श्रीनगर में बच्चे को खाना खिलाते जवान का वीडियो वायरल

देश

14 May 2019

पुलवामा हमले में बचे जवान ने कश्मीरी बच्चे को अपने हाथों से खिलाया खाना, वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें पुलवामा हमले में बाल-बाल बचा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) का एक जवान श्रीनगर में एक दिव्यांग बच्चे को खाना खिला रहा है।

यह सराहनीय कार्य करने वाले जवान हेड कांस्टेबल इकबाल सिंह हैं।

CRPF ने मंगलवार को घटना का वीडियो शेयर किया जिसके बाद ट्विटर पर उसके कार्य की जमकर सराहना हो रही है।

इस प्रंशनीय कार्य के लिए CRPF ने जवान को सम्मानित भी किया है।

वायरल वीडियो

अपने बच्चे की तरह खाना खिला रहे हैं इकबाल

जानकारी के अनुसार, इकबाल सोमवार को श्रीनगर के पुराने शहर के सफा कादल इलाके में तैनात थे जब उन्होंने एक हड़ताल के दौरान दिव्यांग बच्चे को उसके लंच बॉक्स से खाना खिलाया।

31 सेकंड के वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि इकबाल बच्चे को अपने हाथों से खाना खिला रहे हैं।

इसके बाद वह बच्चे का मुंह भी पोछते हैं और उसे पानी पिलाते हैं। उन्होंने बच्चे को दोपहर की चाय भी पिलाई।

जवान को किया गया सम्मानित

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

किसी कश्मीरी व्यक्ति ने बनाया वीडियो

घटना का वीडियो किसी कश्मीरी व्यक्ति ने बनाया है। CRPF ने अपने जवान के इस कार्य की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया और कहा कि मानवता सभी धर्मों की जननी है। उन्होंने वीरता और संवेदना को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया।

प्रतिक्रियाएं

महबूबा मुफ्ती ने भी तारीफ

राजनीतिक मोर्चे के लोगों ने भी इकबाल की जमकर तारीफ की।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और PDP प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, "कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों पर अक्सर एक ही तरीके से देखा जाता है। लेकिन सामान्यीकरण कई बार बहुत अनुचित हो सकता है। इस इंसान की दया और मानवता की भावना को सलाम।"

कुछ ट्विटर यूजर्स ने इसे भारत का सबसे बेहतरीन उदाहरण बताया।

ट्विटर पर जमकर हो रही प्रशंसा

पुलवामा आतंकी हमला

पुलवामा हमले में बाल-बाल बचे थे इकबाल

पुलवामा हमले में बाल-बाल बचे थे इकबाल

बता दें कि इकबाल CRPF की 49 बटालियन में ड्राइवर हैं और अभी श्रीनगर में तैनात हैं।

CRPF के जनसंपर्क अधिकारी संजय शर्मा ने बताया कि इकबाल 14 फरवरी के दिन पुलवामा में आतंकी हमले का शिकार हुए काफिले का हिस्सा थे।

वह हमले का शिकार बनी बस के बाद तीसरे नंबर की बस में थे।

शर्मा ने बताया कि उस दिन भी इकबाल ने अच्छा कार्य किया था और घायलों की मदद करने में वह सबसे आगे थे।

पुलवामा हमले में शहीद हुए थे 40 जवान

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने 14 फरवरी को श्रीनगर हाईवे पर CPRF के काफिले पर विस्फोटकों से लदी गाड़ी से हमला किया था। हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। जवाब में भारत ने 26 फरवरी को बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी।

खबर शेयर करें

ट्विटर

कश्मीर

CRPF

श्रीनगर

पुलवामा

सोशल मीडिया

महबूबा मुफ्ती

जैश-ए-मोहम्मद

खबर शेयर करें

अगली खबर