अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

देश
11 Feb 2019

वृंदावन में प्रधानमंत्री मोदी ने अक्षय पात्र के कार्यक्रम में स्कूली बच्चों को परोसा खाना

वृंदावन में प्रधानमंत्री मोदी ने बच्चों को परोसा खाना

उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मी का केंद्र बना हुआ है।

एक तरफ लखनऊ में प्रियंका गांधी और राहुल गांधी रोड शो कर रहे हैं, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यूपी के वृंदावन दौरे पर हैं।

यहां चंद्रोदय मंदिर में अक्षय पात्र फाउंडेशन के एक कार्यक्रम में उन्होंने वंचित वर्ग के स्कूली छात्रों को खाना परोसा।

इस दौरान उनके साथ राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक भी मौजूद थे।

प्रसंग

वृंदावन में प्रधानमंत्री मोदी ने बच्चों को परोसा खाना

प्रधानमंत्री ने बच्चों को परोसा खाना

प्रधानमंत्री मोदी

देर से पहुंचने के लिए बच्चों से मांगी माफी

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अक्षय पात्र फाउंडेशन की 300 करोड़वीं थाली की पट्टिका का अनावरण किया और आशीर्वाद स्वरूप स्कूल के बच्चों को खाना परोसा।

इस दौरान मोदी ने बच्चों से बातचीत भी की। कार्यक्रम में उनके साथ योगी और राम नाईक के अलावा बाहुबली फिल्म के निर्देशक एसएस राजमौली और चर्चित शेफ संजीव कुमार भी मौजूद थे।

मोदी कार्यक्रम में देरी से पहुंचे थे और इसके लिए उन्होंने बच्चों से माफी भी मांगी।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

बयान

'देश का बचपन मजबूत होना चाहिए'

कार्यक्रम में उन्होंने कहा, "लीलाधर बाल गोपाल की धरती से सभी का अभिनंदन करता हूं। अटलजी के कार्यकाल में 1,500 थाली से शुरू हुए अभियान की 3 अरबवीं थाली परोसने का सौभाग्य मुझे मिला है।"

उन्होंने कहा, "जैसे मकान की नींव का मजबूत होना आवश्यक है, उसी तरह देश के बचपन को मजबूत होना चाहिए। गर्भ से ही बच्चों की सेहत का ख्याल रखा जाना चाहिए। जिसका आहार-आचार संतुलित हो, ध्यान का रास्ता उसके दुखों को समाप्त कर देता है।"

बयान

'गाय हमारी संस्कृति का हिस्सा'

प्रधानमंत्री ने श्रीकृष्ण की धरती पर उनकी चहेती गायों पर भी बयान दिया।

उन्होंने गाय को भारतीय परंपरा और संस्कृति का हिस्सा बताया।

मोदी ने गाय को ग्रामीण अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण और मजबूत हिस्सा करार दिया।

गायों के लिए अपनी राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, "गायों की बेहतरी के लिए इसको 500 करोड़ रूपए का बजट दिया गया है। यह कदम डेयरी दुग्ध उद्योग को आगे बढ़ाएगा।"

अक्षय पात्र फाउंडेशन

क्या है अक्षय पात्र फाउंडेशन?

बता दें कि मिड-डे मील योजना के तहत अक्षय पात्र फाउंडेशन की शुरुआत जून 2000 में बेंगलुरु में हुई थी।

शुुरुआत में योजना में 5 सरकारी स्कूलों के लगभग 1,500 बच्चों को मुफ्त खाना उपलब्ध कराया गया था।

अब फाउंडेशन 12 राज्यों में 14,708 स्कूलों के साढ़े 17 लाख बच्चों को भोजन उपलब्ध कराता है।

इसका लक्ष्य 2025 तक देशभर में 50 लाख स्कूली बच्चों को मुफ्त खाना उपलब्ध कराने का है।

अगली खबर