टिक-टॉक वीडियो बनाते समय गई युवक की जान

देश

15 Apr 2019

टिक-टॉक के लिए वीडियो बनाते समय युवक को लगी गोली, हुई मौत

दिल्ली के तीन युवकों को टिक-टोक पर वीडियो बनाना महंगा पड़ गया। वीडियो बनाते वक्त एक को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा तो दो को अब जेल की हवा खानी पड़ेगी।

दरअसल, ये युवक पिस्तौल लेकर टिक-टोक पर वीडियो बना रहे थे। इस दौरान पिस्तौल से गोली चल गई और एक युवक की जान चली गई। बाकी दो युवकों को पुलिस ने सबूत मिटाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

आइये, जानते हैं पूरा मामला क्या है।

घटना

वीडियो बनाते समय चली गोली

पुलिस ने बताया कि सलमान नामक युवक अपने दोस्तों सोहेल और आमिर के साथ इंडिया गेट पर घूमने गया था।

वापस घर लौटते समय सोहेल ने वीडियो बनाने के लिए देसी कट्टे को सलमान पर तान दिया। इस दौरान कट्टे से गोली चल गई जो सीधे सलमान की बायीं गाल पर लगी।

पुलिस ने बताया कि घटना के बाद दोनों दोस्त घबरा गये और सोहेल के रिश्तेदार के घर चले गए, जहां उन्होंने खून से सने कपड़े बदले।

गिरफ्तारी

दोनों दोस्त हुए गिरफ्तार

इसके बाद सोहेल और आमिर, सलमान को अस्पताल लेकर गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

सलमान को अस्पताल में छोड़ते ही दोनों फरार हो गए। इसके बाद अस्पताल ने पुलिस को मामले की जानकारी दी।

पुलिस ने हत्या और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

पुलिस ने बताया सोहेल को गोली चलाने और आमिर को हथियारों को ठिकाने लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

मामला

सुप्रीम कोर्ट में है टिक-टॉक का मामला

शॉर्ट वीडियो ऐप टिक-टॉक का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।

दरअसल, मद्रास हाई कोर्ट ने कहा था कि टिक-टॉक के ज़रिए अश्लीलता परोसी जा रही है, जिससे भारतीय संस्कृति को खतरा है। इसलिए केंद्र सरकार जल्द इस ऐप की डाउनलोडिंग पर बैन लगाए।

सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर इस आदेश पर रोक लगाने की मांग की गई है।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में जल्द सुनवाई करने से इनकार कर दिया है।

भारत में हैं 10.4 करोड़ टिक टॉक यूजर्स

टिक-टॉक एक चाइनीज सोशल मीडिया ऐप है, जिस पर स्पेशल इफेक्ट्स के साथ शॉर्ट वीडियो बनाकर पोस्ट किए जाते हैं। इस ऐप का इस्तेमाल करने वाले लोगों में गांवों और टियर-2 एवं टियर-3 शहरों की आबादी ज्यादा है।

खबर शेयर करें

दिल्ली

सोशल मीडिया

मद्रास हाई कोर्ट

खबर शेयर करें

अगली खबर