यूपी में रेलवे पुलिस के जवानों ने पत्रकार को पीटा

देश

12 Jun 2019

उत्तर प्रदेश: रेलवे पुलिस के जवानों ने पत्रकार को पीटा, मुंह में पेशाब करने का आरोप

उत्तर प्रदेश से एक वीडियो सामने आया है जिसमें रेलवे पुलिस के कुछ जवानों को एक पत्रकार को पीटते हुए देखा जा सकता है।

घटना मंगलवार रात की है, जब पत्रकार अमित शर्मा शामली जिले में एक ट्रेन के पटरी से उतरने के मामले को कवर करने गया था।

इस दौरान रेलवे पुलिस जवानों ने उसके साथ गाली-गलौज और मारपीट की।

अमित ने पुलिसवालों पर उसे जेल में बंद करके मुंह में पेशाब करने का आरोप भी लगाया है।

मामला

मालगाड़ी के पटरी से उतरने पर मौके पर पहुंचा था पत्रकार

अमित टीवी चैनल न्यूज 24 के लिए एक स्ट्रिंगर के तौर पर काम करता है।

वह मंगलवार रात को शामली के धीमनपुरा में एक मालगाड़ी के पटरी से उतरने के मामले को कवर करने पहुंचा था।

लेकिन वहां मौजूद रेलवे पुलिस के जवानों को ये बात पसंद नहीं आई और उसे पकड़ कर पीटना और गाली-गलौज करना शुरू कर दिया।

इस दौरान वहां मौजूद किसी शख्स ने घटना का वीडियो बना लिया, जिसमें सारी घटना दर्ज है।

घटना का वीडियो हो रहा है वायरल

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

अमित का आरोप, जेल में बंद करके नंगा किया

अमित ने बताया, "वो सादे कपड़ों में थे। एक ने मेरे कैमरे को नीचे गिरा दिया। जब मैंने उसे उठाया तो उन्होंने मुझे पीटना और गाली देना शुरू कर दिया। मुझे जेल में बंद करके नंगा किया गया और उन्होंने मेरे मुंह में पेशाब किया।"

रिहाई

स्थानीय पत्रकारों के प्रयासों के बाद अमित रिहा

घटना की जानकारी मिलने के बाद कई पत्रकार पुलिस स्टेशन पहुंचे और अमित की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया।

उन्होंने पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों से भी संपर्क किया।

पत्रकारों के विरोध प्रदर्शन के बाद ही आज सुबह अमित की रिहाई संभव हो सकी।

वहीं, उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी वीडियो का संज्ञान लेते हुए एक रेलवे पुलिस SHO और एक सिपाही को निलंबित कर दिया है।

इन पुलिसवालों को किया गया निलंबित

यूपी पुलिस ने ट्वीट कर कहा, "हमारे पास एक वीडियो आया है जिसमें एक पत्रकार को पीटा गया और जेल में डाला दिया गया। यूपी DGP ओपी सिंह ने SHO जीआरपी शामली राकेश कुमार और सिपाही सुनील पवार को निलंबित करने का आदेश दिया है।"

चर्चा में

योगी पर ट्वीट के लिए पत्रकार को किया गया था गिरफ्तार

ये घटना ऐसे समय पर हुई है, जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर ट्वीट के लिए पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी का मामला विवादों में है।

प्रशांत ने योगी से शादी करने का दावा करने वाली महिला का वीडियो ट्वीट करते हुए मजाकिया अंदाज में लिखा था, "इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी।"

यूपी पुलिस ने ट्वीट का स्वयं संज्ञान लेते हुए उसे दिल्ली में उसके घर से उठा लिया।

सुप्रीम कोर्ट ने उसकी तत्काल रिहाई का आदेश दिया है।

अन्य मामला

हरियाणा में पुलिसवालों ने बेल्ट से की थी महिला की पिटाई

हाल ही में हरियाणा से भी एक ऐसा वीडियो सामने आया था, जिसमें देखा जा सकता है कि पुलिस आम आदमी के साथ कैसे पेश आती है।

फरीदाबाद के इस वीडियो में कुछ पुलिस अधिकारियों को साड़ी पहने खड़ी एक महिला की पार्क में बेल्ट से पिटाई करते हुए देखा जा सकता था।

लगभग 4 मिनट का वीडियो देखने में काफी भयावह था।

मामले में तीन अधिकारियों को बर्खास्त और दो हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया था।

खबर शेयर करें

हरियाणा

योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश

फरीदाबाद

उत्तर प्रदेश पुलिस

सोशल मीडिया

रेलवे पुलिस

खबर शेयर करें

अगली खबर