पेशाब पिलाने के आरोप में पुलिसकर्मी निलंबित

देश

13 Aug 2019

मध्यप्रदेशः हिरासत में आदिवासी युवकों से मारपीट और पेशाब पिलाने के आरोप में चार पुलिसकर्मी निलंबित

मध्य प्रदेश पुलिस की बर्बरता की एक नमूना सामने आया है। अलीराजपुर जिले के नानपुर पुलिस थाने में पुलिसकर्मियों ने पांच आदिवासी युवकों के साथ मारपीट की।

पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि जब इन युवकों ने पीने के लिए पानी मांगा तो इन्हें पेशाब पिलाया गया।

मामला सामने आने के बाद थाना इंचार्ज समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।

आइये, इस मामले के बारे में विस्तार से जानते हैं।

पिटाई के आरोप सही पाए गए- SP

अलीराजपुर के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि प्रथम दृष्टया युवकों की पिटाई के आरोप सही पाए गए हैं। इन युवकों के शरीर पर चोटों के निशान है। इन युवकों को पुलिस ने तीन दिन पहले गिरफ्तार किया गया था।

जमानत

जमानत पर रिहा हुए युवक

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन युवकों को इलाज के लिए अलीराजुपर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इन युवकों को एक पुलिस अधिकारी के साथ कथित मारपीट के बाद गिरफ्तार किया गया था।

युवकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 353 के तहत मामला दर्ज किया गया था। बाद में एक स्थानीय अदालत ने उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया था।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

गिरफ्तारी

पुलिस अधिकारी से झगड़े के बाद गिरफ्तार हुए थे आदिवासी युवक

पुलिस ने दावा कि आदिवासी युवकों का एक दूसरे युवक के साथ झगड़ा हुआ था, जिसने इनमें से एक की बहन के साथ छेड़छाड़ की थी।

जब ये आदिवासी युवक उस युवक का पीछा कर रहे थे तो उसने एक पुलिस अधिकारी से मदद मांगी।

जब पुलिस अधिकारी ने इन आदिवासी युवकों को रोककर उनसे पूछताछ की तो उन्होंने पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया।

इसके बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किया था।

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई- SP

SP विपुल श्रीवास्तव ने बताया कि युवकों के साथ मारपीट और उन्हें पेशाब पिलाने के आरोपों की जांच चल रही है। जल्द ही यह जांच पूरी की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पुराना मामला

उत्तर प्रदेश में भी सामने आया था ऐसा मामला

पुलिस पर बर्बरता करने के आरोप पहली बार सामने नहीं आये हैं।

जून में उत्तर प्रदेश में भी एक ऐसा मामला सामने आया था, जब रेलवे पुलिस के कर्मचारियों पर हिरासत में बंद एक पत्रकार के साथ मारपीट की और उसके मुंह पर पेशाब करने का आरोप लगा था।

दरअसल, पत्रकार अमित शर्मा शामली एक ट्रेन के पटरी से उतरने के मामले को कवर करने गये थे। इस दौरान रेलवे पुलिस जवानों ने उसके साथ गाली-गलौज और मारपीट की।

खबर शेयर करें

मध्य प्रदेश

उत्तर प्रदेश

खबर शेयर करें

अगली खबर