इस साल 10 विमान और हेलिकॉप्टर गंवा चुकी है वायुसेना

देश

12 Jun 2019

रुक नहीं रहे हादसे, इस साल 10 विमान और हेलिकॉप्टर गंवा चुकी है भारतीय वायुसेना

भारतीय वायुसेना इस साल पाकिस्तान में की गई एयरस्ट्राइक के अलावा अपने विमान हादसों के कारण भी चर्चा में है।

फरवरी में वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान स्थित आतंकी कैंपों पर बम बरसाए थे।

एक तरफ वायुसेना की इस बहादुरी की जय-जय हो रही थी, वहीं इसी महीने वायुसेना के छह विमान हादसे का शिकार हो गए।

वायुसेना विमानों के साथ हो रहे हादसों की चर्चा लापता विमान AN-32 का मलबा मिलने के बाद फिर से जोर पकड़ चुकी है।

लापता विमान

मंगलवार को मिला लापता विमान का मलबा

असम से मेचुका जा रहा भारतीय वायुसेना का AN-32 एयरक्राफ्ट 3 जून को लापता हो गया था।

एक सप्ताह से ज्यादा लंबे समय तक चले तलाशी अभियान के बाद 11 जून को इसका मलबा मिला।

यह खबर जून में लिखी गई है, जब इस साल को समाप्त होने में छह माह से ज्यादा का समय है और वायुसेना के 10 विमान और हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो चुके हैं।

ऐसे में इन हादसों को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं।

AN-32 में सवार थे 13 लोग

जिस AN-32 विमान का मलबा 11 जून को मिला, उसमें कुल 13 लोग सवार थे। इनमें से आठ क्रू मेंबर और पांच यात्री थे। अभी तक वायुसेना की तरफ से इनकी स्थिति के बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

मिग-27

मार्च में जोधपुर में क्रैश हुआ था मिग-27

मार्च की आखिरी तारीख को जोधुपर के पास वायुसेना का मिग-27 विमान हादसा का शिकार हुआ था।

विमान ने उत्तरलाई एयरबेस से उड़ान भरी थी और इंजन में खराबी की वजह से क्रैश हो गया।

गनीमत यह रही की क्रैश होने से पहले पायलट विमान से सुरक्षित निकलने में सफल रहा।

इसी महीने की 8 तारीख को राजस्थान में ही एक मिग-21 विमान क्रैश हुआ था। नाल के पास हुए इस हादसे में पायलट सुरक्षित बचने में कामयाब रहा।

फरवरी

फरवरी में सबसे ज्यादा विमान हादसे

फरवरी में जहां वायुसेना ने आतंकी कैंपों पर बम बरसाए, वहीं इसी महीने सबसे ज्यादा वायुसेना को सबसे ज्यादा हादसों का सामना करना पड़ा।

इस महीने हादसे वायुसेना के कुल 6 विमान हादसे के शिकार हुए। इनकी शुरुआत महीने की पहली तारीख से हुई।

बेंगलुरू में वायुसेना का मिराज 2000 क्रैश हुआ और इस इसमें सवार दोनों पायलटों की मौत हो गई।

हादसे में जान गंवाने वाले पायलटों के नाम स्कवॉड्रन लीडर सिद्धार्थ नेगी और स्क्वॉड्रन लीडर समीर अबरोल थे।

राजस्थान में हुआ एक और हादसा

इस हादसे के बाद 12 फरवरी को राजस्थान के जैसलमेर में एक और हादसा होता है। पोखरण रेंज में ट्रेनिंग उड़ान के दौरान मिग 27 लड़ाकू विमान क्रैश हो गया। पायलट समय रहते विमान से बाहर आने में कामयाब रहा।

सूर्यकिरण

एयरो इंडिया शो में टकराए दो सूर्य किरण विमान

फरवरी में बेंगलुरू में एयरो इंडिया शो का आयोजन किया गया। वायुसेना की करतब दिखाने में माहिर सूर्य किरण टीम के दो विमान अभ्यास के लिए उड़ान भर रहे थे।

येलहांका एयरपोर्ट पर रिहर्सल के दौरान ये विमान आपस में टकराकर क्रैश हो गए।

इस हादसे में दो पायलट सुरक्षित बच गए, लेकिन एक पायलट की जान चली गई। यह हादसा एयरो इंडिया शो शुरू होने से पहले हुआ था।

विमान हादसा

27 फरवरी को खोया एक हेलिकॉप्टर और एक विमान

बालाकोट एयरस्ट्राइक से अगले दिन 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना के दो महत्वूर्ण विमान और हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हुए।

भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमान का पीछा करते हुए विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान मिग 21 के साथ पाकिस्तानी सेना का शिकार हो गए।

पाकिस्तान ने मिग 21 को मार गिराया और सुरक्षित जमीन पर उतरे अभिनंदन वर्तमान को हिरासत में ले लिया। 60 घंटे की हिरासत के बाद उन्हें रिहा किया गया।

MI-17

भारत की ही मिसाइल का शिकार हुआ MI-17

27 फरवरी के दिन ही वायुसेना को MI-17 हेलिकॉप्टर खोना पड़ा। दरअसल, पाकिस्तान के साथ तनाव को देखते हुए एयर डिफेंस सिस्टम को अलर्ट पर रखा गया था।

जैसे ही राडार पर MI-17 हेलिकॉप्टर दिखा, भारत की ही तरफ से एक मिसाइस दागी गई, जिसका शिकार MI-17 हुआ।

इस हादसे में हेलिकॉप्टर सवार छह वायुसेना अधिकारियों और नागरिकों की जानें गईं।

इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ जांच जारी है।

जनवरी में क्रैश हुआ था जगुआर विमान

साल के पहले महीने में भारतीय वायुसेना का विमान जगुआर हादसे का शिकार हुआ था। उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही यह विमान उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में क्रैश हो गया। हादसे में पायलट सुरक्षित बच गया था।

खबर शेयर करें

भारत

पाकिस्तान

राजस्थान

उत्तर प्रदेश

बेंगलुरू

जोधपुर

जगुआर विमान

मिराज 2000

अभिनंदन वर्तमान

खबर शेयर करें

अगली खबर