कंपनी के पास मिला 7.8 करोड़ लोगों का आधार डेटा

देश

14 Apr 2019

TDP का ऐप बना रही IT कंपनी ने चुराया 7.8 करोड़ लोगों का आधार डेटा

हैदराबाद में एक IT कंपनी के पास 7.8 करोड़ लोगों की आधार डेटा होने का मामला सामने आया है।

मामले में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) की शिकायत पर साइबराबाद पुलिस ने एक FIR दर्ज की है।

UIDAI ने अपने शिकायत में बताया है कि IT ग्रिड्स (भारत) कंपनी के पास तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के 7.8 करोड़ से ज्यादा लोगों का आधार डेटा है। दोनों राज्यों की कुल जनसंख्या 8.4 करोड़ है।

सेवा मित्र ऐप

TDP का 'सेवा मित्र' ऐप बना रही थी कंपनी

कंपनी इस डेटा का इस्तेमाल तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के 'सेवा मित्र' ऐप को बनाने के लिए कर रही थी।

TDP इलाके की एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी है और आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में उसकी सरकार भी है।

शिकायत के अनुसार, आधार कानून का उल्लंघन करते हुए ये डेटा एक रिमूवेवल स्टोरेज में रखा गया था।

जानकारों को आशंका है कि कंपनी को ये डेटा केंद्रीय या राज्यीय डेटा भंडार से गैर-कानूनी तरीके से प्राप्त हुए हैं।

TDP ने दी मामले पर सफाई

TDP ने भी मामले पर अपनी सफाई पेश की है। पार्टी का कहना है कि उनके पास आधार डेटा की पूर्ण जानकारियां नहीं हैं और उपलब्ध डेटा का इस्तेमाल केवल कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों की पुष्टि के लिए किया जा रहा था।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

पड़ताल

ठीक UIDAI की तरह है कंपनी का डेटाबेस

कंपनी से प्राप्त हार्ड डिस्क की पड़ताल के बाद पता चला कि कंपनी के पास 78,221,397 लोगों की आधार से संबंधित जानकारियां थीं।

जांच में यह भी सामने आया है कि कंपनी के पास मौजूद डेटाबेस की संरचना और आकार ठीक उसी तरह का था, जैसा UIDAI का होता है।

SIT से मिली सूचना के आधार पर UIDAI ने शुक्रवार को माधापुर पुलिस थाने में कंपनी पर आधार अधिनियम की कई धाराओं के उल्लंघन के लिए FIR दर्ज कराई थी।

UIDAI डिप्टी डायरेक्टर

'गैर-कानूनी कार्यों के लिए हो रहा था डेटा का इस्तेमाल'

UIDAI के डिप्टी डायरेक्टर टी. भवानी प्रसाद ने अपनी इस शिकायत में कहा है, "अब तक की जांच से यह सामने आया है कि सेवा मित्र ऐप संदेहास्पद रूप से वोटर प्रोफाइलिंग, टार्गेटेड कंपेनिंग और यहां तक कि मतदाताओं का मतदाता सूची से नाम हटाने के लिए आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के वोटरों की चुराई गई सूचनाओं तथा आधार डेटा का इस्तेमाल कर रहा था।"

उन्होंने कहा कि डेटा के व्यापक स्तर पर विश्लेषण करने की जरूरत है।

खबर शेयर करें

तेलंगाना

आंध्र प्रदेश

हैदराबाद

आधार कार्ड

UIDAI

चंद्रबाबू नायडू

तेलुगू देशम पार्टी (TDP)

खबर शेयर करें

अगली खबर