आतंकवाद के मोर्चे पर भारत को एक और कामयाबी

देश

03 Apr 2019

आतंकवाद पर भारत को एक और कामयाबी, UAE ने भारत के हवाले किया जैश आतंकी

भारत को आतंकवाद के मोर्चे पर एक और बड़ी कामयाबी मिली है।

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी निसार अहमद तांत्रे को भारत को सौंप दिया है।

तांत्रे दिसंबर 2017 में जम्मू-कश्मीर के लेथपोरा स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) कैंप पर हुए आतंकवादी हमले का मुख्य साजिशकर्ता है।

30-31 दिसंबर की रात को हुए इस हमले में 5 जवान शहीद हुए थे, जबकि जैश के 3 आतंकी भी मारे गए थे।

भारत-UAE संबंध

कई अपराधियों को भारत को सौंप चुका है UAE

तांत्रे के भारत प्रत्यर्पण पर मुहर लगने के बाद उसे विशेष विमान से रविवार को भारत वापस लाया गया।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) उससे पूछताछ कर रही है।

बता दें कि UAE पिछले कुछ वर्षों में कई ऐसे अपराधियों को भारत के हवाले कर चुका है, जो यहां वांछित हैं।

तांत्रे से पहले UAE सरकार ने इंडियन मुजाहिदीन के सदस्य अब्दुल वाहिद सिद्दिबापा और 1993 मुंबई धमाकों के आरोपी फारुक टकला को भी भारत के हवाले कर चुका है।

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे के आरोपियों को भी सौंपा

UAE ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल और इसमें दलाल रहे दीपक तलवार को भारत के हवाले करके भाजपा सरकार की एक बड़ी मदद की थी। इसके अलावा उसने आतंकवादी संगठन ISIS के कुछ समर्थकों को भी भारत को सौंप दिया था।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

जैश-ए-मोहम्मद

निसार का भाई भी था जैश का आतंकी

तांत्रे के खिलाफ हाल ही में NIA कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट निकाला था। इसी के आधार पर उसे UAE से भारत वापस लाया गया है।

वह दक्षिण कश्मीर में जैश के कमांडर रहे नूर तांत्रे का भाई है।

नूर कश्मीर में जैश के बड़े आतंकियों में शामिल था और घाटी में उसके पैर फिर से फैलने में उसका अहम योगदान था।

उसे दिसंबर 2017 में एक एनकाउंटर में मार गिराया गया था।

कश्मीर में आतंकवाद

फिर से जड़े फैलाने में कामयाब रहा है जैश

बता दें कि मौलाना मसूद अजहर का आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद 2004 के आसपास कश्मीर से खत्म हो गया था, लेकिन अब फिर से वहां अपनी जड़ें जमाने में कामयाब रहा है।

उसने पिछले कुछ सालों में भारतीय सुरक्षाबलों पर कई बड़े हमले किए हैं, जिनमें हाल ही में हुआ पुलवामा हमला भी शामिल था।

उसकी इन करतूतों का भरपूर जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को बालाकोट स्थित उसके सबसे बड़े कैंप पर एयर स्ट्राइक की थी।

खबर शेयर करें

भारत

संयुक्त अरब अमीरात (UAE)

पुलवामा

जैश-ए-मोहम्मद

मौलाना मसूद अजहर

खबर शेयर करें

अगली खबर