आजम खान की हिस्ट्रीशीट खोलने पुलिस

देश

12 Aug 2019

आजम खान के खिलाफ अब तक 72 मामले दर्ज, पुलिस कर रही हिस्ट्रीशीट खोलने पर विचार

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।

अकसर अपने बयानों के कारण चर्चा में रहने वाले आजम खान के खिलाफ इस साल अप्रैल से लेकर अब तक 72 मामले दर्ज हो चुके हैं।

कुछ दिन पहले रामपुर प्रशासन ने उन्हें भू-माफिया घोषित किया था। अब पुलिस उनकी हिस्ट्री शीट खोलने पर विचार कर रही है।

आइये, इस बारे में विस्तास से जानते हैं।

मुश्किलों में आजम

आजम के खिलाफ दर्ज हुए 72 मामले

रामपुर के जिलाधिकारी ने बताया कि आजम खान के खिलाफ दर्ज अधिकतर मामले आपराधिक हैं, जिसमें चोरी और जमीन पर कब्जा करने जैसे आरोप हैं।

इसलिए उनकी हिस्ट्री शीट खोलने का फैसला लिया गया है।

उन्होंने कहा कि 72 में से 15 मामलों में उनके खिलाफ चार्जशीट दायर हो चुकी है और बाकी मामलों में जांच जारी है।

सूत्रों ने बताया कि हिस्ट्री शीट खोलने के बाद पुलिस उनकी गतिविधियों पर नजर रख सकेगी।

क्या होती है हिस्ट्री शीट

हिस्ट्री शीट में एक अपराधी के अपराध का ब्यौरा रखा जाता है और इसे जिले के सभी पुलिस थानों में वितरित किया जाता है। इससे अपराधियों की पहचान में मदद मिलती है। इसके जरिए पुलिस अपराधी पर नजर रखती है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

मामला

गुरुवार को दर्ज हुआ था ताजा मामला

आजम खान के खिलाफ ताजा मामला गुरुवार को शत्रु संपत्ति का दायर हुआ था।

इसमें आजम खान समेत चार लोगों को आरोपी बताया गया था।

यह मुकदमा इस आरोप में दर्ज कराया गया है कि रामपुर के तत्कालीन एग्जीक्यूटिव ऑफिसर ने आजम खान और उनके जौहर विश्वविद्यालय ट्रस्ट को फायदा पहुंचाने के लिए दस्तावेजों में हेराफेरी कर गलत नोटिस जारी किया था।

नायब तहसीलदार की तरफ से यह मुकदमा दर्ज कराया गया था।

बेटे ने कही अदालत जाने की बात

समाजवादी पार्टी के विधायक और आजम खान के बेटे मोहम्मद अब्दुल्ला आजम खान ने कहा कि झूठी शिकायतों के आधार पर पुलिस ने उनके पिता के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। इसके खिलाफ वो अदालत जाएंगे।

भूमाफिया

भूमाफिया घोषित हो चुके हैं आजम खान

किसी जमाने में अपनी करीबी रहीं जया प्रदा को लोकसभा चुनाव हराने वाले आजम पर किसानों और नदियों की जमीन पर कब्जा करने का आरोप है।

जैसा हमने बताया अब तक उन पर 72 मामले दर्ज हैं। सरकार उन्हें भूमाफिया घोषित कर चुकी है और उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।

इससे पहले पुलिस ने जौहर विश्वविद्यालय में छापा मारकर चोरी की लगभग दो हजार बेशकीमती किताबें और पांडुलिपियां बरामद की थीं।

आजम इस यूनिवर्सिटी के चांसलर हैं।

विवादित बयान

संसद में विवादित टिप्पणी कर घिरे थे आजम खान

हाल ही में संपन्न हुए संसद के सत्र के दौरान आजम खान विवादित टिप्पणी कर मुश्किलों में घिरे थे।

उन्होंने सदन की अध्यक्षता कर रही सांसद रमा देवी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

इस पर संसद में जमकर हंगामा हुआ था। रमा देवी ने कहा कि वह लोकसभा स्पीकर से शिकायत कर उनकी सदस्यता खत्म करने की मांग करेंगी।

बाद में आजम खान ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी थी।

विवादित बयान

जयाप्रदा के लिए दिया था घटिया बयान

लोकसभा चुनावों से पहले आजम खान ने भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा पर निशाना साधते हुए मर्यादा की सीमा पार कर दी थी।

उन्होंने कहा, "जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिससे अपना प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है।"

हालांकि, उन्होंने अपने बयान में जयाप्रदा का नाम नहीं लिया था, लेकिन उनका इशारा उन्हीं की तरफ था।

खबर शेयर करें

समाजवादी पार्टी

आजम खान

अपराधियों

लोकसभा चुनाव

विवादित बयान

खबर शेयर करें

अगली खबर