ़विहीन मीडिया का उपयोग चिदंबरम का चरित्र हनन करने के लिए कर रही है। मैं ताकत के इस शर्मनाक दुरुपयोग की तीखी आलोचना करता हूं।"

वहीं प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि चिदंबरम ने दशकों तक निष्ठा से देश सेवा की है और उन्हें शर्मनाक तरीके से निशाना बनाया जा रहा है।

चिदंबरम के समर्थन में राहुल ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

प्रियंका गांधी भी चिदंबरम के समर्थन में उतरीं

खबर शेयर करें

दिल्ली हाई कोर्ट

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI)

इंद्राणी मुखर्जी

UPA सरकार

प्रवर्तन निदेशालय (ED)

रंजन गोगोई

INX मीडिया केस

खबर शेयर करें

अगली खबर