अलीगढ़ में भगवद गीता पढ़ रहे शख्स की पिटाई

देश

06 Jul 2019

अलीगढ़ः गीता और रामायण पढ़ रहे शख्स की घर में घुसकर पिटाई, दो युवक गिरफ्तार

अलीगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को भगवद गीता का पाठ कर रहे एक शख्स की पिटाई के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि दिल्ली गेट पुलिस थाना क्षेत्र में रहने वाले दिलशेर खान अपने घर में भगवद गीता पढ़ रहे थे तभी मोहम्मद समीर (20) और जाकिर (21) नामक दो युवक उनके घर में घुस आए और उनके साथ मारपीट की।

आइये, जानते हैं कि मामले में आगे क्या हुआ।

मामला

गीता और रामायण पढ़ने का विरोध करते रहे हैं आरोपी युवक

दिल्ली गेट पुलिस थाने के SHO इंद्रेश पाल सिंह ने इंडियन एक्स्प्रेस को बताया कि शुक्रवार को समीर और जाकिर को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता दिलशेर ने बताया कि वह हर सुबह भगवद गीता और रामायण पढ़ते हैं और इन दोनों युवकों ने कई बार इसे लेकर विरोध किया है।

गुरुवार सुबह दोनों आरोपी युवक उनके घर में घुस आए और मारपीट शुरू कर दी।

आरोप

दिलशेर का आरोप- युवकों ने दी जान से मारने की धमकी

अलीगढ़ के महफूज नगर के निवासी 55 वर्षीय दिलशेर सिक्योरिटी गार्ड का काम करते हैं।

गुरुवार सुबह वह भगवद गीता का पाठ करने बैठे। आरोप है कि इसी दौरान समीर और जाकिर उनके घर में घुस आए और गाली-गलौज करते हुए उनके साथ मारपीट करने लगे।

इतना ही नहीं युवकों ने उनका हारमोनियम भी तोड़ दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपी युवकों ने उन्हें भगवद गीता और रामायण का पाठ करने पर जान से मारने की धमकी दी है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

गीता और रामायण पढ़ने पर दिलशेर ने कहा ये

दिलशेर, सन 1981 से गीता और रामायण का पाठ कर रहे हैं। इस पर उन्होंने कहा, "मैं एक मुस्लिम हूं, लेकिन मेरा धर्म अन्य समुदायों की पवित्र पुस्तकों को पढ़ने से प्रतिबंधित नहीं करता है।"

बयान

कई सालों से पढ़ रहे हैं गीता और रामायण

पुलिस ने बताया कि दिलशेर के परिवार वालों ने दोनों युवकों को मौके से भगाया। दिलशेर ने कहा कि दोनों युवक जाते-जाते गीता और रामायण को अपने साथ ले गए।

दिलशेर पिछले कई सालों से हिंदू धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन कर रहे हैं। उन्हें कई चौपाइयां याद हैं।

उन्होंने कहा कि वह 1979 से रामायण पढ़ रहे हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग उनकी इस आदत का विरोध करते हैं।

खबर शेयर करें

उत्तर प्रदेश

रामायण

अलीगढ़

खबर शेयर करें

अगली खबर