बेंगलुरू में कंपनी के मालिक ने दी आत्महत्या की धमकी

देश

11 Jun 2019

बेंगलुरू: 2,000 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के बाद कंपनी के मालिक ने दी आत्महत्या की धमकी

बेंगलुरू में एक कंपनी के मालिक ने पहले तो लोगों से 2,000 करोड़ रुपये का निवेश जुटाया और फिर आत्महत्या की धमकी दी।

आई मोनेटरी एडवाइजरी (IMA) नाम की वित्तीय कंपनी के मालिक मोहम्मद मंसूर खान ने ऑडियो जारी करते हुए कहा कि वह भ्रष्ट राजनेताओं और अधिकारियों को रिश्वत दे-दे कर थक गया है और अपना जीवन खत्म कर रहा है।

इस बीच सैकड़ों निवेशक शिवाजी नगर स्थित कंपनी के कार्यालय पर इकट्ठा हुए और प्रदर्शन किया।

पुलिस लगा रही खान का पता

पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं खान ने सचमुच आत्महत्या तो नहीं कर ली। खान के परिजनों और कंपनी के अन्य संस्थापकों और मालिकों से भी पूछताछ की जा रही है। इस बीच 10 जून को कंपनी का कार्यालय नहीं खुला।

मामला

ज्यादा रिटर्न का वादा करने जुटाया निवेश

2006 में शुरू हुई IMA ने 14-18 प्रतिशत प्रति महीने के रिटर्न का वादा करके निवेशकों से 2000 करोड़ रूपये इकट्ठा किए थे।

कंपनी ज्वेलरी, रीयल इस्टेट और शिक्षा सहित कई क्षेत्रों में काम करती थी। निवेशकों में ज्यादातर मुस्लिम समुदाय के लोग थे।

ऑडियो क्लिप सामने आने से एक दिन पहले ही खान के पार्टनर मोहम्मद खालिद अहमद ने उस पर 1.3 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

आरोप

कांग्रेस विधायक पर लगाया 400 करोड़ रुपये न लौटाने का आरोप

पुलिस कमिश्नर के नाम जारी इस ऑडियो क्लिप में खान ने शिवाजी नगर से कांग्रेस विधायक आर रोशन बेग पर भी आरोप लगाए हैं।

उसने दावा किया कि रोशन बेग ने उसके 400 करोड़ रुपये लौटाने से इनकार कर दिया है और उसकी जान को खतरा है।

क्लिप के व्हाट्सऐप पर वायरल होने के बाद सैकड़ों निवेशकों ने कंपनी के शोरूम पर हमला करने की कोशिश की।

अतिरिक्त पुलिस बल की सहायता से स्थिति पर नियंत्रण पाया गया।

बयान

बेग ने बताई विरोधियों की साजिश

बेग ने आरोपों पर कहा कि उसका कंपनी से कोई भी आर्थिक लेनदेन नहीं हुआ है और यह कांग्रेस में मौजूद उसके विरोधियों की साजिश है।

उन्होंने कहा, "मुझे क्लिप की सत्यता पर संदेह है क्योंकि पिछले 2 हफ्तों में ये ये दूसरी बार है जब मेरा नाम IMA के साथ जोड़ा गया है। 1 जून को एक व्हाट्सऐप मैसेज में कहा गया था कि मैं IMA के निवेशों की गारंटी लेता हूं। मैं जांच के लिए तैयार हूं।"

खबर शेयर करें

व्हाट्सऐप

कांग्रेस

निवेश

बेंगलुरू

रिश्वत

खबर शेयर करें

अगली खबर